BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, नवंबर 10, 2009

भरे सदन में पीटे गए अबू आजमी

( डॉ सुखपाल)-

राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के लोग अब तक जो सड़कों पर किया करते थे, सोमवार को वही उन्होंने सदन में किया। मनसे विधायकों ने मराठी के बजाय हिंदी में शपथ लेने पर समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक अबू आजमी को पीट डाला। खास बात यह रही कि हिंदी में शपथ लेने की वजह से मनसे के हाथों पिटे अबू आजमी के पहले जब कांग्रेस के एक विधायक ने हिंदी में और दूसरे ने अंग्रेजी में शपथ ली तब मनसे के विधायक खामोश बैठे रहे। माना जा रहा है कि मनसे नेताओं ने ऐसा जानबूझकर किया। उनका असली मकसद मराठी मानूस की राजनीति के बहाने उत्तर भारतीय विरोध और विशेष रूप से यूपी में असर रखने वाली सपा को निशाने पर लेना था। ध्यान रहे कि सपा और उसके नेता आजमी पहले भी मनसे के निशाने पर रहे हैं। जब मनसे विधायकों से अमीन पटेल और बाबा सिद्दिकी की शपथ के दौरान चुपचाप रहने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने यह तर्क दिया कि जब तक वे कुछ समझ पाते तब तक उनकी शपथ हो चुकी थी। मनसे विधायकों ने आजमी को निशाना बनाने के दौरान एक महिला विधायक मीनाक्षी पाटिल से भी बदसलूकी की। 12वीं विधानसभा के सत्र की ऐसी शुरुआत पर सदन को सख्त रुख अपनाना पड़ा। चार मनसे विधायकों को चार साल के लिए निलंबित किए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया। राज्य के मुख्यमंत्री अशोक चह्वाण ने मनसे विधायकों के इस कृत्य को गुंडागर्दी बताया और कार्रवाई का भरोसा भी दिलाया। सोमवार को महाराष्ट्र विधानसभा में विधायकों का शपथ ग्रहण चल रहा था। एक घंटा तक तो सब ठीक रहा, लेकिन करीब डेढ़ बजे जैसे ही सपा विधायक अबू आसिम आजमी ने जैसे ही हिंदी में शपथ लेनी शुरू की, पुणे से चुनकर आए मनसे विधायक रमेश बांजले ने आगे बढ़कर पहले तो उनके हाथ से माइक छीन लिया और फिर उनका कुर्ता खींच लिया। कार्यवाहक अध्यक्ष गणपतराव देशमुख ने किसी तरह आजमी को अपने बगल में खड़ा कर शपथ दिलवाई। आजमी ज्यों ही अध्यक्ष के पीछे से होते हुए नीचे उतरने लगे, मनसे विधायकों शिशिर शिंदे, वसंत गीते, राम कदम एवं रमेश बांजले ने आजमी पर थप्पड़ और घूंसे से हमला बोल दिया। अबू के साथ हो रही मारपीट को देख जब सभी दलों के मुस्लिम विधायक उन्हें बचाने आगे आए। आजमी ने इस घटना को राष्ट्रभाषा हिंदी का अपमान करार दिया। मनसे ने सपा प्रदेश अध्यक्ष आजमी को पहले ही हिंदी में शपथ लेने पर देख लेने की चेतावनी दे रखी थी। आजमी के साथ हुई इस घटना के बाद उनके समर्थकों ने मुंबई, भिवंडी एवं कल्याण में कई जगह विरोध प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री चह्वाण ने कहा कि इस गुंडागर्दी के लिए जरूरी हुआ तो मनसे प्रमुख राज ठाकरे पर भी कार्रवाई की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज