BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, मई 21, 2013

मांगेआना का उप-उष्णकटिबंधीय फलों के उत्कृष्टता केन्द्र हरियाणा के विकास में मील का पत्थर साबित होगा --- भूपेन्द्र सिंह हुड्डा


डबवाली, 21 मई - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने आज कहा कि कम जमीन व कम पानी से कृषि की अधिक पैदावार लेने में ईजरायल विश्व में अग्रणी देश है। हरियाणा के 25-30 प्रगतिशील किसानों को साल में दो बार वहां की तकनीक का अध्ययन करने के लिए प्रशिक्षण पर भेजा जाएगा ताकि हमारे प्रगतिशील किसान वहां की नवीनतम तकनीक को अपनाकर और अधिक पैदावार लेकर अपनी आय में वृद्धि करें।
मुख्यमंत्री आज सिरसा जिला के गांव मांगेआना में इंडो-इजरायल समझौते के तहत 9.70 करोड़ रुपए की लागत से लगभग 72 एकड़ क्षेत्र में बनाए गए हरियाणा में उप-उष्णकटिबंधीय फलों के उत्कृष्टता केन्द्र का उद्घाटन करने उपरान्त उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इजरायल तथा हरियाणा की जलवायु व वातावरण की अन्य स्थितियां एक समान हैं। इजरायल हरियाणा से काफी छोटा होने के बावजूद अपनी कृषि तकनीक के बल पर पूरे विश्व में फलों व सब्जियों का निर्यात करता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में घरौंडा करनाल में स्थापित सब्जियों के उत्कृष्टता केन्द्र तथा आज स्थापित फलों का यह केन्द्र प्रगतिशील प्रदेश हरियाणा के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।
उन्होंने कहा कि इसके अलावा आम मधुमक्खी पालन और फूलों के तीन और केन्द्र स्थापित किए जा रहे हैं। फतेहाबाद जिला के भूना में अमरूद तथा पानीपत जिला के सिवाहखेड़ी में केले और पपीते के ऐसे केन्द्र भी स्थापित किए जा रहे हैं। साथ ही 14 अग्रिम प्रदर्शन केन्द्र विभिन्न जिलों में खोले जा रहे हैं ताकि इजरायल तकनीक अपनाकर किसान अपनी आय में वृद्धि कर सकें। श्री हुड्डा ने  इंडो-इजरायल समझौते के तहत देश में स्वीकृत की गई 14 केन्द्रों में हरियाणा के लिए दो परियोजनाएं प्रदान करने के लिए यूपीए अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी, प्रधानमंत्री डा मनमोहन सिंह व केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री शरद पंवार का आभार भी व्यक्त किया।
श्री हुड्डा  ने कहा कि स्व0 प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी की देश को 21वीं सदी में ले जाने की सोच सही मायने में साकार हो रही है और आज उनकी पुण्य तिथि पर इजरायल आधारित कृषि नवीनतम तकनीक के फलउत्कृष्टत केन्द्र का उद्घाटन सही मायने में उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने कहा कि श्री राजीव गांधी का मानना था कि सूचना प्रौद्यागिकी के बढ़ावा देने के साथ-साथ  किसानों को पैदावार बढ़ाने के लिए नवीनतम तकनीक की पहुंच उपलब्ध करवाना अत्यन्त जरूरी है। श्री हुड्डा ने कहा कि वे इजरायल के दौरे पर गए हंै और इजरायल का एक भाग, जहां पर मृदा बिल्कुल लवणीय है वहां दूसरी जगह से रेत लाकर किसान पैदावार कर रहे हैं। यह सब हमारे किसानों का देखना बहुत जरूरी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज भूमि की जोत छोटी होती जा रही है छोटी जोत को लाभकारी बनाने के लिए बागवानी को व्यापक स्तर पर बढ़ावा दिया जा रहा है। किसानों को गेंहू, धान फसल चक्र को छोड़कर अन्य लाभकारी फसलों की ओर रूझान करना होगा। उन्होंने कहा कि बागवानी आज एक महत्वपूर्ण विभाग हो गया है। इस विभाग में अधिकारियों व कर्मचारियों की कमी नहीं रहने दी जाएगी।     उन्होंने कहा कि बागवानी को बढ़ावा देने के लिए कई जिलों में फल एवं सब्जी मण्डियों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है। इसके अलावा गन्नौर में भी एक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का ट्रमिनल मार्केट स्थापित किया जा रहा है। जहां पर फलों व सब्जियों के निर्यात के लिए बुनियादी सुविधाएं विकसित की जाएंगी। खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को बढ़ावा दिया जा रहा है जिससे रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। उन्होंने कहा कि मांगेआना के इस केन्द्र में किसानों को कीन्नू के रोग रहित पौधे उपलब्ध करवाए जाएंगे। नींबू प्रजाति के फलों की नई किस्मों का भी किसानों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस केन्द्र में जैतून, अनार व खजूर की नई किस्में विकसित की जाएंगी।
समारोह को भारत में रह रहे इजरायल के राजदूत मिस्टर एलोन असपिज, मशाव के हैड व राजदूत श्री डेनियल कारमोन, सिरसा के सांसद डा अशोक तंवर, कृषि मंत्री स0 परमवीर सिंह, कृषि राज्य मंत्री श्री सुखबीर कटारिया, मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी मीडिया डा के वी सिंह ने भी सम्बोधित किया। भारत में इजरायल के राजदूत श्री एलोन अश्पिज ने अपने सम्बोधन में कहा कि जब वे हरियाणा के लोगों से बातचीत करते हैं तो लगता है कि वे अपने ही देश के लोगों से बात कर रहे हंै। उन्होंने कहा कि हरियाणा की तरह इजरायल के किसान मेंहनती व लगनशील हैं। उन्होंने इंडो-इजरायल परियोजना के लिए हरियाणा सरकार के सकारात्क सहयोग प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने इजरायल देश पर विश्वास किया है। कृषि क्षेत्र के साथ-साथ हरियाणा के साथ अन्य क्षेत्रों में भी सहयोग बढ़ाया जाएगा। श्री अश्पिज ने अपना कुछ सम्बोधन हिन्दी में देकर लोगों की वाहवाही लूटी।
सिरसा के सांसद डा अशोक तंवर ने कहा कि ऐसे उत्कृष्टता केन्द्र खुलने से इलाके के किसानों को फायदा पहुंचेगा। किसानों को मजबूत करना ही असली मायने में देश को मजबूत करना है। उन्होंने उम्मीद जताई कि इजरायल के सहयोग से शुरू किए गए फल उत्कृष्टता केन्द्र प्रदेश के अन्य जिलों में भी खुलेंगे। उन्होंने कहा कि दो वर्ष से यह परियोजना लम्बित थी आज मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने इसका उद्घाटन कर मांगेआना गावं की पहचान हरियाणा में नहीं बल्कि पूरे विश्व में की है। इस केन्द्र के खुलने के साथ ही हरियाणा में विकास के नए युग का सूत्रपात हुआ है।
श्री हुड्डा ने डा के वी सिंह की मांग पर मांगेआना ग्राम पंचायत जिसने इस केन्द्र के लिए 72 एकड़ जमीन उपलब्ध करवाई है, की गलियों के पक्का करने के लिए 50 लाख रुपए तथा पेयजल परियोजना के लिए एक करोड़ रुपए देने की घोषणा भी की।
डा0 सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रयासों व सहयोग से आज मांगेआना न केवल देश बल्कि विश्व के मानचित्र पर उभरा है। इस केन्द्र से हरियाणा के साथ-साथ पंजाब, राजस्थान के किसानों को भी फायदा होगा। उन्होंने कहा कि आज हरियाणा प्रति व्यक्ति निवेश, प्रति हैक्टेयर उत्पादकता दर, प्रति व्यक्ति दूध की उपलब्धतता के साथ कई अन्य क्षेत्रों में देश का अग्रणी राज्य है। उन्होंने कहा कि सिरसा जिला में बागवानी क्षेत्र को बड़े पैमाने पर किसान बढ़ावा दे रहे हैं। अब तक 17500 एक ड़ क्षेत्र बागों के अधीन हो गया है। सिंचाई के लिए 1190 सामुदायिक टैंक बनाए गए हैं।
मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा किसान आयोग की स्मारिका हरियाणा में बागवानी का विकास का विमोचन भी किया।
इस अवसर पर मुख्य संसदीय सचिव प्रहलाद सिंह गिलाखेड़ा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री
छत्तर सिंह, राजनीति सलाहकर प्रो0 वीरेन्द्र सिंह, पूर्व मंत्री रणजीत सिंह, पूर्व सांसद डा सुशील इंदौरा, आत्मा सिंह गिल, पूर्व विधायक श्री मनीराम केहरवाला, कृषि विभाग के प्रधान सचिव श्री रोशन लाल, हरियाणा किसान आयोग के अध्यक्ष डा आर एस परोधा,चौ0 चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार के कुलपति डा के एस खोखर, बागवानी विभाग के महानिदेशक डा सतबीर सिंह, जिला कांग्रेस प्रधान श्री मलकीत सिंह खोसा, पूर्व प्रधान श्री होशियारी लाल शर्मा, कांग्रेस नेत्री श्रीमती कृष्णा पूनिया सहित जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज