BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शनिवार, नवंबर 15, 2014

सामान रखने के लिए फुटपाथ पर मांगी ढाई फुट जगह


"जनसहयोग से जनसमस्याओं का समाधान, अभियान काे लेकर एसडीएम और दुकानदारों में अतिक्रमण हटाने पर चर्चा 

अतिक्रमणहटाओ अभियान काे लेकर शुक्रवार को एसडीएम और दुकानदारों की बैठक हुई। दुकानदारों ने एसडीएम से ढाई फुट फुटपाथ की मांग की। दुकानदारों ने कहा कि अगर इससे बाजार में परेशानी हुई तो वे खुद ही सामान दुकान में रख लेंगे। प्रशासन की ओर से केवल दाे फुट जगह ही दुकानदारों को सामान रखने के लिए दी गई है। वहीं दुकानदारों ने अभियान में सहयोग कर रहे समाजसेवियों पर भी टिप्पणी कर नया विवाद पैदा कर दिया। जिससे मामले पर पहले ही निंदा प्रस्ताव पास कर चुकी सभी संस्थाओं के प्रतिनिधियों में रोष पनप रहा है।
सुबह9 बजे की बैठक थी तय 10 बजे आए दुकानदार
सुबहसाढ़े 9 बजे नप कार्यालय में बैठक तय थी लेकिन प्रस्तावित सूची में दिए दुकानदार नहीं पहुंचे। जिससे पहले ही पहुंच चुके एसडीएम पौने 10 बजे वापस कार्यालय चले गए और नगर परिषद अधिकारियों को शहर में अतिक्रमण हटाने की आगामी प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए। इसके बाद 10 बजे दुकानदार नगर परिषद पहुंच गए जिससे एसडीएम फिर से नप कार्यालय पहुंचे और सभी दुकानदारों से बैठक की। उन्होंने कहा कि म्यूनिसिपल एक्ट के अनुसार बाजार में सख्ती से अतिक्रमण को समाप्त किया जा सकता है लेकिन हमने देश में मिसाल कायम करने के लिए अभियान चलाया है। इसलिए सभी अपने बेहतर सुझाव अौर जनसहयोग से जनसमस्याओं का समाधान करने की ओर बढ़े। उन्होंने कहा कि 99 प्रतिशत लोग इस मुहिम के पक्ष में तथा बाजार में जो भी हुआ वह ठीक नहीं था।
उसमें चाहे अपना काम छोड़कर अपील करने निकले लोगों गलतफहमी हो या उन दुकानदारों की सभी मेरे देशवासी हैं, इसलिए सभी की ओर से मैं क्षमायाचना करता हूं। इसके बाद बैठक में विवाद की कोई बात नहीं कर आगे क्या करना है, इस पर बात की जाएगी। उन्होंने कहा कि शहर को स्वच्छ बनाने का लक्ष्य प्रत्येक नागरिक का है, जिसे सफल बनाने में प्रशासन तैयार है और समाजसेवियों ने भी पहल कर दी है। जिन लोगों को नाराजगी है तो उसकी वजह बताते हुए वो सुझाव दें जिससे एक माह में शहर की सभी समस्याओं का निपटान कर आदर्श स्थापित करें। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य अग्निकांड की वर्षगांठ से पहले स्वच्छ, अतिक्रमण रहित, बाधा रहित ट्रेफिक बेहतर जनसुविधाओं वाला शहर बनाना है। यह तभी संभव होगा जब प्रत्येक नागरिक साथ देगा।
दुकानदारबोले, दिक्कत हुई तो अंदर रखेंगे सामान 
भाजपापदाधिकारी दुकानदार विजय वधवा के नेतृत्व में आए दुकानदारों सुरेंद्र बर्तन वाले, अवतार, विनोद नीलू, शंभू, राजकुमार मदान, एकओंकार नामधारी अन्य ने कहा कि उन्हें अभियान से दिक्कत नहीं है। ही उन्होंने विरोध किया था, बल्कि उनकी दुकानों पर सामान हटवाने एसडीएम तो हाथ जोड़कर आए और साथ वाले कुछ तथाकथित समाजसेवी एसडीएम की तरह रौब झाड़ने लगे थे। उन्होंने मांग रखी की मेन बाजार की दुकानों के आगे दो की बजाय ढाई फुट तक फुटपाथ बरामदों में सामान रखने की ट्रायलबेस पर अनुमति दी जाए और इसके बाद निरीक्षण किया जाएगा। यदि इतना करने से ही बाजार खुले हो जाएं और किसी को परेशानी नहीं रहे तो इसे कायम रहने दें नहीं तो पूरा सामान हटाने को दुकानदार खुद पहल करेंगे। इस पर दुकानदारों ने तय किया कि बाहर रखे सामान की उंचाई 3 फुट से अधिक नहीं होगी। साथ ही गांधी चौक, पुरानी अनाज मंडी सहित बाजार में लगने वाले चाट नमकीन की रेहड़ियों जनरेटरों को हटाए जाने की मांग रखी।
विरोध करने वाले दुकानदार ही बोले, चालान काटने से सुधरेंगे हम 
बाजारमें एसडीएम से तकरार करने वाले दुकानदार भाजपा कार्यकर्ता सुरेंद्र बर्तन वाले बैठक में बार बार बोलते रहे कि हाथ जोड़ने से दुकानदार मानने वाले नहीं। बाजार में जाओ, मूवी बनाओ और जिसका अतिक्रमण मिले उसका चालान काट दो तभी सुधार होगा लेकिन उनके इस सुझाव को एसडीएम बाकी दुकानदारों न रिजेक्ट कर दिया। एसडीएम ने कहा कि अभियान प्रत्येक सहयोग से सफल होते हैं नप कर्मी डंडा लेकर बाजार में खडे़ नहीं रह सकते। उन्होंने कहा कि शनिवार रविवार को शहर में मुनादी जारी रहेगी और सोमवार को निरीक्षण करते हुए कार्रवाई की जाएगी।

मुख्य बाजार में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान छेडते समय किसी भी दुकानदार को विश्वास में नहीं लिया गया। चंद तथाकथित समाजसेवियों ने मुख्य बाजार में आकर रौब झाड़ना शुरू कर दिया। जोकि बर्दाश्त नहीं होगा। आइंदा प्रशासन मुख्य बाजार में आए तो दुकानदारों को विश्वास में ले। भाजपा सरकार को बदनाम करने के लिये तथाकथित समाजसेवियों ने ड्रामा रचा था।
-विजय वधवा, जिला महामंत्री, भाजपा

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज