Young Flame Young Flame Author
Title: डबवाली में तेज बारिश से भरा घुटनों तक पानी आधा दर्जन गांवों में बाढ़ जैसे हालात
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
शहर थाना डबवाली सहित सरकारी कार्यालयों में घुस गया पानी स्कूलों में 80 से 90 प्रतिशत बच्चे कम आए, कई गांवों में बाढ़ के हालात, वाहन चालक...
शहर थाना डबवाली सहित सरकारी कार्यालयों में घुस गया पानी
स्कूलों में 80 से 90 प्रतिशत बच्चे कम आए, कई गांवों में बाढ़ के हालात, वाहन चालक परेशान
#dabwalinews.com
डबवाली । बुधवार को आसमान से राहत के साथ आफत बरसी। इस दौरान चार घंटे में 50 एमएम बारिश हो गई। इतनी तेज बारिश से स्टेट मार्गों के साथ नेशनल हाइवे पर पानी जमा हो गया। समीप के आधा दर्जन गांवों में बरसाती पानी से आफत खड़ी हो गई। जोहड़ पानी से लबालब होकर बाहर बह रहे हैं। अब ग्रामीण इस पानी को निकालने के लिए पुराने कुंओं का सहारा ले रहे हैं।
सुबह करीब पांच बजे बूंदाबांदी शुरू हुई। कुछ देर बाद झमाझम बरसात शुरू हो गई। करीब नौ बजे तक लगातार बदरा बरसते रहे। चार घंटों में 50 एमएम बारिश से मौसम में एकदम ठंडक आ गई। न्यू बस स्टेंड, कॉलोनी रोड, मुख्य बाजार, सब्जी मंडी, पब्लिक क्लब, गोल चौक क्षेत्र पानी में डूब गए। यहीं नहीं बीईओ, एपीआरओ, बस स्टेंड तथा शहर थाना भी पानी में डूब गए। इसके साथ-साथ गांव डबवाली, मांगेआना, जोगेवाला, हैबूआना, देसूजोधा, नीलियांवाली, सांवतखेड़ा, पन्नीवाला मोरिकां में हालात बाढ़ जैसे हो गए। पानी निकासी का सिस्टम फेल होने तथा जोहड़ ओवरफ्लो होने से घरों में पानी घुस गया। ग्रामीणों को पुराने कुओं में पानी निकालना पड़ा। इस दौरान बिजली भी ठप हो गई। बारिश के चलते क्षेत्र के सरकारी तथा निजी स्कूलों में बच्चों की हाजिरी न के बराबर रही। करीब 80 से 90 प्रतिशत बच्चे छुट्टी पर रहने के कारण स्कूल बंद प्रतीत हुए। इधर सब्जी मंडी में करीब डेढ़ फुट तक पानी भरा होने के बावजूद फल तथा सब्जी विक्रेता ग्राहक की इंतजार में पानी के बीच में खड़े रहे। बारिश के बाद खिली धूप से मौसम एक बार फिर गर्म हो गया। सूर्य देवता तथा बादलों में आंख मिचौली का खेल दिन भर चलता रहा। सुबह की ठंडक दोपहर तक उमस में बदल गई। लोग पसीने से तरबतर हो गए।
शहरवासियों की बढ़ सकती है परेशानी
मानसून की पहली बरसात ने ही जनस्वास्थ्य विभाग के हाथ खड़े करा दिए हैं। रामबाग के निकट बने दो गड्ढों सहित किराए पर ली पांच एकड़ भूमि भी पानी से भर गई है। विभाग शेरगढ़ में प्रस्तावित एसटीपी की भूमि पर बरसाती पानी निकालने को मजबूर हो गया है। दूसरी ओर मौसम विभाग अभी ओर बारिश आने की भविष्यवाणी कर रहा है। कृषि अधिकारी सुखदेव सिंह ने कहा कि बुध्‍ावार को चार घंटे में करीब 100 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है। बारिश शहर और आसपास के क्षेत्र में हुई है।

प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें