BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

गुरुवार, जुलाई 07, 2011

पटरी से उतर रही है शहर की यातायात व्यवस्था

डबवाली(यंग फ्लेम)शहर की यातायात व्यवस्था सुधरने की बजाय पटरी से उतरती जा रही है। दुकानदार अपनी-अपनी दुकानों के आगे 10 से 15 फीट तक कब्जा जमाए हुए हैं जिस कारण चौड़ी-चौड़ी सड़कें भी संकरी लगने लगी हैं। लगभग शहर के सभी बाजारों में हर समय जाम की स्थिति बनी रहती है। बाजारों को अतिक्रमण से मुक्त कराने के लिए समय-समय पर नगरपालिका व पुलिस द्वारा 'औपचारिकताÓ निभाई जाती है मगर दुकानदारों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि उन्हें किसी की परवाह नहीं है। शहर का सब्जी मंडी मार्ग 40 से 60 फीट तक चौड़ी हैं जहां से एक साथ चार गाडिय़ां निकल सकती है मगर अतिक्रमण की मेहरबानी से चौपहिया गाड़ी तो दूर, बाइक निकालने में भी पसीने आ जाते हैं। दुकानदार खुद तो सड़क पर सामान रखते ही है, साथ ही दुकानों के आगे सब्जी व फल बेचने वाली रेहडिय़ों को भी सड़क पर लगाने की छूट दे देते हैं जिससे समस्या विकराल हो रही है। हालांकि कुछ दुकानदार रेहड़ी वालों का विरोध करते हैं मगर उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। कुछ समय पहले नगरपालिका ने बाजारों से अतिक्रमण हटाने के लिए अभियान चलाया था। पुलिस भी अभियान में शामिल हुई थी मगर यह अभियान सफल होने से पहले ही दम तोड़ गया। नगरपालिका के अधिकारियों ने रेहड़ी वालों को तो डराया-धमकाया मगर दुकानदारों का जो सामान सड़क पर रखा हुआ था, उन्हें कुछ नहीं कहा। ऐसे में कार्यप्रणाली पर सवाल भी उठे। अब आलम यह है कि सभी बाजारों में दुकानदारों ने दुकान की बजाय सड़क पर सामान रखा हुआ है जिस कारण वाहन चालकों को खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है।
बेखबर है पुलिस
कॉलोनी रोड, बस स्टैंड रोड के अलावा अन्य बाजारों में यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए पीली लाइन लगाई गई थी। शुरूआत में उस पर अमल भी हुआ था मगर लंबे समय से पुलिस पीली लाइन का पालन कराने के प्रति उदासीन हो गई है। अब तो पीली लाइन का वजूद ही खत्म हो गया है। पुलिस बाजार में स्ििात फाटक पर खड़ी रहकर बाइक सवारों का तो चालान कर देती है मगर बाजारों में सड़क के बीच खड़े होने वाले वाहनों पर कार्रवाई करने का समय नहीं निकाल पाती। अच्छा यह रहेगा कि पुलिस बाइक चालकों का चालान करने में जो सक्रियता दिखाती है, वह बाजार में यातयात सुधारने में लगाए। पुलिस ने कुछ कॉलोनी रोड पर वन वे का नियम लागू किया था मगर वह भी पूरा नहीं हुआ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज