BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शुक्रवार, जून 24, 2011

सर्कल स्तर पर निपटाए जाएंगे इंतकाल संंबधित मामले

डबवाली (यंग फ्लेम) जिला में गिरदावरी व इंतकाल के मामले निपटाने के लिए प्रत्येक सर्कल क्षेत्र में महीने में दो बार लोक अदालतों का आयोजन किया जाएगा। यह निर्देश उपायुक्त युद्धवीर सिंह ख्यालिया ने आज सभी राजस्व अधिकारियों को दिए और कहा कि लोक अदालतों के माध्यम से सभी राजस्व अधिकारी सुनिश्चित करें कि म्युटेशन और रजिस्ट्ररी से संबंधित मामले लंबित न रहे। उन्होंने कहा कि सभी सर्कल राजस्व अधिकारी लोक अदालतों में गिरदावरी और इंतकाल से संबंधित आने वाले मामलों का मौके पर ही निपटारा करेंगे। उन्होंने कहा कि लोक अदालतें बड़े-बड़े गांवों में आयोजित की जाएंगी जिनमें आसपास के क्षेत्र के एक-एक दर्जन गांवों के लोगों के गिरदावरी इंतकाल से संबंधित मामले निपटाए जाएंगे। उपायुक्त ने जिला के सभी राजस्व अधिकारियों तथा खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे संबंधित क्षेत्रों में बाढ़ बचाव कार्यों के पुख्ता प्रंबंधों को सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिन भी क्षेत्रों में घग्घर नदी में किसानों ने सिंचाई के लिए पाइप दबाई हुई है वे पाइप सिंचाई विभाग द्वारा किए गए डिजाइन के अनुसार ही दबी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पाइप के आसपास दीवार बनाया जाना आवश्यक है ताकि घग्घर में पानी आने पर ये पाइपें किसी प्रकार से लीकेज न हो। यदि कोई किसान विभाग द्वारा डिजाइन के अनुसार पाइप नहीं दबाते तो उनकी पाइपें उखड़वाकर बंद कर दें। इसके साथ-साथ उन्होंने उक्त अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके क्षेत्रों से संबंधित क्षेत्रों में सभी पाइप डिजाइन के अनुसार दबाई जानी चाहिए और बाढ़ बचाव के प्रंबंध भी पुख्ता हो। इस बारे में सभी राजस्व अधिकारी प्रमाण पत्र भी जारी करेंगे। उन्होंने बताया कि बाढ़ बचाव कार्यों में कोताही बरतने वाले संबंधित अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यावाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों से कहा कि जो भी गांवों पंचायती जमीन पर बसे हुए हैं या पंचायती भूमि पर रिहायशी मकान बने हुए हैं। राज्य सरकार के नियमानुसार ऐसी भूमि की कीमत वसूले जिससे राज्य सरकार के राजस्व में बढ़ौतरी भी होगी और इस प्रकार के मामले नियमित भी हो पाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज