BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शनिवार, जुलाई 18, 2015

हरे पेड़ काटने की जांच शुरू अध्यापकों से हुई पूछताछ

ख़बर का असर :- 11 अप्रैल को #dabwalinews.com ने सब से पहले उजागर किया था घोटाला। 

गांव सकताखेड़ा के राजकीय उच्च विद्यालय से हरे पेड़ काटने के मामले में दूसरी जांच शुरू हो गई है। एडीसी के आदेश शुरू हुई पहली जांच में बीडीपीओ ने शिकायत को सही ठहराते हुए पेड़ काटे जाने की पुष्टि की है। शुक्रवार को शिक्षा विभाग के आदेश पर दो सदस्यीय टीम जांच के लिए पहुंची। टीम ने जांच के लिए अध्यापकों को प्रश्न पत्र जारी करते हुए पांच सवाल पूछे। जांच टीम का कहना है कि अधिकतर अध्यापकों ने पेड़ न काटे जाने की बात कही है। जिससे मामला उलझ गया है। टीम तीन दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी।
शुक्रवार को बीईईओ नरेश सिंगला, गुडिय़ाखेड़ा स्थित सरकारी स्कूल के प्रिंसीपल जसपाल सिंह जांच के लिए मौका पर पहुंचे। जांच टीम ने अध्यापकों को प्रश्न पत्र सौंपकर पांच सवाल पूछे। पहला सवाल पूछा कि क्या आप इस विद्यालय में कार्यरत हो? दूसरा सवाल था कि अमर सिंह स्कूल इंचार्ज या किसी अन्य ने स्कूल प्रांगण से वृक्ष कटवाये हैं, तथा कब कटवाएं हैं? तीसरा सवाल था कि यदि कटवाए गए हैं, तो किस की मंजूरी से बेचे गए तथा काटे गए? चौथा सवाल था कि उपरोक्त मामले में कोई अन्य जांच चल रही है, पूर्ण विवरण देवें? पांचवा तथा अंतिम सवाल था कि बलवीर सिंह जेबीटी अध्यापक व अमर सिंह स्कूल इंचार्ज के बीच कोइ्र मतभेद या झगड़ा इत्यादि स्कूल समय में हुआ है, विस्ताए से बताएं? अध्यापकों से उपरोक्त सवालों का जवाब पाने के बाद टीम चली गई। हालांकि एडीसी के आदेश पर जांच कर रहे बीडीपीओ सतिंद्र सिवाच भी वीरवार को मौका पर पहुंचे थे। जांच के बाद उन्होंने विद्यालय इंचार्ज अमर सिंह को कटघरे में खड़ा करते हुए हरे पेड़ काटे जाने की पुष्टि की थी।
शिक्षा विभाग के आदेश पर आई जांच टीम का कहना है कि अधिकतर अध्यापकों ने अपना जवाब पेश करते हुए कहा है कि हरे पेड़ नहीं काटे गए थे। फिलहाल मामले की जांच चल रही है। गौरतलब है कि करीब ढाई माह पूर्व हरे पेड़ काटे जाने का मामला प्रकाश में आया था। अध्यापक बलवीर सिंह ने इस संबंध में शिकायत आला अधिकारियों को की थी।
पहली जांच में हरे पेड़ काटने की हो चुकी है पुष्टि, शिक्षा विभाग अपने स्तर पर कर रहा जांच
सवालों का जवाब मिलने के बाद टीम फिजिकल वेरिफिकेशन करेगी। अभी तक सूखे पेड़ गिरने की बात सामने आई है। पता चला है कि बीडीपीओ ने हरे पेड़ काटने की बात कही है। जल्दबाजी में हम किसी नतीजे पर नहीं जाना चाहते।
-नरेश सिंगला, बीईईओ, डबवाली

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज