Young Flame Young Flame Author
Title: रेलवे के कारण अटका आरओबी प्राेजेक्ट, डेडलाइन भी हुई खत्म
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
  लेट लतीफी| 14 जुलाई को पूरा होना था आरओबी का काम, अब छह महीने और इंतजार  #dabwalinews.com शहर की दशकों पुरानी आरओबी की ...


 
लेट लतीफी| 14 जुलाई को पूरा होना था आरओबी का काम, अब छह महीने और इंतजार 
#dabwalinews.com
शहर की दशकों पुरानी आरओबी की मांग एक बार फिर समय पर पूरी नहीं हो पाई। जुलाई के पहले पखवाड़े तक आरओबी की सौगात शहरवासियों को मिलनी थी, लेकिन रेलवे एरिया में काम शुरू नहीं होने से पूरे 80 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट में देरी हो गई है। एनएचएआई के करीब 38 करोड़ के टेंडर पर काम कर रही कंपनी भी अभी 90 प्रतिशत काम ही पूरा कर पाई है। जिस कारण बाकी काम के लिए एक्सटेंशन लेनी पड़ेगी।
शहर से होते हुए राजधानी दिल्ली को पाकिस्तान सीमा तक देश के शहरों को जोड़ने वाले नेशनल हाईवे पर बन रहे आरओबी के एनएचएआई के हिस्से का आरओबी 90 प्रतिशत पूरा हुआ है, जबकि रेलवे एरिया में काम अभी शुरू ही नहीं हुआ। आरओबी की डेडलाइन 14 जुलाई तय की गई थी। अब शहरवासियों को आरओबी के लिए 6 माह से अधिक समय और इंतजार करना होगा। हालांकि आरओबी का काम पूरा नहीं होने का मुख्य कारण रेलवे एरिया का काम शुरू हाेना नहीं होना माना जा रहा है। वहीं एनएचएआई के टेंडर के तहत हुए निर्माण में भी काम पूरा नहीं होने से कंपनी को अब एक्सटेंशन लेनी पड़ेगी। इस प्रक्रिया में भी काम अटक सकता है। निर्माण कंपनी गावड़ कंस्ट्रक्शन को अभी आरओबी के दोनों ओर 5 मीटर की सर्विस रोड बनानी है, जबकि ऊपरी रोड को भी कंपनी को ही बनाना है। आरओबी की लाइटिंग अन्य फिनिशिंग का काम भी किया जाएगा। जिसके बाद ही वाहन चालकों को आरओबी की सुविधा मिल पाएगी।
रेलवे एरिया में लग सकता है 6 माह से अधिक समय 
रेलवेओवरब्रिज में 200 मीटर पंजाब के एरिया सहित कुल 896 मीटर लंबाई के आरओबी का निर्माण होना है। जिसकी चौड़ाई 20.721 मीटर रखी गई है। इसमें 41.525 मीटर बीच का एरिया रेलवे विभाग के क्षेत्राधिकार में हैं। जिससे बठिंडा सूरतगढ़ रेलवे लाइनों के ऊपर नीचे से ब्रिजाें का निर्माण कराया जाना है। इसके लिए रेलवे की ओर से कराए गए टेंडर के तहत अभी काम शुरू नहीं हुआ है। रेलवे एरिया में आरओबी की निर्माण कंपनी की ओर से जल्द ही पाइल्स टेस्ट किया जाना है। इसके बाद आरयूबी आरओबी का निर्माण कार्य शुरू होगा। जिसमें करीब 6 माह का समय लग सकता है।
दिल्ली से पाकिस्तान सीमा तक अंतिम आरओबी 
नेशनल हाईवे 10 से बदलकर एनएच सिक्सलेन नंबर 9 हो चुके दिल्ली से हरियाणा होते हुए पंजाब में पाक सीमा तक जाने वाले हाईवे पर सभी शहरों में आरओबी पहले बन चुके हैं। शहर की मांग को पिछली कांग्रेस सरकार में चुनावी वादे के तौर पर इसे पूरा करते हुए काम शुरू कराया था। 16 फरवरी 2014 में तत्कालीन सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रैली करते हुए इसका शिलान्यास किया था। जिसमें जुलाई 2015 में शहरवासियों को आरओबी की सुविधा शुरू करने का दावा किया गया था। जिसके बाद सरकार बदल गई और मौजूदा सरकार में सवा साल से रेलवे एरिया का काम शुरू नहीं होने से प्रोजेक्ट लेट हो गया।
एनएचएआई के हिस्से का भी 90 प्रतिशत ही काम हुआ 
डबवालीमें रेलवे ओवरब्रिज का काम 90 प्रतिशत ही हो पाया है। इसके लिए मुख्य कारण रेलवे एरिया में काम शुरू होना है और जब तक रेलवे लाइन एरिया में आरयूबी आरओबी तैयार नहीं होता काम पूरा नहीं किया जा सकता। आरयूबी के बाद सर्विस रोड पूरी की जा सकती है जबकि आरओबी पिल्लर बनने के बाद ऊपरी परत को जोड़कर सड़क निर्माण खत्म होगा। समय पूरा हो जाने से बाकी काम के लिए निर्माण कंपनी को एक्सटेंशन लेना होगा। उम्मीद है कि 6 माह से पहले रेलवे काम पूरा करा लेगा जिसके साथ ही आरओबी कंपलीट कर दिया जाएगा।'' विमलकुमार जैन, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआई, हिसार 
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top