BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

बुधवार, नवंबर 17, 2010

बिग बॉस और राखी का इंसाफ पर गिरी गाज, रात 11 से पहले नहीं दिखेंगे ये शो

नई दिल्ली- अश्लीलता परोस रहे रिएलिटी शो पर गाज गिरी है। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने दो कार्यक्रमों बिग बॉस और राखी का इंसाफ को रात 11 बजे से सुबह पांच बजे के बीच ही दिखाने के निर्देश दिए हैं। इसी बीच केंद्र सरकार ने माना है कि 14 टीवी चैनल ऐसे हैं जो नियमों का लगातार उल्लंघन कर रहे हैं। इन सभी चैनलों को एक बार से ज्यादा चेतावनी दी गई हैं। कलर्स और एमटीवी को तो चार-चार बार चेतावनी दी जा चुकी है। राखी का इंसाफ और बिग बॉस कई कारणों से चर्चा में चुके हैं। राखी का इंसाफ में राखी सावंत होस्ट की भूमिका में परिवार के झगड़े सुलझाती हैं, लेकिन इसमें उन्होंने कई बार अश्लील टिप्पणी की हैं। उनकी अश्लील भाषा की वजह से झांसी निवासी एक युवक ने अपनी जान दे दी थी। इसके अलावा बिग बॉस में भी जमकर अश्लीलता परोसी जा रही है और कलाकार कई मौकों पर अभद्र भाषा का प्रयोग करते देखे गए हैं। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने इन कार्यक्रमों के निर्माताओं को निर्देश दिए हैं कि वे कार्यक्रम के दौरान एक पट्टी भी चलाएं, जिस पर लिखा हो कि यह कार्यक्रम बच्चों के लिए उपयुक्त नहीं है। हाल ही में बिग बॉस के घर से बाहर हुए राहुल भट्ट ने इस निर्णय का स्वागत किया है। उन्होंने माना कि रिएलिटी शो में उग्र और उत्तेजक भाषा का प्रयोग किया जा रहा था। बिग बॉस-1 के विजेता राहुल रॉय ने भी केंद्र सरकार के निर्णय का स्वागत किया और कहा कि सरकार की चिंता वाजिब है। उन्होंने कहा कि बिग बॉस में लगातार और रोज ही अश्लील भाषा का प्रयोग किया जा रहा है। यह रिएलिटी शो का स्तर नहीं होता। मुंबई के वकील और बिग बॉस के प्रतियोगी रहे अब्बाल काजमी ने भी माना कि इन कार्यक्रमों से नई पीढ़ी पर गलत असर पड़ रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार के निर्णय को पूरी तरह उचित बताया।
14 चैनलों को नोटिस
मनोरंजन के छोटे पर्दे पर टीआरपी की होड़ में कई चैनल केंद्रीय प्रसारण मंत्रालय द्वारा तय मापदंड भूल जाते हैं। पिछले कुछ समय में सूचना और प्रसारण मंत्रालय में अश्लीलता और भद्दी टिप्पणियों की कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। सरकार ने लोकसभा में बताया कि जिन 14 चैनलों को एक बार से अधिक चेतावनी दी गई हैं उनमें बिंदास, चैनल वी, कलर्स, आईबीएन-7, इंडिया टीवी, एमटीवी, इमेजिन, न्यूज 24, सोनी, स्टार आनंदो, स्टार न्यूज, स्टार प्लस, टीवी 5 और वीएच-1 शामिल हैं।
मंत्रालय के नोटिस देने के बाद कलर्स ने चार अवसरों पर तीन दिन तक लगातार माफीनामा चलाया है। मंत्रालय को विभिन्न सीरियल, रिएलिटी शो, विज्ञापन आदि के संबंध में दर्शकों की शिकायतें मिलीं, जिनके बाद यह कार्रवाई की गई। जिन मनोरंजन के कार्यक्रमों के लिए नोटिस, चेतावनी या निर्देश दिए गए, उनमें दादागिरी, सन यार चिल मार, गेट जार्जियस 5, लॉंच पैड, बिग बॉस के दूसरे और तीसरे सीजन, आने को है, एमटीवी रोडीज, स्पलिट्सविला 2 और 3, बंदिनी, पति. पत्नी और वो, इस जंगल से मुझे बचाओ, एंटरटेनमेंट के लिए कुछ भी करेगा, सपना बाबुल का, सच का सामना और सेटरडे नाईट लाइव शामिल हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज