Young Flame Young Flame Author
Title: हड़ताल पर बैठे किसानों के समर्थन में महिलाएं भी
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
  खराब फसलों का सरकार द्वारा मुआवजा नहीं दिए जाने के विरोध में धरना दे रहे किसान  #dabwalinews.com सफेद मक्खी के कारण ...


 
खराब फसलों का सरकार द्वारा मुआवजा नहीं दिए जाने के विरोध में धरना दे रहे किसान 
#dabwalinews.com

सफेद मक्खी के कारण बर्बाद हुई नरमा कपास अन्य खरीफ फसलों का सरकार द्वारा मुआवजा नहीं दिए जाने के विरोध में एसडीएम कार्यालय के बाहर चौथे दिन भी किसानों की भूख हड़ताल धरना दिया। शुक्रवार को 15 किसान भूख हड़ताल पर बैठे जिनमें हैबुआना की दो महिलाएं भी शामिल थी। राष्ट्रीय किसान संगठन के बैनर तले किए जा रहे इस आंदोलन में देसूजोधा, फुल्लो, मटदादू, माखा, गोरीवाला, शेरगढ़, अलीकां, नीलेयांवाली, मसीतां, पन्नीवाला रूल्दु, पन्नीवाला मोरिका, जोगेवाला, असीर, हैबुआना, मौजगढ़, चठ्ठा, सक्ताखेड़ा, जंडवाला जाटान, खुईयांमलकाना, मलिकपुरा अन्य गांवों के किसान काफी संख्या में पहुंचे सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जताया। आज शनिवार से बठिंडा चौक में बैठकर रोड जाम करने का निर्णय किसानों ने प्रशासन के अनुरोध पर स्थगित कर दिया है। शुक्रवार को हैबुआना निवासी जसविंद्र कौर, सुखदेव कौर के अलावा जय दयाल मैहता नंबरदार, मक्खन सिंह, बूटा सिंह, जग सिंह सरपंच, बलतेज सिंह, तोता सिंह, सुखचैन सिंह, संतोख सिंह, परमजीत सिंह, मुखपाल सिंह, हरमंदर सिंह, मुकंद सिंह खालसा, मंगल सिंह आदि किसानों ने भूख हड़ताल की। संबोधन में राष्ट्रीय संगठन के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य जसवीर सिंह भाटी ने कहा कि फसलों की बर्बादी से किसानों को काफी आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा है मगर सरकार अब तक टालमटोल की नीति अपनाए हुए है। किसानों की आर्थिक हालत खराब हो चुकी है
उन्होंने मांग उठाई कि किसानों को गिरदावरी के अनुसार 30 हजार प्रति एकड़ मुआवजा जल्द दिया जाए। डा. स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू की जाए सभी बैंकों के कर्ज माफ किए जाएं। मजदूरों के बिजली बिल माफ किए जाए। इस मौके पर मलकीत सिंह खालसा, परमजीत सिंह, जगतार सिंह, जगदेव सिंह, जगसीर सिंह, का. दारा सिंह, सिंगारा सिंह, सुखदेव सिंह, बलजीत कौर, नसीब कौर, जगसीर, जरनैल सिंह बराड़, काका सिंह खालसा, बचन सिंह खालसा, सेवा सिंह, गुरचरण सिंह, इंद्रजीत खुईयां, कृष्ण नैन अन्य किसान उपस्थित थे।
अब 24 घंटे चलेगी भूख हड़ताल धरना 
शुक्रवार को एसडीएम अजय कुमार भी धरनारत किसानों के बीच पहुंचे उनसे बातचीत की। उन्होंने बताया कि किसानों द्वारा मांगों को लेकर दिया गया ज्ञापन सरकार के पास भेज दिया गया है। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे शनिवार 20 फरवरी से बठिंडा चौक में रोड जाम करने की घोषणा को वापिस लेकर शांतिपूर्वक आंदोलन ही चलाएं। जसवीर भाटी ने बताया कि प्रशासन के अनुरोध पर किसानों ने रोड जाम का निर्णय दो दिन के लिए स्थगित कर दिया अब शनिवार से एसडीएम कार्यालय के बाहर 24 घंटे भूख हड़ताल धरना देने का फैसला लिया है। 
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें