BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, नवंबर 10, 2009

राज ठाकरे को गिरफ्तार किया जाए


माकपा तथा हिंदी प्रदेश की विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने हिन्दी में शपथ लेने के कारण महाराष्ट्र में सपा विधायक अबू आसिम आजमी के साथ मनसे विधायकों के दु‌र्व्यवहार की कड़ी निन्दा करते हुए राज ठाकरे को गिरफ्तार किए जाने की मांग की है। उन्होंने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए आरोप लगाया कि वह भाषा के आधार पर देश को विभाजित करने का प्रयास कर रहे हैं। विभिन्न नेताओं ने महाराष्ट्र विधानसभा की घटना को राष्ट्र विरोधी और असंवैधानिक बताया और कहा कि अगर विभाजनकारी तत्वों पर अंकुश नहीं लगाया गया तो देश के विघटन की आशंका है। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने आजमी के साथ की गई अभद्रता की निंदा करते हुए कहा कि अबू आजमी ने हिन्दी मे शपथ लेकर न केवल राष्ट्रभाषा का बल्कि पूरे देश का सम्मान बढ़ाया है। मुलायम ने लखनऊ में संवाददाताओं से कहा, मैं अबू आजमी को बधाई और धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने हिन्दी में शपथ लेकर राष्ट्रभाषा का सम्मान बढ़ाया है। घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने पटना में कहा कि अगर विभाजनकारी तत्वों पर काबू के लिए तत्काल कदम नहीं उठाए गए तो देश का विघटन हो सकता है। उन्होंने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से कहा कि वह ऐसी हरकतों को रोकने के लिए सख्त कदम उठाएं। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने कहा कि हर किसी को अपनी पसंद की भाषा में शपथ लेने का अधिकार है। पार्टी नेता डी राजा ने कहा कि मनसे भाषा जैसे मुद्दों पर विभाजन करना चाहती है, जिसकी कड़े शब्दों में निन्दा की जानी चाहिए। उन्होंने इस मुद्दे पर कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की चुप्पी की भी आलोचना की। जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने घोर निंदा की और इसे राष्ट्रभाषा का अपमान बताया। यादव ने महाराष्ट्र विधानसभा की घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि विधानसभा के अंदर हुई यह घटना एक तरह से संविधान का ब्रेकडाउन है क्योंकि सरकार और सदस्य दोनों ही संविधान की शपथ लेते हैं। उन्होंने इसे राष्ट्रभाषा का अपमान और देश की एकता अखंडता के लिए खतरा बताया और कहा कि सभी दलों को इस घटना का विरोध करना चाहिए। सपा के महासचिव अमर सिंह ने कहा कि मनसे प्रमुख गुंडागर्दी के लिए मशहूर हैं। हम अपनी राष्ट्रभाषा का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकते। राजद की सहयोगी पार्टी लोजपा के प्रमुख रामविलास पासवान ने कहा, हिन्दी हमारी राष्ट्रभाषा है और राज ठाकरे तथा आजमी पर हमले के दोषियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज