BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, अक्तूबर 07, 2014

पीएम के अभियान से भी नहीं सुधरी दशा, शहर बना हुआ है डस्टबिन

 कूड़ा डालने के लिए नहीं कोई जगह तय, कहीं भी फेंक देते हैं प्रशासन ने नहीं दिखाई अभियान में जागरूकता 
डबवाली  
पीएम नरेंद्र मोदी के आह्वान पर केंद्र सरकार की आेर से 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर चले सफाई अभियान के प्रति उदासीनता से शहर गांवों में सफाई की अव्यवस्थाएं दूर नहीं हुई। शहर में जहां तहां गंदगी और कूड़े ढेर पड़े हैं वहीं गांवों की स्वच्छता कि जिम्मेवारी वाले खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय के अंदर बाहर गंदगी अटी पड़ी है।
शहर में सफाई की जिम्मेवारी वाले नगर परिषद जनस्वास्थ्य विभाग कार्यालय के पास भी कूड़े के ढेर हट नहीं पाए। इसके अलावा अनाज मंडी के आसपास भी सड़कों किनारे कूड़ा रेत के ढेर पड़े हैं। शहर के बाहरी क्षेत्र की कॉलोनियों में कोई सफाई करने कूड़ा उठाने वाला जाता ही नहीं है। जिससे लोगों ने अपने स्तर पर खाली प्लॉटों में कूड़े के ढेर लगाए हुए हैं। बाजार में भी अलसुबह सफाई किए जाने से दुकानदारों के आने के बाद फिर से कूड़ा गलियों में एकत्रित हो जाता है। दुकानदार राजू, लवली सिंह, हरजिंद्र सिंह, विनोद कुमार, अजय अन्य ने बताया कि बाजारों में नगर परिषद की ओर से कूड़ा स्थल तय नहीं होने और ही डस्टबिन उपलब्ध होने से दुकानदारों को भी सफाई करने के बावजूद परेशानी रहती है। स्वच्छता नहीं होने से शहरवासियों को दूषित वातावरण से परेशानी उठानी पड़ रही है। मौजूदा त्यौहारी सीजन के कारण दुकानदारों को परेशानी होती है।
53 हजार जनसंख्या के बावजूद

 सफाईकर्मी 70 हैं। नप ने डीसी के माध्यम से नई पॉलिसी के तहत 400 सफाई कर्मी नियुक्ति के लिए सरकार के पास प्रस्ताव भेजा है। दुकानदार परिवार डस्टबिन लगा कूड़ा बाहर रखें। ऋषिकेशचौधरी, नपसचिव

मोहल्ले में अधिकतर गलियां तोड़ रख हैं। कोई सफाई वाला भी नहीं आता। दिन में बाजार और शहर में निकलते हैं तो हर जगह कूड़ा गंदगी देख लचर व्यवस्था पर गुस्सा आता है। कर्मचारी अधिकारी सफाई के मामले मेें सचेत नहीं है।
अशोकसेतिया, काॅलोनीवासी
शहर में सफाई तो रिहायशी एरिया में हो रही है और ही बाजार में। दुकानों के आसपास तो हम खुद भी सफाई कर लेें लेकिन गलियों में पड़ा कूड़ा उठाने वाला नहीं आता। कॉलोनियों में भी हालात बुरे हैं और कोई सुनवाई करने वाला भी नहीं है।
योगराजसिंह, दुकानदार
गांवों में हम अपने स्तर पर सफाई करवाते हैं। बीडीपीओ कार्यालय में आते ही सबसे पहले गंदगी दिखती है। गेट के आगे कूड़े के ढेर और गंदगी को खुद अधिकारी ही नहीं हटवा सकते तो पंचायतें और ग्रामीण क्या करेंगी।
आत्मारामछिंपा, सरपंच,चौटाला
नहीं आते सफाईकर्मी
पत्थर के पीछे फेंक जाते हैं गंदगी
बीडीपीओ कार्यालय बना कूड़ा घर
सीवर जाम, मैनहोल के ढक्कन भी टूटे
खंड के 48 गांवों के विकास कार्य स्वच्छता सहित नई योजनाओं को क्रियान्वित करने वाले बीडीपीओ कार्यालय में सफाई नहीं होने से सरपंचों आगंतुकों के लिए परेशानी है। कार्यालय के मेन गेट के एकदम आगे कूड़े के ढेर लगे रहते हैं। कार्यालय के सीवरेज जाम हैं और मेनहॉल के ढक्कन टूटे पड़े हैं। बीडीपीओ एसईपीओ सहित यहां जिला मुख्यालय से भी अधिकारी आते रहते हैं। सफाई पर कोई गौर नहीं है। यहां शहरवासियों के लिए मतदान बूथ भी है।
कॉलोनी रोड रेलवे फाटक पर शहर की ओर आने वाली सड़क के चौराहे में बड़ा पत्थर पड़ा है। जिसकी आड़ में आसपास के दुकानदार कूड़ा डाल देते हैं। व्यवसायी तरसेम सिंह, अमरजीत, मुकेश कुमार ने बताया कि रेलवे माल लोडिंग ट्रैक बाउंड्री वाल के साथ दूर तक कूड़ा पड़ा है जिसे तो रेलवे विभाग के कर्मचारी उठाते हैं और ही नगर परिषद कर्मी। यहां गंदगी के ढेर होने से मेन बाजार तक लोगों को दुर्गंध के माहौल में रहना पड़ता है।
रेलवे फाटक चौराहे पर पड़े इस पत्थर के पीछे डाल देते हैं गंदगी।
डबवाली। बठिंडा रोड पर बीडीपीओ कार्यालय के बाहर जमा कूड़े के ढेर। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज