Young Flame Young Flame Author
Title: पैंशन की टैंशन बरकरार, धक्के खा रहे हैं पैंशन धारक
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
पैंशन की टैंशन कम होने का नाम नहीं ले रही है। नईं पैंशन के लिए आवेदन करना हो या फिर पुरानी पैंशन लेनी हो, लोगों को धक्के खाने पड़ रहे हैं। स...
पैंशन की टैंशन कम होने का नाम नहीं ले रही है। नईं पैंशन के लिए आवेदन करना हो या फिर पुरानी पैंशन लेनी हो, लोगों को धक्के खाने पड़ रहे हैं। सरकार जिस पैंशन को सम्मान पैंशन कहती है वह अपमान का सबब बन कर रह गई है। वीरवार को फिनो कंपनी की ओर से वार्ड 1 से 5 तक के पैंशनधारकों को बकाया पैंशन देने के लिए कम्युनिटी हाल में बुलाया गया था। इस बात की ठीक ढंग से सूचना नहीं दी गई थी, ऐसे में अन्य वार्डों के भी अनेक पैंशन धारक कम्युनिटी हाल में पहुंच गए। पता चलने पर उन्हें धक्के खाकर बिना पैंशन के वापिस लौटना पड़ा। इसके बाद जब फिनो कंपनी के कर्मचारियों ने बकाया पैंशन बांटने का काम शुरू किया तो यह काम भी व्यवस्थित दिखाई नहीं दिया। वार्ड 1 से 5 तक के भी अनेकों पैंशनधारकों की बकाया पैंशन के बारे में कर्मचारियों के पास जानकारी नहीं थी। किसी की चार माह की पैंशन बकाया थी उसे दो महीने की पैंशन दी गई। कर्मचारियों के पास ऐसी कोई सूची नहीं थी जिससे यह पता चल सके कि किस पैंशन धारक की कितने महीनों की पैंशन बकाया है। कुल मिलाकर पैंशनधारकों की सुनवाई करने वाला कोई नहीं था और सब कुछ फिनो कंपनी की मनमानी पर निर्भर था। ऐसे में बकाया पैंशन मिलने की उम्मीद लेकर पहुंचे अनेक बुजुर्ग व अपंग लोग घंटों तक धक्के खाने के बाद परेशान होकर वापिस लौटने को मजबूर थे। पैंशन धारकों को समझ नहीं आ रहा है कि सरकार पैंशन देने के नाम पर उन्हें इस प्रकार परेशान क्यों कर रही है।
कम्युनिटी हाल में अपनी बकाया पैंशन लेने के लिए पहुंची 75 वर्षीय बुजुर्ग सदावंती पत्नी स्व.हंस राज निवासी वार्ड 4 ने बताया कि वह 4-5 बार फोटो खिंचवा चुकी है मगर उसे न तो पैंशन कार्ड दिया जा रहा है और न ही पैंशन। सदावंती के मुताबिक उसके पति की मौत हो चुकी है। एक हादसे में बेटे पवन की टांग कट गई है और वह चल फिर तक नहीं सकता है। उसे पैसे ही सख्त जरूरत है मगर अब सरकार ने बिना किसी वजह के उसकी पैंशन रोक रखी है। सदावंती ने गुहार लगाई कि आखिर कोई तो उसकी सुनवाई करे और उसे पिछली बकाया पैंशन के साथ-साथ हर माह समय पर पैंशन देना सुनिश्चित करे। इसी प्रकार पैंशनधारक नरेश बागड़ी, मुख्तयार कौर, शाम लाल, जसवंत कौर, पवन कुमार बृजलाल व कई अन्य पैंशन धारकों ने भी अपनी व्यथाएं सुनाते हुए पैंशन नहीं मिलने के कारण हो रही परेशानियां बताई।

डबवाली- फिनो कंपनी के ब्लॉक कोर्डिनेटर मोदन सिंह ने बताया कि पहले उन्हें वार्ड 1 से 5 तक के 44 पैंशनधारकों की बकाया पैंशन देने की सूची उपलब्ध करवाई गई थी। यहां आकर अन्य पैंशनधारकों का पता चला तो कंपनी के उच्चाधिकारियों से बात की। इस पर अधिकारियों ने उपरोक्त वार्डों के सभी बकाया पैंशनधारकों की बकाया पैंशन देने के निर्देश दे दिए हैं। पैंशन धारकों के खाते में जितना बकाया राशि मशीन दर्शाती है, उतनी राशि पैंशन धारक को दे दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार अन्य वार्डों के पैंशनधारकों की बकाया पैंशन भी जल्द दे दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि वार्ड 1 से 10 तक के पैंशनधारकों के 80 पैंशन कार्ड उन्हें मिले है जोकि पैंशन धारकों को उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।
उन्होंने बताया कि पैंशनधारकों की सभी समस्याओं के समाधान के लिए डबवाली के बीडीपीओ ऑफिस में फिनो कंपनी ने एक केंद्र स्थापित कर दिया है। यहां प्रतिदिन कंपनी का एक कर्मचारी उपलब्ध रहेगा। जिन पैंशन धारकों को पैंशन कार्ड नहीं मिले हैं वे बीडीपीओ में ऑफिस में जाकर मौके पर अपना कार्ड बनवा सकते हैं। लोग अपना राशन कार्ड जरूर साथ लेकर जाएं। जिन पैंशनधारकों के अंगूठे के निशान मैच नहीं करते उनकी समस्या भी वहां तुंरत हल कर दी जाएगी।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें