Young Flame Young Flame Author
Title: प्रेमी के घर नारियल लेकर पहुंचे प्रेमिका के परिजन
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली (यंग फ्लेम) पंजाब के लवली विश्वविद्यालय के प्रांगण में शुरु हुई रतिया के एक युवक व युवती की प्रेम कहानी फिल्मी प्रेम कहानियों को भी...
डबवाली (यंग फ्लेम) पंजाब के लवली विश्वविद्यालय के प्रांगण में शुरु हुई रतिया के एक युवक व युवती की प्रेम कहानी फिल्मी प्रेम कहानियों को भी धत्ता बताते हुए एक ऐसे मोड़ पर जा पंहुची जिसे देख हर कोई अचम्भित है। इस प्रेम कहानी के क्लाईमेक्स का सीन इस कदर दर्दभरा ओर रोमांचक हो गया की लड़की का पिता नारियल व रुपया लेकर सैकड़ों लोगों के साथ रतिया के माडल टाऊन स्थित लड़के के घर जा पंहुचा और सैकड़ों लोग बृहस्पतिवार शाम को लड़के के घर के सामने धरना देकर बैठ गए व धरना प्रात: तक जारी रहा। लड़की के परिवार के लोगों के गुस्से व भारी संख्या में लोगों को देखते हुए लड़का नवदीप, उसका पिता कृष्ण कुमार उर्फ लीला व चाचा दत्त भारती अपना घर छोड़कर भाग निकले।
जानकारी के अनुसार रतिया में भारती मेडिकल हॉल नाम की दुकान चलाने वाले कृष्ण कुमार का लड़का नवदीप पिछले कई वर्षों से लवली विश्वविद्यालय जालंधर में एम फार्मा कर रहा था। इसी विश्वविद्यालय में रतिया की एक लड़की बी फार्मा कर रही थी। दोनों के बीच प्रेम परवान चढा और जीवनभर साथ निभाने की कसमें भी खाई गई लेकिन इसी बीच लड़के के परिवार के लोगों ने लड़के नवदीप की शादी 12 मई को पातड़ा के एक अग्रवाल परिवार में तय कर दी। रतिया शहर भर में कार्ड भी बांट दिए गए व माडल टाऊन स्थित कोठी को भी बिजली की रोशनी से जगमगा दिया। लड़के की दगाबाजी से परेशान युवती ने अपने परिवार को विश्वास में लेकर लड़के की दगाबाजी के बारे में अग्रवाल सभा रतिया व अग्रवाल सभा पातड़ा को पत्र लिखकर सारी स्थिति से अवगत करवाते हुए बताया कि लड़के ने उसकी जिंदगी बर्बाद कर दी है और अब वह दूसरी जगह शादी करने जा रहा है। लड़की ने रतिया व पातड़ा की अग्रवाल सभा से अनुरोध किया कि उसकी शादी नवदीप से करवाई जाए। लड़की का पत्र मिलने के बाद अग्रवाल सभा पातड़ा के दखल से लड़की के परिजनों ने अपनी लड़की की शादी रतिया निवासी नवदीप से करने से इंकार कर दिया। इसके बाद बृहस्पतिवार 12 मई को रतिया की अग्रवाल धर्मशाला में अग्रवाल सभा रतिया, सर्व व्यापार मंडल व पंजाबी सभा से जुड़े दिग्गजों की एक बैठक हुई। शहर के सभी प्रबुद्ध नागरिकों ने लड़की की बात को सही ठहराते हुए लड़की पक्ष का इस मामले में साथ देने का निर्णय लिया व अग्रवाल धर्मशाला में मौजूद सैंकड़ों लोग लड़की के बाप के साथ नारियल व रुपया लेकर बृहस्पतिवार शाम को माडल टाऊन स्थित कृष्ण कुमार लीला के घर के बाहर पंहुच गए। देखते ही देखते यह बात पूरे रतिया शहर में फैल गई और हजारों की संख्या में लोग माडल टाऊन में कृष्ण कुमार लीला के घर के बाहर जमा हो गए। भारी संख्या में लोगों के अपने घर की ओर आने की भनक लगते ही कृष्ण कुमार लीला अपने लड़के नवदीप व छोटे भाई दत्त भारती के साथ घर से भाग निकला।
बृहस्पतिवार देर रात को पुलिस ने दोनों पक्षों के 4-4 लोगों को बैठाकर समझौता करवाने की कोशिश की लेकिन बात सिरे नहीं चढी। रातभर सैंकड़ों लोग लड़के नवदीप के घर के सामने धरना मारकर बैठे रहे। शुक्रवार को लड़के नवदीप के कुछ रिश्तेदारों की पहल पर रतिया के प्रबुद्ध लोगों ने एक बैठक करते हुए इस मामले को निपटाने के लिए शुक्रवार शाम 5 बजे अग्रवाल धर्मशाला रतिया में एक बैठक बुलाई है। इस निर्णय के बाद लड़के के घर के सामने बैठे लोगों ने धरना हटा दिया।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें