Young Flame Young Flame Author
Title: आंधी-बारिश से रास्ते बंद , शहर में बिजली गुल
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
अव्यवस्था | गंगा, कालांवाली, देसूजोधा रुट पर नहीं चलीं बसें, ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 24 खंभे टूटने से बिजली व्यवस्था बिगड़ी डबवाली उपमंडल...
अव्यवस्था | गंगा, कालांवाली, देसूजोधा रुट पर नहीं चलीं बसें, ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 24 खंभे टूटने से बिजली व्यवस्था बिगड़ी





डबवाली
उपमंडल में सोमवार रात आई आंधी और मंगलवार सुबह अाई तेज बारिश से शहर में 24 घंटे बिजली गुल रही। शहर की गलियों बाजारों में सीवर ओवरफ्लो हो गया और बस स्टैंड रोड पर दीवार सहित पेड़ गिरने से बंद रोड को शाम तक नहीं खोला जा सका। वहीं शहर से गांवों को जोड़ने वाली सड़कों पर पेड़ टूटकर गिरने से रास्ते बंद हो गए।
नेशनल हाइवे पर ट्रैफिक प्रभावित
सोमवार रात को अंधड़ के बाद मंगलवार अलसुबह 3 बजे तेज हवा के साथ झमाझम बारिश होने से शहर के कई जगह पेड़ टूट गए वहीं नेशनल हाइवे लिंक रोड किनारे पेड़ उखड़कर सड़क पर गिर गए। इससे शहर से सिरसा चौटाला रोड हाईवे के अलावा कालांवाली रोड, बठिंडा रोड अबूबशहर से गंगा रोड पर ट्रैफिक प्रभावित रहा। वहीं गंगा रोड, कालांवाली रूट देसूजोधा रूट पर बसें नहीं चल सकी। वाहन चालक सुधीर कुमार, कुलवंत सिंह, रामचंद्र बराड़, हरराज सिंह, अभी गाेयल अन्य ने बताया सड़कों पर अलसुबह से पेड़ गिरे होने से निकलना दूभर हो गया। कई पेड़ पूरी सड़क पर गिर जाने से वाहन चालकों को वापस चलकर दूसरे रोड से निकलना पड़ा।
शहर में पोल टूटने से दिन भर नहीं आई लाइट
रातको अंधड़ के दौरान पेड़ों के साथ बिजली पोल भी टूट गए और इससे शहर ग्रामीण क्षेत्र में बिजली गुल हो गई। रात को बस स्टैंड सिरसा रोड एरिया में टूटे पोल की लाइनों को टीम दुरुस्त करने में जुटी रही। वहीं अलसुबह तेज हवा के साथ आई बारिश से 4 जगह और पोल टूट गए। इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में करीब दो दर्जन बिजली पोल टूट जाने से निगम के सभी बिजलीघरों की टीमें लाइनें दुरुस्त करने में लगी रही। पूरी रात और दिनभर मशक्कत के बाद भी बिजली निगम की टीम आधे शहर में बिजली सप्लाई बहाल नहीं कर पाए। जिससे मंडी थ्री फीडर के तहत आने वाले चौटाला रोड, कॉलोनी रोड अग्निकांड स्थल के पीछे स्थित सभी कॉलोनियों में 24 घंटे बाद भी बिजली सप्लाई दुरुस्त नहीं हो पाई। आदर्श नगर कॉलोनी निवासी रमेश मुंजाल, गुरदयाल सिंह, भारतभूषण, कृष्ण अन्य ने बताया पूरी रात और दिन बिजली गुल होने से इनवर्टर भी जवाब दे गए हैं और बारिश आंध के बीच अव्यवस्था से नींद हराम हो गई है। जेई तरसेम सिंह ने कहा कि सभी टीमें काम में जुटी हुई हैं और अंधेरा होने तक पूरे शहर में सप्लाई चालू कर दी जाएगी।
तेज बारिश से लबालब हुई शहर की गलियां
मंगलवारअलसुबह मानसून की पहली झमाझम बारिश हुई। सुबह 3 बजे से दिन चढ़ने तक लगातार हुई जाेरदार बारिश से शहर की गलियों में पानी भर गया। इससे कॉलोनी रोड पर एक फीट जलभराव हो गया और गाेल चौक में सिरसा हाइवे पर भी पानी भर गया। इससे दोपहर तक शहर में आने वाले लोगों को जलभराव में से गुजरने को मजबूर होना पड़ा। जनस्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोपहर बाद तक चौटाला रोड डिस्पोजल से पानी की निकासी की जिससे शहरवासियाें को राहत मिली है।

नुकसान का जायजा लेने पहुंचे अधिकारी
डबवाली बसस्टैंड रोड पर सोमवार शाम को आंधी में दीवार बिजली पोल सहित गिरे पीपल के पेड़ को हटवाया। जिसका तहसीलदार सहित प्रशासनिक टीम में दौरा किया और क्षतिग्रस्त वाहनों के नुकसान का सर्वे किया। रात को बिजली निगम की टीम ने टूटी लाइन को हटाकर दुरुस्त कर दिया। रोड पर हादसे के तुरंत बाद से बिजली निगम की टीम ने पहुंचकर रातभर बिजली लाइन दुरुस्त की। मंगलवार सुबह से प्रशासनिक आदेश पर दीवार के साथ गिरे पीपल के पेड़ को हटाने का काम शुरू हुअा। दोपहर में तहसीलदार नौरंगदास ने प्रशासनिक टीम के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया और दुकानदारों से बातचीत की। तहसीलदार ने राजस्व विभाग की टीम को मौके पर हुए नुकसान का आंकलन करने के निर्देश दिए। साथ ही दुकानदारों को अपील की कि जिनके वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं वे विभागीय टीम को अपने नुकसान का आवेदन कर आंकलन कराएं। दुकानदारों ने तहसीलदार से बस स्टैंड की दीवार का पुर्ननिर्माण कराने की मांग की। इस पर तहसीलदार नौरंगदास ने मामला उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाने का आश्वासन दिया। मौके पर नगर परिषद बिजली निगम के अधिकारियों कर्मचारियाें को तमाम व्यवस्थाएं बहाल करने के निर्देश दिए। दिनभर पेड़ हटाने का काम जारी रहा जिससे आमजन के लिए बस स्टैंड रोड को बंद रखा गया। जिससे अधिकतर दुकानदारों का काम प्रभावित रहा। तहसीलदार नौरंगदास ने बताया कि बुधवार को रोड खोल दिया जाएगा ताकि आमजन के लिए ज्यादा परेशानी नहीं रहेे। उल्लेखनीय है कि सोमवार शाम को आंधी के साथ 4 दशक पुरानी दीवार उसमें लगे पीपल के पेड़ सहित गिर गई। जिससे रोड की बिजली लाइन भी टूट गई थी।


प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें