Young Flame Young Flame Author
Title: मौसम की मार, घर-घर बीमार, बुखार ने एक की ली जान
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
 मौसम में होता बदलाव के चलते और वातावरण में उमस बीमारियों की जनक बनी हुई है। वायरल फीवर, मलेरिया, टायफाइड के साथ साथ त्वचा रोग तेजी से बढ़...

 मौसम में होता बदलाव के चलते और वातावरण में उमस बीमारियों की जनक बनी हुई है। वायरल फीवर, मलेरिया, टायफाइड के साथ साथ त्वचा रोग तेजी से बढ़ रहा है। सरकारी चिकित्सालय और निजी चिकित्सकों के यहां रोगियों की भीड़ बढ़ रही है। जिनमें सर्वाधिक संख्या वायरल फीवर से पीड़ितों की है।गौरतलब हो कि पिछले दिनों बारिश ने कई बस्तियों में जलभराव हुआ।  नालियों में रुकावट के कारण बस्तियों में पानी भरा रहा। इसके अलावा निचले इलाकों की कालोनियों में तो जगह जगह खाली भरे प्लाटों जलभराव रहा है।जलभराव और गंदगी को लेकर पालिका प्रशासन गंभीर नजर नहीं आ रहा है सफाई न होने के कारण भी गंदे पानी का प्रवाह बाधित है और पानी ठहरा हुआ है। ऐसे हालातों में मच्छर पनप रहे हैं, जो मलेरिया रोग का कारण बने हुए हैं।जिस के चलते बठिंडा रोड गली नंबर 3 में पिछले दिनों बुखार से मौत होने का समाचार मिला है । यह महिला काफी दिनों तक बुखार से पीड़ित रही , यदि हालातों पर काबू नहीं पाया गया तो  संक्रामकों का खतरा बढ़ सकता है। स्वास्थ्य केंद्र पर प्रतिदिन ही बड़ी संख्या में मलेरिया, वायरल बुखार को मरीज पहुंच रहे हैं। चिकित्सक भी मरीजों की बढ़ती संख्या को देखकर हैरान हैं। बठिंडा रोड  के निवासी प्रवीण जिन्दल  ने बताया कि लोगों को जलभराव  से दिक्कतें हैं, उनके परिवार व पड़ोस में काफी  लोग बीमार हो रहे हैं, उनके परिवार में डेंगू ने दस्तक दे दी है  और कोई सुनने वाला नहीं है।  सफाई वयवस्था बिलकुल ठप है ,बठिंडा रोड गली नंबर 3  निवासी बलविंदर सिंह का कहना है के पिछले 10 दिनों से उस परिवार के सभी मेंबर बुखार से पीड़ित है ,  वायरल फीवर, मलेरिया, टाइफाइड ने बढ़े-बूढ़े और बच्चों को जकड़ लिया है। गली निवासिओं के अनुसार इस तरह के बुखार के चलते गली की एक औरत की जान चली गयी। जिस कारन सभी में दहशत का माहौल है ।चलाना मेडिकल स्टोर के संचालक व समाज सेवी डॉ मथुरा दास चलाना का कहना है की बीमारियां लोगों का पीछा नहीं छोड़ रही हैं। दिन प्रतिदिन मरीजों की संख्या बढ़ रही है। वायरल फीवर, मलेरिया, टाइफाइड ने बढ़े-बूढ़े और बच्चों को जकड़ लिया है। सरकारी चिकित्सालय हो या निजी चिकित्सालय मरीजों की कतारें लगी हुई हैं। वृद्ध या फिर बच्चे रोगों की चपेट में हैं। विशेषकर सर्दी और वायरल फीवर बच्चों को परेशान किए हुए है तो डायरिया, टाइफाइड और मलेरिया के रोगियों की भी संख्या काफी है।

ब्लड का सैंपल लेंगे 
बठिंडा रोड पर डेंगू के मरीज मिलने की सुचना आई है , उपरोतक क्षेत्र  में लोगो का ब्लड सैंपल लिया जाएगा । में खुद भी क्षेत्र में विज़ट करुगा । 
एमके भादू , एसएमओ, डबवाली 
न पियें ठंडा पानी
बठिंडा रोड पर स्थित पाल होमियो हॉस्पिटल के संचालक डॉ सुखपाल सिंह व् राजिंदर कौर का कहना है कि बदलते इस मौसम में विशेषकर बच्चों को फ्रिज अथवा बर्फ का ठण्डा पानी न दें तथा संक्रामक रोगों से बचने के लिए खान-पान को नियमित रखें। तैलीय और गरिष्ठ भोजन का उपयोग न करें, बासा खाना न खाएं तथा हरी सब्जियों का इस्तेमाल करें। खाने-पीने की वस्तुओं को ढककर रखें और बुखार आने पर तुरंत चिकित्सक को दिखाएं तथा चिकित्सक की सलाह से ही दवा लें। डॉ सुखपाल सिंह का कहना है के व् जल्द ही आम लोंगो जागरूक करने के लिए विशेष कैम्प प्रशाशन की मदत से चलाए गए । 

प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top