Young Flame Young Flame Author
Title: वोटर सूची फाइनल होने से पहले पैरवी का मौका
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
  मंगलवार को एसडीएम सुनेंगे दावेदारों का पक्ष  डबवाली शहर की सरकारी यानी नगर परिषद चुनाव के लिए सबसे अहम काम वोटर सूची का दुर...


 
मंगलवार को एसडीएम सुनेंगे दावेदारों का पक्ष 
डबवाली
शहर की सरकारी यानी नगर परिषद चुनाव के लिए सबसे अहम काम वोटर सूची का दुरूस्तीकरण इस सप्ताह में पूरा करना होगा। नप में आपत्ति दावे करने वाले शहरवासियों को आपत्ति के निदान के लिए पैरवी का मौका मिलेगा। साथ ही आवेदन करने वाले नए वोटरों को वार्ड वार जोड़ दिया जाएगा। इस कारण वोटर संख्या 34 हजार 722 से बढ़कर 35 हजार तक पहुंचने की उम्मीद है।
नगर परिषद के 21 वार्डों के करीब 300 लोगों ने आपत्ति जताई। जबकि 100 से अधिक लोगों ने नए वोटाें वोटर सूची दुरुस्त करने के लिए दावे किए हैं। कई वार्डों के लोगों ने अपने वार्ड बंदी के बाद सूची में फाेटोयुक्त मतदाता सूची में दर्शाए गए लोगों के उक्त वार्ड के निवासी नहीं होने की आपत्ति दर्ज की। जिस कारण सोमवार को नगर परिषद प्रशासक के आदेश पर इन सूचियों का पुनर्निरीक्षण किया जाएगा। इसके बाद मंगलवार को प्रशासक एसडीएम कम आरओ सुरेश कस्वां शहरवासियों के आपत्ति दावों की जांच कर दावेकारों का पक्ष सुनेंगे। जिसके बाद स्थिति स्पष्ट करते हुए आपत्तियों दावों का निपटान किया जाएगा। आपत्ति दावे का निपटारा एसडीएम कम आरओ को 17 जुलाई तक करना है। उनके द्वारा किए गए निपटान से किसी आपत्तिकार दावेकार को संतुष्टि नहीं होती है तो वे जिला निर्वाचन अधिकारी के समक्ष अपील करने का। इसके लिए 23 जुलाई अपील की अंतिम तारीख है। इनके अंतिम निपटारे का समय 3 अगस्त है। जिला निर्वाचन अधिकारी के आदेश के बाद 10 अगस्त को फाइनल वोटर सूची का फोटो युक्त प्रकाशन कर दिया जाएगा।
शुक्रवार अंतिम दिन
शहर वासियों को अपने दावे और आपत्ति के पक्ष स्पष्ट करने का मौका दिया जाएगा। इसके लिए सोमवार को रिकॉर्ड अपडेट कर लिया जाएगा और मंगलवार को पूरा दिन डबवाली में रहकर इनका निपटान किया जाएगा। इसके बाद शुक्रवार तक सभी दावों पर फाइनल एक्शन लिया जाएगा और हमारी ओर से सूची फाइनल कर दी जाएगी।'' सुरेशकस्वां, कार्यकारी एसडीएम कम नप प्रशासक, डबवाली
स्टाफ की कमी 
नगरपरिषद में अभी ईओ की पोस्ट खाली पड़ी है जबकि सचिव के पद पर बीडीपीओ सतेंद्र सिवाच को कार्यभार दिया गया है। नगरपालिका की टर्म डेढ़ साल पहले पूरी होने से एसडीएम बतौर प्रशासक नप का संचालन कर रहे हैं। नगर परिषद में जेई अन्य स्टाफ सदस्यों की कमी होने से तय समय सीमा में वोटर सूची फाइनल करना चुनौती से कम नहीं है। नप एमई जयवीर सिंह डूडी ने बताया कि पिछले माह से चल रही चुनाव की तैयारियों में वोटर सूची लगभग सटीक तरीके से तैयार की गई थी। जिसमें मिले दावे आपत्तियों के निपटान के बाद नई सूची 13 अगस्त के बाद चुनाव के लिए उपलब्ध रहेगी। उन्होंने बताया कि फाइनल सूची में नए दावों के निपटान के साथ वोटर संख्या बढ़कर 35 हजार तक हो सकती है। 
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें