BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

रविवार, नवंबर 15, 2009

..ताकि कोई उन्हें किन्नर कहकर न चिढ़ाए





सिरसा( डॉ सुखपाल)- अब डेरा सच्चा सौदा सिरसा ने किन्नर बच्चों की देखभाल और वेश्याओं को वेश्यावृत्ति की दलदल से निकालने का बीड़ा उठाया है।

किन्नरों की दशा सुधारने और उन्हे मुख्यधारा से जोड़ने की ऐतिहासिक मुहिम के तहत संत गुरमीत राम रहीम सिंह ने विशेष योजना का एलान किया है। इसके तहत डेरा सच्चा सौदा की ओर से किन्नर बच्चों के उत्थान के लिए अलग से स्कूल व हास्टल का निर्माण किया जाएगा। इसके बाद ही इस मौके पर उन्होंने आर्थिक तंगी के कारण मजबूरीवश वेश्वावृत्ति मे पड़ी लड़कियों के साथ विवाह करवाने के लिए सहमत हुए बहादुर लड़कों को भी विवाह के बाद पूरा सहयोग देने का वचन दिया। तीन-चार दिनों में ही सिरसा में 50 से ज्यादा युवाओं ने वेश्याओं से शादी करने की इच्छा जताई है।

उन्होंने कहा कि विभिन्न राज्यों में साध-संगत के 25 सदस्य, जिले के 15 सदस्य, ब्लाकों के सात प्रेमी व अन्य जिम्मेदार अपने आसपास देखें कि जहां भी कोई जन्म से बच्चा किन्नर पैदा हुआ है तो उसकी सूचना डेरा सच्चा सौदा में दी जाए ताकि इन बच्चों को मांगने की बजाय बढि़या परवरिश देकर और पढ़ा-लिखाकर इज्जत भरी जिंदगी जीने के काबिल बनाया जा सके।

उन्होंने कहा कि ऐसे बच्चों के लिए डेरा सच्चा सौदा, सत ब्रह्मचारी सेवादार व साध-संगत के सहयोग से ही अलग स्कूल व हास्टल बनाए जाएंगे ताकि कोई भी उन बच्चों का मजाक न उड़ा सके।

उन्होंने कहा कि वेश्याओं के उत्थान के लिए डेरा सच्चा सौदा द्वारा महायज्ञ शुरू हो चुका है। कई युवा इस अभियान से जुड़ रहे है। डेरा ने बरनावा में वेश्वावृत्ति को रोकने के लिए मुहिम चलाने के लिए कहा था, यहां सिरसा में तीन-चार दिनों में ही 50 से अधिक युवा भक्त-योद्धा इस मुहिम में शामिल हो गए है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज