Young Flame Young Flame Author
Title: आशा वर्कर और एएनएम भी भेजें सेल्फी विद डॉटर
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली। गांव बीबीपुर से शुरू हुई सेल्फी विद डॉटर को अब स्वास्थ्य विभाग आशा वर्कर तथा एएनएम पर अजमाने जा रहा है। इसके लिए एसएमओ के व्हाट...

डबवाली। गांव बीबीपुर से शुरू हुई सेल्फी विद डॉटर को अब स्वास्थ्य विभाग आशा वर्कर तथा एएनएम पर अजमाने जा रहा है। इसके लिए एसएमओ के व्हाट्स एप नंबर पर फोटो शेयर करनी होगी। पहले तीन स्थानों पर आने वाली तस्वीर को नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा। सरकार के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग ने इसकी शुरुआत की है। एसएमओ का कहना है कि अभियान को गति देने वाली महिला कर्मचारियों के दिल में बेटी के प्रति प्रेम होगा, तो ही हम सफल हो सकेंगे।
सेल्फी विद डॉटर के लिए पुरस्कार के लिए फोटो का चयन चिकित्सकों की कमेटी करेगी। पहले स्थान पर आने वाली फोटो को पांच सौ रुपये, दूसरे पर 300 तथा तीसरे पर आने वाली फोटो को 200 रुपये नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने यह घोषणा शनिवार को विश्व जनसंख्या दिवस पर बिश्नोई धर्मशाला में हुए एक कार्यक्रम के दौरान कही।
एसएमओ एमके भादू ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण के साथ-साथ आशा वर्करों तथा एएनएम के लिए दोहरी चुनौती है महिला : पुरूष अनुपात में सुधार। अपने आस-पास के नीम, हकीम, डेरा, डॉक्टर, नर्स, दाई का आंकड़ा जुटाएं, जो लड़का पैदा करने की शर्तिया दवाई देने का दावा करते हों। ऐसे लोगों की सूचना विभाग को दें, ताकि उन पर कानूनी कार्रवाई की जा सके। इस अवसर पर डॉ. बलेश बांसल, डॉ. गौरव अरोड़ा मौजूद थे।
दो बच्चों के बाद समझाएं
एसएमओ एमके भादू ने आह्वान किया कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए दो बच्चों के बाद आशा वर्कर या एएनएम संबंधित घर में पहुंचे। लोगों को जागरूक करें। सरकार की योजनाओं के बारे में बताएं।
स्वास्थ्य विभाग ने छेड़ी मुहिम, पहले तीन स्थान की फोटो को मिलेगा पुरस्कार
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top