Young Flame Young Flame Author
Title: मैं हरियाणवी नहीं जानती, पति भोजपुरी नहीं समझता
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
शादी के 13 दिन बाद ही रिश्ता टूटने की कगार पर #dabwalinews.com सतनाली मंडी (महेंद्रगढ़)। शादी के कुछ दिन बाद ही पति और पत्नी के बीच यद...
शादी के 13 दिन बाद ही रिश्ता टूटने की कगार पर
#dabwalinews.com
सतनाली मंडी (महेंद्रगढ़)। शादी के कुछ दिन बाद ही पति और पत्नी के बीच यदि विवाद हो जाए तो लड़की पक्ष का आरोप होता है कि दहेज के लिए उत्पीड़न किया जा रहा था, लेकिन यहां कस्बे में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर पुलिस और पंचायत हैरान हो गई। दरअसल, शादी के 13 दिन बाद ही एक रिश्ता इसलिए टूटने की कगार पर पहुंच गया क्योंकि युवती हरियाणवी नहीं जानती, जबकि उसका पति और ससुराल में भोजपुरी नहीं समझते। युवती को घर में बना खाना भी पसंद नहीं है। यही वजह है कि वह पति के साथ रहना नहीं चाहती। बुधवार को यह मामला थाने पहुंच गया, जहां युवती ने पति के साथ रहने से इंकार कर दिया।
लोहारू रोड स्थित बाढड़ा टी- प्वाइंट के पास कुछ लोगों को एक युवती संदिग्ध हालत में घूमती मिली। पूछताछ करने पर उसने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इस पर युवती को लोग थाने ले गए। पुलिस ने युवती से पूछताछ की तो पता चला कि वह विवाहित है। पुलिस ने उसके भाई और पति को थाने में पूछताछ के लिए बुलाया। युवती ने पुलिस को बताया कि उसकी शादी इस साल 9 जुलाई को
सतनाली क्षेत्र के बास गांव में हुई। वह मूल रूप से बिहार के वैशाली जिले के हाजीपुर क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है। फिलहाल उसका परिवार गुड़गांव स्थित एक मोहल्ले में रह रहा है।
युवती ने थाना प्रभारी एसआई महावीर सिंह को बताया कि शादी के बाद से ससुराल में तालमेल नहीं बैठ पा रहा। ससुराल में सभी लोग हरियाणवी बोलते हैं, जिसे वह समझ नहीं पाती। वह भोजपुरी बोलती है तो ससुराल वाले उसे समझ नहीं पाते। इतना ही नहीं, घर में जो खाना बनता है वह अच्छा नहीं लगता। इस बात को लेकर अक्सर विवाद होने लगा।
बुधवार को वह ससुराल का घर छोड़कर आई थी। लड़के पक्ष के लोगों ने थाने में ही पंचायत कर डाली। पुलिस और पंचायत में युवती ने कहा कि वह किसी भी कीमत पर ससुराल में नही जाएगी। यह बात लिखित रूप में पुलिस को दी गई। पुलिस की मौजूदगी में मौजिज लोगों ने युवती को उसके भाई के साथ भेज दिया। उसके पति ने कहा कि उसे भी कोई एतराज नहीं है। युवती की मर्जी है वह किसके साथ रहे।

प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top