BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

गुरुवार, मार्च 12, 2015

हरियाणा के खेतों में हार्वर्ड के वैज्ञानिक

शोध के लिए हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से आए फ्रांसिसी कृषि विशेषज्ञों ने खारियां में डाला डेरा

सिरसा। गांव खारियां के किसान कमलेश नैन के खेत में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से आए फ्रांसिसी कृषि वैज्ञानिकों ने फ्रेंच कंपनी एक्सीरियल के तत्वाशधान में जौ व अन्य फसल पर शोध पर चर्चा की। उन्होंने जौ की फसल की वैरायटी, उनकी देखभाल, पैदावार बढ़ाने आदि विषयों पर शोध करके किसानों को जागरूक किया।
इस मौके पर फ्रांसिसी कृषि वैज्ञानिक जोन रोजर्स, जीन फ्रैंक्सियस, सुधांशु जांगिड़, अरनॉल्ड ज्हॉनेट, जोशुआ बटलर ने किसानों से विचार विर्मश किया और उन्होंने किसानों को लोकल वैरायटी व उनके द्वारा लगाई गई जौ की फसल की वैरायटी, फसल की गिरने की समस्या उन्हें फर्टीलाइजर्स करना, बीमारियों की रोकथाम के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी उपलब्ध करवाई। उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी प्रदेश सरकार के साथ मिलकर हरियाणा, पंजाब, राजस्थान में फसलों पर शोध कर रही हैं और किसान विदेशी तकनीक अपनाकर उनका भरपूर फायदा उठा रहे हैं। कंपनी के अधिकारी सुधांशु जांगिड़ ने बताया कि उनकी कंपनी किसानों को जागरूक करने व कृषि के प्रति प्रोत्साहन देने के लिए नई नई तकनीकों की जानकारी उपलब्ध करवा रही हैं।
खारियां गांव के जागरूक किसान कमलेश नैन के खेतों में डेढ़ एकड़ में 50 से भी अधिक जो की वैरायटी लगाई हुई हैं। उन्होंने कहा कि वे भी कंपनी के तत्वावधान में जौ की फसल लगाए और कंपनी उनकी फसल को खरीदेगी। इस मौके पर गांव में एक सेमिनार भी किया गया और उन्होंने कृषि क्षेत्र के लिए आधुनिक पद्धतियों को वर्णित किया। उन्होंने युवाओं को विदेशी कृषि पद्धति आधुनिक यंत्रों की भी जानकारी दी। उन्होंने कहा ग्रामीण परिवेश में बहुत से युवा भविष्य में कृषि क्षेत्र में कार्य करेंगे। ऐसे में वे विभिन्न पद्धतियों की जानकारी टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से अच्छी पैदावार पा सकते हैं। इस मौके पर कृषि विज्ञान केंद्र के अधिकारी डॉ. जितेंद्र नैन सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।
फ्रांसिसी कृषि वैज्ञानिक जोन रोजर्स, जीन फ्रैंक्सियस, सुधांशु जांगिड़, अरनॉल्ड ज्हॉनेट, जोशुआ बटलर ने किसानों से की चर्चा
किसान कमलेश नैन के डेढ़ एकड़ खेतों में 50 से भी अधिक जौ की वैरायटी लगाई
देसी दम और विदेशी तकनीक अपनाकर किसान भरपूर फायदा उठा रहे हैं

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज