Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: लोहड़ी का पर्व धूमधाम से मनाया गया।
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली (सुखपाल) स्थानीय एमएम पब्लिक स्कूल के प्रांगण में लोहड़ी का पर्व धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ ङ्क्षप्रसीपल श्रीमती डिम्...
डबवाली (सुखपाल) स्थानीय एमएम पब्लिक स्कूल के प्रांगण में लोहड़ी का पर्व धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ ङ्क्षप्रसीपल श्रीमती डिम्पल मिढा द्वारा अग्रि प्रज्ज्वलित करके की गई। उन्होंने उपस्थित बच्चों व स्कूल स्टॉफ को सर्व प्रथम लोहड़ी पर्व की बधाई दी तथा अपने सम्बोधन में कहा कि आज के दिन गोकुल गांव में विष्णु भगवान ने हिरण का रूप धारण करके लोहता नाम की राक्षसी का वध किया था। जोकि गोकुल गांव के बच्चों को उठाकर ले जाती थी। इस प्रकार गोकुल गांव को लोहता नाम की राक्षसी से छुटकारा मिलने की खुशी में गांव के लोगों ने पवित्र अग्रि के चारों ओर नाच गाकर त्यौहार मनाया जिससे इसकी नाम लोहड़ी पड़ा। इस दिन विष्णु भगवान की पूजा का भी बड़ा महत्त्व है। यह जानकारी देते हुए स्कूल के वाईस ङ्क्षप्रसीपल राजीव मिढा ने बताया कि इस अवसर पर बच्चों व स्कूल स्टॉफ द्वारा कविताऐं, गीत व भंगड़ा प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम के अन्त में सभी को मूंगफली, रेवड़ी व गज्जक वितरित की गई। उधर आज आर्य विद्या मन्दिर सीनियर सैकेण्डरी स्कूल के प्रांगण में लोहड़ी का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन विद्यालय के प्रधान श्री रामकिशन गुप्ता द्वारा किया गया। विद्यालय में प्रबन्धक कमेटी द्वारा जरूरतमंद 33 बच्चों को जॢसयां व 10 बच्चों को जूते वितरित किए गए। इस अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक प्रतियोगिताऐं भी करवाई गई। जिसमें लेखन प्रतियोगिता में विद्यालय की छात्रा रिम्पी ने प्रथम, प्रीति ने द्वितीय व केशव ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इस अवसर पर डॉ. भारत भूषण छाबड़ा, जगदीश चन्द्र शर्मा के अलावा स्वामी दयानन्द विद्यालय के बच्चे उपस्थित थे तथा मंच का संचालन श्रीमती अन्जू बांसल व श्रीमती स्नेह टक्कर ने बाखूबी निभाया। उधर चौटाला रोड स्थित डीएवी पब्लिक स्कूल में भी लोहड़ी का पर्व लोहड़ी जलाकर बड़े हर्षोल्लास से मनाया गया। इस अवसर पर बच्चों ने नृत्य करके समय बांधा। वहीं अध्यापकों ने भी अपनी प्रतिभा के जौहर दिखाए। स्कूल की प्रधानाचार्या श्रीमती सरिता गोयल ने विद्यालय के बच्चों को लोहड़ी की बधाई दी और साथ ही बच्चों को भू्रण हत्या का सख्त विरोध करते हुए लड़कियों का सम्मान करने की प्रेरणा दी। उधर गोपाल शिशु वाटिका में भी लोहड़ी का पर्व धूमधाम से मनाया गया। बच्चों में फैंसी ड्रैस प्रतियोगिता करवाई गई।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें