Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: पुलिस कार्यवाही में हुई अनावश्यक देरी से मृतक के परिजन ने पोस्टमार्टम करवाने से किया इंकार
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली- गांव आसा खेड़ा के पास हुई युवक की हत्या में पुलिस कार्यवाही में हुई अनावश्यक देरी और पूरी रात शव को सिविल अस्पताल में रख कर सुबह पोस...
डबवाली- गांव आसा खेड़ा के पास हुई युवक की हत्या में पुलिस कार्यवाही में हुई अनावश्यक देरी और पूरी रात शव को सिविल अस्पताल में रख कर सुबह पोस्ट मार्टम के लिए सिरसा जाने के फरमान से मृतक के परिजन भड़क गये और उन्होंने मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाने से इंकार कर दिया। पुलिस के साथ काफी देर तक तकरार चलती रही बाद में मान मनोव्वल से परिजन पोस्टमार्टम के लिये राजी हुए।
मंगलवार को गांव जड़वाला के 17 वर्षीय युवक प्रहलाद राय की उसके गांव के एक लड़के विष्णु ने पुरानी रंजिश के कारण चलती बस से धक्का मार उसकी हत्या कर दी थी। मृतक प्रहलाद राय के पिता सत्य नारायाण, चाचा रमेश्वर दशरत तथा गांव के नंबरदार विष्णुदत्त तेजा राम मोहर लाल व संजय ने आरोप लगाया है कि हादसे के बाद चौटाला पुलिस चौकी को सूचना दिये जाने बावजूद 6 घंटे तक पुलिस के न पहुंचने के कारण शव बीच सड़क पर पड़ा रहा। सायं करीब 6 बजे पुलिस कार्यवाही के बाद शव को डबवाली के सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए लाया गया। लेकिन देरी होने के कारण शव का पोस्टमार्टम नहीं हो पाया। उन्होंने बताया कि पूरी रात सिविल अस्पताल में गुजारने के बाद सुबह उन्होंने सदर थाना में फोन कर पुलिस को कार्यवाही जल्दी करने की गुजारिश की। उन्होंने बताया कि सदर थाना प्रभारी व उपनिरीक्षक रतन सिंह साढ़े नो बजे अस्पताल परिसर में पहुंचे, वहीं दूसरी ओर अस्पताल प्रशासन ने उन्हें सफाई कर्मचारी न होने के कारण पोस्टमार्टम के लिए शव को सिरसा सिविल अस्पताल में ले जाने का फरमान सुना दिया। जिससे मृतक के परिजन भड़क गये उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस व अस्पताल के चिकित्सक उन्हें दुख में सांत्वना देने की बजाय उनके जख्मों पर नमक छिड़के का कार्य कर रहे है। नंबरदार विष्णुदत्त ने आरोप लगाया कि पहले 6 घंटे तक उनके प्रिय का शव लावारिसों की तरह सड़क पर पड़ा रहा। उसके बाद उन्होंने पूरी रात रोते बिलखते किसी तरह से गुजारी बाद में उन्हें शव को सिरसा ले जाने का फरमान सुना दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस और अस्पताल प्रशासन की कार्यवाही नाकाबिले बर्दाश्त है। इस बात को लेकर पुलिस व मृतक के परिजनों में काफी देर तक तकरार होती रही और मृतक के परिजन शव का बिना पोस्ट मार्टम करवाये ही दाह संस्कार करने पर अड़ गये। काफी देर तक समझाने के बाद वे शव का पोस्टमार्टम करवाने पर राजी हुए। इस संदर्भ में संपर्क करने पर सिविल अस्पताल के एसएमओ डा. विनोद महीपाल ने बताया कि सिविल अस्पताल के सफाई कर्मचारी राम कृष्ण के देहांत के कारण यह पद रिक्त हो गया है चौटाला के सफाई कर्मचारी कुलवंत सिंह को डेपोटेशन पर यहां लगाया गया है जो कि आज छुट्टी पर था। वहीं पुलिस ने देरी से पहुंचने पर सफाई देते हुए बताया कि चौटाला चौकी प्रभारी किसी आवश्यक कार्य से न्यायालय गये हुए थे वे वहां से सीधा घटनास्थल पर पहुंच गये थे।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें