BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शनिवार, जुलाई 18, 2015

मानसून क्या होता है, नहीं बता पाए 10वीं के स्टूडेंट

बीईईओ ने अध्यापकों को फटकारा, उच्च अधिकारियों को भेजेंगे रिपोर्ट

#dabwalinews.com
डबवाली। बच्चों बताओ मानसून किसे कहते हैं? यह कैसे आता है? खंड मौलिक शिक्षा अधिकारी (बीईईओ) का सवाल सुनते ही गांव सकतखेड़ा स्थित राजकीय उच्च विद्यालय की 10वीं कक्षा में सन्नाटा पसर गया। बीईईओ ने सिलेबस से संबंधित प्रश्न पूछे, उसका भी जवाब देने में बच्चे नाकाम रहे। नौवीं तथा दसवीं में शिक्षा के गिरते स्तर के लिए बीईईओ ने अध्यापकों को फटकार लगाई। 6वीं से 8वीं तक कक्षाओं में उत्तर पुस्तिका से अध्ययन करते उन्होंने बच्चों को पकड़ा।
बीईईओ नरेश सिंगला 10वीं कक्षा में बच्चों का शैक्षणिक स्तर जांचने के लिए पहुंचे हैं। आते ही उन्होंने सवाल पूछना शुरू किया है। मानसून के संबंध में पूछे गए प्रश्न का उत्तर किसी विद्यार्थी के पास नहीं है। 9वीं कक्षा के बच्चे सिलेबस से संबंधित प्रश्न का उत्तर नहीं दे पाए। बीईईओ ने इसके लिए दोनों कक्षाओं के अध्यापकों को लताड़ लगाई। 8वीं कक्षा में अंग्रेजी की उत्तर पुस्तिका से अध्ययन करते हुए उन्होंने एक बच्चे को पकड़ लिया। जब अन्य बच्चों से पूछताछ हुई तो बच्चों ने झूठ बोलकर बीईईओ को बरगलाने की कोशिश की। स्कूल से नाम काटने के भय दिखाया तो पूरी क्लास उत्तर पुस्तिकाएं लेकर खड़ी हो गई। 7वीं कक्षा में भी कमोबश यही स्थिति मिली। एक बच्चे का बैग चैक करने पर उत्तर पुस्तिका मिली।
गांव सकताखेड़ा के राजकीय स्कूल के बच्चों का ज्ञान शून्य स्तर पर है। हरियाणा सरकार ने उत्तर पुस्तिकाओं पर बैन लगाया है। इसके बावजूद बच्चों के पास उत्तर पुस्तिकाएं मिलने से यह प्रतीत होता है कि अध्यापक स्कूल में आराम फरमाने के लिए आते हैं। निरीक्षण की पूरी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को प्रेषित की जाएगी। उच्च अधिकारी स्टॉफ सदस्यों के प्रति निर्णय लेंगे।
नरेश सिंगला, बीईईओ, डबवाली

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज