BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

गुरुवार, मार्च 12, 2015

तीन सालों में 589 लाख खर्च फिर भी साफ नहीं डबवाली,सफाई कर्मी नगर परिषद के दावों की निकाल रहे हवा


डबवाली। तीन राज्यों की त्रिवेणी कहे जाने वाले शहर डबवाली में चहुंओर गंदगी का आलम है। मुख्य बाजारों सहित राष्ट्रीय राजमार्गों के किनारे पर गंदगी से अछूते नहीं हैं। शहर को साफ रखने के नगर परिषद के तमाम दावे फेल साबित हो रहे हैं। भाजपा सरकार का स्वच्छ हरियाणा अभियान भी प्रभावी साबित नहीं हो सका है। शहर की स्थिति यह है कि नगर परिषद डस्टबिन से भी कूड़ा जुटाने में असफल साबित हो रही है। अगर सफाई शाखा के बजट की बात की जाए तो यह करोड़ों में बैठता है।
शहर में प्वाइंट निर्धारित करके नगर परिषद ने 35 से 40 डस्टबिन रखे हुए हैं। डस्टबिन से गंदगी एकत्रित करने के लिए एक रिफ्यूज कंपेक्टर है। इसके साथ-साथ शहर की गली-गली में जाकर कूड़ा एकत्रित करने के लिए नगर परिषद के पास पांच गाड़ियां हैं। इतने प्रबंध होने के बावजूद नगर परिषद शहर को साफ नहीं रख पा रही है।
बजट बढ़ा, लेकिन हालात अब तक नहीं सुधरे
सफाई शाखा के बजट पर नजर दौड़ाई जाए तो आंखे फटी की फटी रह जाती हैं। वर्ष 2012-13 में नगर परिषद डबवाली ने शहर की सफाई शाखा पर करीब 190 लाख रुपये खर्च किए। अगले वर्ष 2013-14 में बजट बढ़ गया। जो कि करीब 192 लाख रुपये हो गया। एक अप्रैल 2014 से 28 फरवरी 2015 तक के खर्च ने सभी पिछले रिकॉर्ड तोड़ दिए। इस दौरान सफाई शाखा पर नगर परिषद ने 207 लाख से अधिक की राशि खर्च की है।
प्रदेश के गठन को 25 वर्ष पूरे होने पर बनाए गया प्रदेश का एकमात्र सिल्वर जुबली चौक भी गंदगी से अटा रहता है। यहीं नहीं राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर नौ तथा 54 की स्थिति भी अच्छी नहीं है। शहर के मुख्य बाजारों में भी गंदगी का साम्राज्य कायम है। नवंबर 2014 में हरियाणा सरकार के सफाई अभियान का भी शहर में असर नहीं हुआ।
-राजकुमार, सफाई निरीक्षक, नगर परिषद, डबवाली

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज