BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, नवंबर 17, 2009

झांसी की रानी का ऐतिहासिक पत्र




लक्ष्मीबाई ने लॉर्ड डलहौज़ी को पत्र लिखा था
----------------------------


भारत में ब्रितानी शासन के ख़िलाफ़ हुए 1857 के विद्रोह में अहम भूमिका निभाने वाली झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की एक महत्वपूर्ण चिट्ठी लंदन में ब्रिटिश लाइब्रेरी के आर्काइव्स में मिली हैं.

झांसी की रानी ने 1857 के विद्रोह से कुछ ही देर पहले यह पत्र ईस्ट इंडिया कंपनी के गवर्नर जनरल लॉर्ड डलहौज़ी को लिखा था.

लंदन में आजकल विक्टोरिया एंड एल्बर्ट म्यूज़ियम की महाराजा प्रदर्शनी की रिसर्च क्यूरेटर दीपिका अहलावत ने इस पत्र के बारे में प्रकाश डाला है.

लॉर्ड डलहौज़ी को लिखा पत्र

दीपिका अहलावत का कहना है, " ये चिट्ठी उन दस्तावेज़ों का हिस्सा है जो बॉरिंग कलेशन के नाम से जाने जाते हैं. ये दस्तावेज़ एक ब्रितानी अधिकारी - लेविन बेंथम बॉरिंग के नाम से जाने जाते हैं जिन्होंने भारत के राजाओं-महाराजाओं के बारे में दस्तावेज़, तस्वीरें और अन्य चीज़े एकत्र की थीं."



झांसी की रानी के इस पत्र में उस रात का विवरण है जब उनके पति की मृत्यु हुई थी.

लक्ष्मीबाई ने पत्र में लिखा है कि डॉक्ट्रिन ऑफ़ लैप्स के डर से उनके पति ने विधिवत ढंग से पुत्र को गोद लिया था ताकि उसे झांसी का अगला राजा स्वीकार किया जाए लेकिन लॉर्ड डलहौज़ी ने इसे स्वीकार नहीं किया.

वर्ष 1857 में भारत में ब्रितानी शासन के ख़िलाफ़ भड़के विद्रोह में झांसी की रानी ने जंग के मैदान में ख़ुद अपने सैनिकों का नेतृत्व किया था और लड़ते-लड़ते मारी गईं थीं.

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज