Young Flame Young Flame Author
Title: निष्पक्ष होकर चलाए कलम: चौटाला
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
सिरसा - पत्रकारा संघ की जिला इकाई द्वारा स्थानीय स्पार बैक्वंट में ‘ ङ्क्षहदी पत्रकारिता दिवस Ó के उपलक्ष्य विचार गोष्ठी का...
सिरसा-पत्रकारा संघ की जिला इकाई द्वारा स्थानीय स्पार बैक्वंट मेंङ्क्षहदी पत्रकारिता दिवसÓ के उपलक्ष्य विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्यातिथि के तौर इनैलो के राष्ट्रीय महासचिव एवं डबवाली के विधायक डा. अजय ङ्क्षसह चौटाला उपस्थित हुए, जबकि गोष्ठी की अध्यक्षता राज्य सभा सांसद रणबीर गंगवा ने की। विशिष्ट अतिथि भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेशाध्यक्ष रेणू शर्मा तथा ब्लाक कांग्रेस कमेटी के ध्यक्ष भूपेश मेहता थे। विचार गोष्ठी के मुख्य वक्ता के रूप में जयपुर दूरदर्शन के पूर्व निदेशक डा. नंद भारद्वाज उपस्थित हुए। गोष्ठी में आए हुए अतिथिगणों का हरियाणा पत्रकार संघ के प्रधान लाज पुष्प ने स्वागत किया। इस गोष्ठी को संबोधित करते हुए मुख्यातिथि डा. अजय ङ्क्षसह चौटाला ने कहा कि पत्रकारों, बुद्धिजीवियों तथा समाज के सभी जिम्मेवार हिस्सों को सामाजिक ढांचे को सुधारने के लिए काम करना चाहिए। ऐसा किए बिना समाज हित के कार्यों को प्रभावशाली ढंग से अंजाम देना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी एक हिस्से पर उंगली उठाने से देश के लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं हो सकता। इसके लिए बुद्धिजीवी और ङ्क्षचतनशील वर्ग को गहन मंथन करने की आवश्यता है। उन्होंने ङ्क्षहदी पत्रकारिता दिवस पर पत्रकारों को बधाई देने के साथ-साथ आह्वान किया कि वे स्वस्थ पत्रकारिता करते हुए समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करें। इस मौके पर कार्यक्रम अध्यक्ष एवं राज्य सभा सांसद रणबीर ङ्क्षसह गंगवा ने कहा कि पत्रकार समाज का चौथा और मजबूत स्तम्भ हैं, जिसे समाज का हर व्यक्ति इस आशा के साथ देखता है कि वे उनकी समस्याओं का समाधान करवा पाने में सक्षम है। इसलिए पत्रकारों को समाज के दबे-कुचले लोगों को अपनी लेखनी के माध्यम से न्याय दिलवाने के लिए कार्य करना अपनी प्राथमिकताओं में शामिल करना चाहिए। विचार गोष्ठी के मुख्य वक्ता डा. नंद भारद्वाज ने देश के स्वतंत्रता आंदोलन से लेकर वर्तमान तक के पत्रकारिता में आए परिवर्तनों की विस्तार पूर्वक चर्चा की। उन्होंने कहा कि आजादी लड़ाई के समय पत्रकारिता एक मिशन थी और उसका एक मात्र उद्देश्य देश के लोगों को गुलामी की जंजीरों से मुक्त करवाना था, लेकिन आजादी के बाद जैसे-जैसे परवेश बदला है, वैसे-वैसे पत्रकारिता का रूप भी बदला है। पत्रकारों को वर्तमान समय में सबसे अधिक इस बात पर ध्यान देना होगा कि जनता में उनके समाचारों की विश्वसनियता बरकरार रहे। गोष्ठी में भूपेश मेहता, रेणू शर्मा, ऋषि पाण्डेय हरभगवान चावला ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर हरियाणा पत्रकार संघ द्वारा पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए वरिष्ठ पत्रकार आर. के. भारद्वाज, डबवाली के वरिष्ठ पत्रकार फतेह ङ्क्षसह आजाद तथा महावीर सहारण, महेंद्र घणघस, ऐलनाबाद के वरिष्ठ पत्रकार जी.एन. भार्गव को सम्मानित किया गया। इसके अलावा पत्रकार संघ के सदस्यों को मुख्यातिथि डा. अजय ङ्क्षसह चौटाला ने स्मृति चिन्ह प्रदान किए। गोष्ठी का मंच संचालन भूपेंद्र पन्नीवालिया ने बखूबी किया। कार्यक्रम में पत्रकार संघ के पदाधिकारियों द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर उन्हें सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में हरियाणा पत्रकार संघ के उपाध्यक्ष सुभाष चौहान ने आए हुए अतिथियों, पत्रकारों गणमान्य लोगों का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर कमल शर्मा, दीपक बिश्रोई, संजीव शर्मा, महासचिव नकुल जसूजा अरुण बांसल, उपप्रधान प्रभु दयाल, वासुदेव मेहता, सचिव राधेश्याम सोनी, कोषाध्यक्ष संजय ङ्क्षसगला, प्रैस क्लब के प्रधान नंदकिशोर लढ़ा, प्रदीप सचदेवा, पंकज धींगड़ा, महावीर गोदारा, डा. अमर ङ्क्षसह ज्याणी, अमीर चावला, महावीर बागड़ी, डा. आर.एस. टाडा, रमेश मेहता, अशोक वर्मा, कृष्णा फोगाट सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें