BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, दिसंबर 15, 2009

दो मैडीकल स्टोरों पर छापामारी के दौरान भारी मात्रा में नशीली दवाईयों का जखीरा बरामद

डबवाली (सुखपाल)- उपमण्डलाधीश के आदेशानुसार तहसीलदार के नेतृत्व में ड्रग इन्सपैक्टर सिरसा द्वारा स्थानीय बठिण्डा चौंक पर स्थित दो मैडीकल स्टोरों पर छापामारी के दौरान भारी मात्रा में नशीली दवाईयों का जखीरा बरामद किया है। उपरोक्त मैडीकल स्टोर के संचालकों द्वारा नशीली दवाईयों को दुकान के पिछवाड़े जला कर खुर्द-बुर्द करने का प्रयास भी किया गया।प्राप्त जानकारी

अनुसार शहर में दिन प्रति दिन बढ़ रहे नशे के मद्देनज़र उपमण्डल अधिकारी (ना.) सुभाष गाबा के आदेशानुसार तहसीलदार राजेन्द्र के नेतृत्व में ड्रग इन्सपैक्टर अजनीश धानीवाला द्वारा डबवाली पुलिस टीम के साथ बठिण्डा चौंक पर स्थित अशोका मैडीकल स्टोर व गणपति मैडीकोज पर छापा मार कर भारी मात्रा में नशीली दवाईयों का जखीरा बरामद करने में सफलता हासिल की। जिसमें बायोरैक्स, लोमोटिल, मोमोटिल, पायोटिल, स्पाज्मा प्रॉक्सीवान के अलावा ओर भी नशे की दवाईयां मिली हैं। पत्रकारों द्वारा जब ड्रग इन्सपैक्टर अजनीश धानीवाल से गणपति मैडीकोज के बारे में पूछा गया कि उपरोक्त मैडीकोज तीसरी बार नाम बदल कर मैडीकोज चला रहा है तथा बार-बार इसे लाईसैंस इश्यू क्यों किया जाता है तो उन्होंने बताया कि यह मैडीकोज पहले नीरज मैडीकोज के नाम से चलता था तथा पिछले दिनों छापामारी दौरान नशीली दवाईयां बरामद होने पर इनका लाईसैंस रद्द कर दिया गया था, फिर इसके पिता देसराज के नाम लाईसैंस इश्यू करवाकर शुभम् मैडीकोज के नाम से नशीली दवाईयों का धन्धा शुरू कर दिया। तत्पश्चात दौबारा छापामारी के दौरान नशीली दवाईयां पकड़ी जाने पर लाईसैंस रद्द कर दिया गया। अब इसने अपनी पत्नी अनीता रानी के नाम से लाईसैंस इश्यू करवाकर गणपति मैडीकोज के नाम से मैडीकल चला रहा है तथा इन्होंने एक शपथपत्र भी लिखकर दिया कि अब नशीली दवाईयों का कारोबार नहीं करेगा। परन्तु परिणाम वही ढाक के तीन पात रहा। आज फिर छापामारी के दौरान भारी मात्रा में नशीली दवाऐं बरामद की गई। जब इन्हें अपने मैडीकोज पर छापे की भनक लगी तो इनके द्वारा अपनी दुकान के पिछवाड़े नशीली दवाईयों को जलाकर नष्ट करने का असफल प्रयास भी किया गया। उधर अशोका मैडीकल स्टोर पर भी नशीली दवाईयों को खुर्द - बुर्द करने का प्रयास किया गया। लेकिन पुलिस टीम ने मोका पर पहुंचकर प्रयास को विफल कर दिया। छापामार टीम में स्थानीय सिविल अस्पताल से हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. सन्जीव कम्बोज भी उपस्थित थे। ड्रग इन्सपैक्टर अजनीश धानीवाल ने बताया कि पकड़ी गई नशीली दवाईयों को सीलबन्द कर अपने कब्जे में ले लिया है तथा नशीली दवाईयों का कारोबार करने वाले मैडीकल स्टोरों के लाईसैंस रद्द करवाए जाऐंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज