Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: हरियाणा के किसी भी सरकारी स्कूल में पंजाबी पढऩे वाले कम से कम दस विद्यार्थियों पर पंजाबी अध्यापक की नियुक्ति की जाएगी।--हुड्डा
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली 23 मार्च। हरियाणा के किसी भी सरकारी स्कूल में पंजाबी पढऩे वाले कम से कम दस विद्यार्थियों पर पंजाबी अध्यापक की नियुक्ति की जाएगी। यह ब...
डबवाली 23 मार्च। हरियाणा के किसी भी सरकारी स्कूल में पंजाबी पढऩे वाले कम से कम दस विद्यार्थियों पर पंजाबी अध्यापक की नियुक्ति की जाएगी। यह बात हरियाणा के मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आज डबवाली में पत्रकारों से कही। श्री हुड्डा डा. केवी सिंह के सुपुत्र श्री अमित सिहाग की शादी में शिरकत करने आए हुए थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पंजाबी भाषा को दूसरी भाषा का दर्जा दिया गया है इसलिए भाषा को प्रदेश में पूरा सम्मान दिया जाएगा। उन्होंने हरियाणा गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के गठन से संबंधित प्रश्र के जवाब में कहा कि कमीशन की रिपोर्ट का अध्ययन करने पश्चात ही सरकार द्वारा लोगों की भावनाओं के अनुरुप निर्णय लिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार प्रदेशवासियों को बेहतर स्वास्थ्य, चिकित्सा, शिक्षा व बिजली सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कृत संकल्प है। राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए चार मैडीकल कॉलेज की स्थापना की जा रही है। ये मैडीकल कॉलेज करनाल, खानपूर, फरीदाबाद व मेवात में बनाए जाएंगे। इसके अलावा राज्य के कई अस्पतालों को अपग्रेड भी किया जा रहा है और कई अस्पतालों में सुपर स्पैशलिटी की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। इतना ही नहीं, राज्य सरकार द्वारा स्वास्थय सेवाओं के बजट में रिकॉर्ड बढ़ौतरी की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पिछले दिनों प्रदेश में 500 से भी अधिक डॉक्टरों की भर्ती की गई है। डॉक्टरों की भर्ती की प्रक्रिया अभी भी जारी है। जरुरत के अनुसार सरकार द्वारा डॉक्टरों के सभी पदों को भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अपने हिस्से की राशि डबवाली अग्रि कांड से पीडि़त व्यक्तियों को शीघ्र वितरित कर दी जाएगी। उन्होंने सिरसा के ट्रामा सैंटर में न्यूरो सर्जन की नियुक्ति के मामले में कहा कि जब भी सरकार को न्यूरों सर्जन उपलब्ध होगा तभी ट्रामा सैंटर में नियुक्ति कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगों को भविष्य में पर्याप्त मात्रा में बिजली उपलब्ध करवाने के लिए सभी प्रकार के ढांचागत व्यवस्था तैयार की गई है। प्रदेश में कई जगह थर्मलों के निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। ये कार्य पूरा होने के पश्चात लोगों को 20 से 22 घंटे बिजली उपलब्ध करवाई जाएगी। पिछले दिनो भी प्रदेश में बिजली की कमी होने के कारण आठ से साढ़े आठ रुपए प्रति यूनिट की दर से दूसरे प्रदेशों से महंगी बिजली खरीद कर प्रदेश के लोगों को उपलब्ध करवाई गई। आगे भी कृषि के लिए बिजली की कमी नहीं रहने दी जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आगामी एक अप्रैल से शुरु होने वाली गेहूं खरीद के सरकार व प्रशासन द्वारा सभी पुख्ता प्रबंध कर लिए गए है और प्रदेश की मंडियों में गेहूं उठान व खरीद से संबंधित किसी प्रकार की समस्या नहीं आने दी जाएगी। किसानों के उत्पाद का मूल्य भी निश्चित समयावधि में किया जाना सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने गत दिनों विधानसभा में पेश हुए बजट के बारे में कहा कि प्रदेश का विकासकारी बजट है और बजट में सभी वर्गों के कल्याण का ध्यान रखा गया है। बजट सत्र में विपक्ष की भूमिका से संबंधित पूछे गए प्रश्र के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष ने इस बजट सत्र में कोई भी रचनात्मक सुझाव नहीं दिया। विपक्ष का पूरे बजट सत्र के दौरान गैर जिम्मेदराना रवैया रहा। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि विधानसभा में विपक्ष के नेता के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव एक मामले में नहीं बल्कि तीन अलग-अलग मामलों में लाया गया।
उन्होंने पंचायत चुनाव से संबंधित एक प्रश्र के उत्तर में कहा कि प्रदेश में पहले पंचायतों के और फिर नगरपरिषदों और नगर निकायों के चुनाव करवाए जाएंगे। इन चुनाव के लिए मतदाता सूचियां तैयार करने की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। इस अवसर पर पूर्व मंत्री श्री संपत्त सिंह, पूर्व मंत्री जगदीश नेहरा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष होशियारी लाल शर्मा, मनीराम केहरवाला, पूर्व सांसद डा. सुशील कुमार इंदौरा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें