Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: नारी को अपनी शक्ति तथा अपने अंदर छुपी प्रतिभा को पहचाना होगा--डॉ. शमीम शर्मा
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली-महिला दिवस के उपलक्ष्य में भगवान श्री कृष्ण कालेज ऑफ ऐजूकेशन में सेमीनार आयोजित किया गया। इस मौके पर जननायक चौधरी देवी लाल विद्यापीठ ...
डबवाली-महिला दिवस के उपलक्ष्य में भगवान श्री कृष्ण कालेज ऑफ ऐजूकेशन में सेमीनार आयोजित किया गया। इस मौके पर जननायक चौधरी देवी लाल विद्यापीठ की कार्यकारी निर्देशिका तथा माता हरकी देवी डॉ. शमीम शर्मा मुख्यातिथि के तौर पर शामिल हुई जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता बी.एड. कालेज की प्राचार्या डा. पूनम गुप्ता ने की। इस मौके पर संबोधित करते हुए डा. शमीम शर्मा ने कहा कि नारी अब अबला नहीं है। नारी को अपनी शक्ति तथा अपने अंदर छुपी प्रतिभा को पहचाना होगा। उन्होंने कहा कि आज भ्रूण हत्या और दहेज प्रथा सबसे बड़ी समस्या है। उन्होंने कहा कि इन कुरीतियों को समाप्त करने के लिए महिलाओं को ही आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि विज्ञान की तरक्की के साथ कन्या भ्रूण हत्या जैस घिनौने अपराध के ग्राफ में चिंताजनक स्तर तक वृद्धि हो रही है। प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि आज के समाज में 6 माह से बच्ची से लेकर 70 साल की वृद्धा तक सुरक्षित नहीं है। महिलाओं को अपनी इज्जत और मर्यादा बनाये रखने के लिए स्वयं से सबल बनाना पड़ेगा और इसके लिए आवश्यक है महिला का शिक्षित और अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना। उन्होंने देश इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि देश के गौरवशाली इतिहास महाभारत में भी द्रोपदी को भरी सभा में अपमानित होना पड़ा। तत्कालीन भीष्म पितामह और धर्मराज भी नारी लुटती अस्मत पर मुंह छुपाये बैठे रहे। उन्होंने कहा कि 'रोशन करेगा बेटा तो बस एक ही कुल को, दो-दो कुलों की लाज होती है बेटियां, कोई नहीं है साथियों इक दूजे से कम, हीरा अगर है बेटे तो मोती है बेटियां।
इस मौके पर बी.एड की छात्रा भावना और पूजा ने भी अपने विचार रखे। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में भी आज इस उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें बार रूम ऐसोसिएशन के प्रधान एस के गर्ग और पूर्व प्रधान कुलवंत सिद्धू ने निशुल्क कानूनी सलाह के बारे में जानकारी दी और छात्राओं को उनके अधिकारों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस मौके पर प्राचार्य बलजिंद्र सिंह भंगू, एनसीसी अधिकारी जितेंद्र शर्मा, कार्यकारी प्राचार्य कुलवंत सिंह और विद्यालय के अध्यापक व अध्यापिकाऐं उपस्थित थी।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें