BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

गुरुवार, नवंबर 21, 2013

फांसी की सजा से तो लोग खुश, मगर पर्याप्त मदद नहीं मिलने के कारण लोगों में सरकार के खिलाफ नाराजगी

डबवाली
मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी करने वाले दोनों युवकों को फंासी की सजा सुनाए जाने के अदालत के फैंसले से तो लोग खुश हैं मगर पीडि़त परिवार को पर्याप्त मदद नहीं मिलने के कारण लोगों में सरकार के खिलाफ नाराजगी है। लोगों का कहना हैं कि परिवार के साथ इतनी बडी घटना होने के बाद सरकार ने मासूम बच्ची के परिजनों के आंसू तक ठीक ढंग से नहीं पोंछे।
सत्तगुरू कबीर सत्संग मंडल धानक समाज के संचालक व जिला विजीलेंस तथा मोनिटरिग कमेटी (एससी एंड एसटी एक्ट) सिरसा के सदस्य अमरनाथ बागड़ी एवं संत कबीर सोशल वैल्फेयर एसोसिएशन धानक समाज के सरप्रस्त शिवजी राम बागड़ी ने कहा है कि जब से मासूम बच्ची के साथ उक्त हादसा हुआ है तभी से पीडि़त परिवार के सदस्य घर पर बेरोजगारों की तरह बैठे हैं। मानसिक परेशानी की हालत में वे कोई काम नहीं कर पाते और ऐसे में उनके घरों में रोटियों तक के लाले पड़े हुए हैं। सरकार ने इस परिवार की पर्याप्त आर्थिक सहायता नहीं की। जो थोडा बहुत मिला उससे कहीं अधिक तो परिवार को खर्चा करना पड़ा। इसके अलावा परिवार व सर्व समाज के लोगों द्वारा की गई अन्य मांगों को भी सरकार ने पूरा नहीं किया। उस समय लोगों ने कबीर बस्ती क्षेत्र में मासूम बच्ची की स्मृति में एक पाठशाला बनाने की मांग की थी लेकिन लोगों की यह मांग आज तक पूरी नहीं हो पाई है।  उन्होंने बताया कि दरिंदों ने जिस गंदे पानी के जोहड़ में बच्ची को जिंदा फैंक दिया था उसे भी सरकार व प्रशासन के लोग बंद नहीं करवा रहे हैं। इसके अतिरिक्त दरिंदों का शिकार हुई बच्ची की बुआ की लड़की मासूम कोमल ने भी इस केस को सुलझाने में सरकार व पुलिस की सबसे बडी मदद की। उसी के कारण दरिंदे पकड़े गए और गवाही देकर इतनी जल्दी उन्हें फंासी के फंदे तक पहुंचाया। ऐसे में सरकार को इस बच्ची को सम्मानित करना चाहिए। उन्होंने यह भी मांग की कि पीडि़त परिवार को पर्याप्त आर्थिक मदद करने के साथ-साथ परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जानी चाहिए। अमरनाथ बागडी व शिवजी राम बागड़ी ने दरिंदों को फंासी के फंदे तक पहुंचाने के लिए पुलिस प्रशासन,  केस लडऩे वाले वकीलों, सर्व समाज के लोगों,
व शहरवासियों का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि इन सभी लोगों ने एक गरीब बच्ची को अपनी बेटी मानकर न्याय दिलाने के लिए अहम भूमिका निभाई।


कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज