Young Flame Young Flame Author
Title: पतियों के साथ घूंघट में आई महिलाएं, माइक उठाकर बोलीं - मोदी, खट्टर हाय! हाय!
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
Dabwalinews.com डबवाली। चेहरे पर घूंघट। हाथ में माइक। मोदी हाय! हाय! खट्टर हाय! हाय! कर रही मातृ शक्ति इन दिनों शहर की सड़कों पर धरना-प्...
Dabwalinews.com
डबवाली। चेहरे पर घूंघट। हाथ में माइक। मोदी हाय! हाय! खट्टर हाय! हाय! कर रही मातृ शक्ति इन दिनों शहर की सड़कों पर धरना-प्रदर्शन कर रही हैं। कारण है बिजली बिल। रविवार को चूल्हा-चौका छोड़कर न्यू बस स्टैंड रोड पर जुटी सैकड़ों महिलाओं ने मृत्यु होने पर किए जाने वाले सियापा (शोक) को भाजपा के लिए जताया। करीब तीन घंटे तक महिलाएं प्रदर्शन करती रहीं।
बाबा रामदेव मंदिर के नजदीक न्यू बस स्टैंड रोड पर सुबह करीब नौ बजे लोग जुटना शुरू हो गए। पतियों के साथ महिलाएं भी आंदोलन में भाग लेने पहुंचीं। नगर सुधार मंडल के पूर्व चेयरमैन रणवीर सिंह राणा के नेतृत्व में धरना शुरू हुआ। बिजली दरों के साथ-साथ फ्यूल चार्जिंज में हुई भारी वृद्धि के रोष स्वरूप लोगों ने पीएम नरेंद्र मोदी तथा सीएम मनोहर लाल खट्टर के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। महिलाओं का नेतृत्व कर रही नगरपालिका की पूर्व चेयरमैन आशा वाल्मीकि ने कहा कि केंद्र तथा प्रदेश में दोनों जगह भाजपा की सरकार है। आए दिन ऐसी नीतियां तथा नियम थोपे जा रहे हैं, जिससे जनता का जीना मुश्किल हो गया है। सरकार ने बिजली की नई दरों पर बिल भेजा है। जिससे बिल लगभग चार गुणा हो गए हैं। फ्यूल चार्जिज के साथ-साथ अनाप-शनाप सेंडरी चार्जिज भी जोड़ा गया है। जिससे घर का पूरा बजट ही बिगाड़ कर रख दिया है। घूंघट में कांता ने भी माईक थाम लिया। महिला ने कहा कि जिस घर का बिल आज से दो माह पहले 500 रुपये आता था, वह दो से ढाई हजार रुपये तक आया है। इस महिला ने जब पूछा कि तीन हजार या इससे ऊपर बिल किन लोगों का आया है तो 90 फीसदी महिलाओं ने हाथ ऊपर उठा लिया। मुन्नी देवी, शांति बाई, शांति देवी, धन्नी देवी, इंदरो, रेशमा, गुड्डी ने भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाई। महिलाओं ने कहा कि महंगाई के दौर में सरकार ने बिजली की दरें बढ़ाकर जले पर नमक छिड़कने का कार्य किया है। बढ़ी हुई दरों से बिल आने के कारण पूरा परिवार मानसिक परेशानी झेल रहा है। अगर इस वजह से उनके परिवार का कोई भी सदस्य गलत कदम उठाता है तो जिम्मेवार सरकार होगी। मातृशक्ति ने सरकार के खिलाफ जमकर बवाल काटा। महिलाओं ने मृत्यु पर शोक प्रकट करने के समय किए जाने वाला सियापा पीएम तथा सीएम के लिए किया। महिलाओं ने चेतावनी दी कि अगर सरकार अपना निर्णय वापस नहीं लेती है तो वे अपने पतियों के साथ भूख हड़ताल करने से पीछे नहीं हटेंगी। महिलाओं ने बिजली बिलों को अग्नि भेंट किया।
इन्होंने किया संबोधित
धरनारत लोगों को मजदूर नेता गणपत राम, अमरनाथ बागड़ी, शिवजी राम बागड़ी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर पूर्व पार्षद सुखविंद्र सरां, हरबंस लाल भीटीवाला, मदन गुप्ता, दर्शन मोंगा, सतपाल लोहगढिय़ा, हैप्पी गिल, कुलदीपक सहारण, आशीष शर्मा, राजेंद्र पप्पू, टेकचंद छाबड़ा, नीलकांत मैहता, गुरचरण नंबरदार, जग्गा सिंह बराड़, जोगिंद्र डाल, रिंका सेठी, काका मोंगा, गुरलाल सिंह, सुभाष मित्तल, सतपाल, राकेश शर्मा, हरमेश पहलवान, विजय कुमार, हरि किशन, परमजीत बराड़, मनीष शर्मा, नरेंद्र शर्मा, दीपक शर्मा, सुनीता, रजनी, कृष्णा रानी, वीरां देवी, कविता, वीनू, सिमरन आदि उपस्थित थे।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें