Young Flame Young Flame Author
Title: कुत्तों ने बच्ची को नोच कर मार डाला,
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
रानियां (सिरसा),गाव बाहिया में रोंगटे खड़े कर देने वाली एक घटना में आवारा कुतों ने आठ वर्षीय मासूम बच्ची को नोच-नोच कर मार डाला। घटना के सम...



रानियां (सिरसा),गाव बाहिया में रोंगटे खड़े कर देने वाली एक घटना में आवारा कुतों ने आठ वर्षीय मासूम बच्ची को नोच-नोच कर मार डाला। घटना के समय मासूम बच्ची अकेली खेत में गेहू के दाने एकत्र कर रही थी। यह वाकया बृहस्पतिवार सुबह साढ़े सात और आठ बजे के बीच का है। मिली जानकारी के मुताबिक, गाव दमदमा निवासी नानक ¨सह का परिवार गाव बाहिया के किसान के पास मजदूरी का काम कर रहा है। सुबह सात बजे परिवार के सदस्य खेत में ही बने कमरे में बैठे थे। नानक ¨सह की 8 वर्षीय बेटी सीमा किसान कृष्ण कुमार के खेत गेहू की बालियां चुग रही थी।

इसी दौरान अचानक आधा दर्जन आवारा कुत्तों ने मासूम बच्ची पर हमला कर दिया और बच्ची को नोंच-नोंच खाने लगे। वहां से गुजर रहे दलीप सिंह नामक किसान ने बच्ची को कुत्तों के चंगुल से छुडवाने का प्रयास भी किया, लेकिन कुत्ते उस पर भी झपट पड़े। मासूम बच्ची की चीख पुकार सुनकर परिवार के लोग भाग कर बच्ची के पास पहुंचे, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। कुत्तों के हमले में बुरी तरह से घायल बच्ची ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

घटना की सूचना मिलते ही करीवाला पुलिस चौंकी के प्रभारी उप निरीक्षक प्रीतम ¨सह ने घटना स्थल का निरीक्षण किया और बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए सिरसा के सामान्य अस्पताल में भेज दिया।

सामान्य अस्पताल में पहुंचे दलीप सिंह ने बताया कि उसने कुत्तों पर पत्थर फेंके और लाठी चलाई, लेकिन उन्होंने बच्ची को नहीं छोड़ा। यही नहीं, कुछ कुत्ते उस पर भी झपट पड़े।
 Sirsa ,A 10-year-old girl was mauled to death by stray dogs at Bahiya village, near Rania, in Sirsa this morning.

Seema and her brother Luvpreet, children of a poor labourer, had gone to harvested fields to collect leftover grains of wheat when a herd of stray dogs attacked them.

While Luvpreet managed to escape, 15 dogs mauled Seema to death, eating away at her legs, arms, head and belly.

A farmer, Dalip, tried to save the poor girl but the dogs scared him away.

Farmers from nearby fields rushed with sticks and shooed away the dogs but Seema had died by that time.

“We work on farms to earn wages while our children collect grains left in fields to gather some food”, said the victim’s sobbing mother, Jagrup Kaur.

The incident has sparked resentment among villagers, who alleged the authorities had not done anything despite repeated complaints about the presence of stray dogs in the village.

प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें