BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शुक्रवार, जुलाई 22, 2011

रेलगाड़ी के नीचे आकर दो ने दी अपनी जान

डबवाली-कारोबार में घाटा पडऩे पर मानसिक रूप से परेशान एक युवक ने रेलगाड़ी के नीचे आकर अपनी जान दे दी।
मृतक की पहचान पंजाब क्षेत्र के निकटवर्ती गांव सिंघेवाला निवासी सुखराज सिंह 30 पुत्र पुर्ण सिंह के रूप में हुई है। प्राप्त जानकारी अनुसार आज प्रात: स्थानीय डबवाली जन सहारा सेवा संस्था के प्रधान आर.के. नीना को स्टेशन मास्टर महेश सारीन ने सूचना दी कि पंजाब क्षेत्र के डूमवाली रेलवे फाटक के समीप रेलवे लाईन के बीच एक युवक का कटा हुआ शव पड़ा है। सूचना पाकर संस्था के प्रधान आर.के. नीना व सदस्य कुलवंत सिंह, काला सिंह एम्बूलैंस सहित घटना स्थल पर पहुंचे और इस घटना की जानकारी रेलवे पुलिस चौकी बठिण्डा को दी। जब संस्था के प्रधान आर.के. नीना ने मृतक के शब के पास पड़े विस्टिंग कार्ड को देखा तो उस पर लिखे पते अनुसार सिंघेवाला निवासी बलवीर नामक व्यक्ति से बातचीत कर इस घटना की जानकारी दी तो उक्त युवक गांव के अन्य लोगों के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और बलवीर सिंह मृतक की पहचान अपने भाई सुखराज सिंह के रूप में की। मृतक के भाई बलवीर ङ्क्षसह ने बताया उसका भाई बागों के ठेके लिया करता था और इस बार उसने गांव कुत्तयावाली में जामुन के बाग का ठेका लिया हुआ था और पिछले दो दिन घर नहीं आया था। मृतक की पत्नि मनप्रीत कौर उर्फ सुनीता ने बताया कि उसकी छोटी बहन रेखा की 9 जुलाई को शादी थी और वह अपने भाई के गांव तरमाला गई हुई थी और उसका पति मृतक सुखराज भी उसके साथ गया था। वह शादी उपरांत 10 जुलाई को वापिस आ गया था। उसने बताया कि 2 दिन पहले उसके पति का फोन आया था कि उसको इस बार जामुन के ठेके में बहुत घाटा हुआ है और वह घर नहीं आएगा। जब इस घटना की जानकारी मृतक के पार्टनर बलदेव सिंह को लगी तो वह तुरंत बलवंत सिंह के सिंह के साथ घटना स्थल पर पहुंचा तो उन्होंने बताया कि मृतक वीरवार प्रात: अपने फीटर रेहडा में जामुन भरकर सब्जी मण्डी में बेचने आया था और बलवंत सिंह ने बताया कि उसका फीटर रेहडा नर सिंह कॉलोनी के समीप खड़ा है और वह उसे अपने सुसराल जाने के लिए कहकर आया था लेकिन वहां पर उस समय बवाल मच गया जब मृतक के पार्टनर बलदेव सिंह ने शव को देखने के उपरांत शव को सुखराज सिंह का नही होने की बात कही, जब मृतक के परिजन व गांववासी उसकी पहचान सुखराज सिंह के रूप में कर रहे थे। मौके पर पहुंची रेलवे पुलिस भी असमंजस्य की स्थिति में पड़ गई और शव का पंचनामा करने के उपरांत पोस्ट मार्टम के लिए बठिंडा ले गई।
समाचार लिखे जाने तक पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही थी।
उधर, रेलवे पुलिस बठिंडा को इसी रेलवे लाईन पर एक अन्य युवक का शव बरामद हुआ है। जिसकी अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई थी।
मृतक ने मरते समय हल्के गुलाबी रंग का कुर्ता पैजामा पहना हुआ था और चेहरे पर सफेद काली दाढी बड़ी हुई थी। मृतक के एक पांव में काली जूती व दूसरे पांव में नीले रंग की हवाई चप्पल पहनी हुई थी।
पुलिस द्वारा मृतक की तलाशी दौरान उसकी जेब में रखे काले रंग के पर्स में 190 रूपए की नकदी व नशे में प्रयोग होने वाली गोलियां मिली। रेलवे पुलिस के एएसआई जगदीश चन्द्र ने बताया कि शव की आवश्यक कार्यवाही उपरांत उसे शिनाख्त के लिए बठिंडा राजकीय अस्पताल के शव गृह में रखा गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज