Young Flame Young Flame Author
Title: नीलगायों की हत्या किए जाने की घटना से बिश्नोई समाज के लोगों में रोष
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
#Dabwalinews.com डबवाली बिहार  मे नीलगायों की  हत्या  किए जाने की  घटना से बिश्नोई  समाज के लोगों में रोष है। शुक्रवार को समाज के लोगों ...


#Dabwalinews.com
डबवाली
बिहार  मे नीलगायों की  हत्या  किए जाने की  घटना से बिश्नोई  समाज के लोगों में रोष है। शुक्रवार को समाज के लोगों ने घटना की कड़े शब्दों में निंदा की।
इसे लेकर अखिल भारतीय बिश्रोई जीव रक्षा सभा के प्रदेश  सचिव इन्द्रजीत बिश्नोई ने कहा कि धरती पर  सब जीवों को जीने का अधिकार  है। आज से करीब 550 वर्ष पूर्व बिश्नोई  धर्म प्रवर्तक श्री गुरू जम्भेश्वर भगवान ने 29 नियमो की श्रृंखला मे नियम संख्या 18 पर 'जीव दया पालणी´ का संदेश दिया है। इसका अर्थ है कि हमें जीवों के प्रति दया भाव रखना चाहिए अर्र्थात जीवो को मारना तो दूर की बात हमें उनका संरक्षण करना चाहिए। गुरू जांभोजी की शिक्षाओं पर चलते हुए बिश्रोई समाज के लोग पशु पक्षियों व अन्य जीवों को बचाने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। ऐसे में बिहार में हुई नीलगायों की हत्या जैसी वीभत्स घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने बताया कि अखिल भारतीय बिश्रोई जीव रक्षा सभा ने श्री गंगानगर में प्रदेश उपाध्यक्ष महेंद्र तरड़ के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। रावला मंडी कस्बे में भी बिश्रोई सभा की बैठक में भी रोष जताया गया व दर्जनों लोगों ने नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। इंद्रजीत बिश्रोई ने बताया कि अब इसके खिलाफ 12 जून को दिल्ली के जंतर मंतर पर विशाल रोष प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने लोगों से इस प्रदर्शन में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने की अपील की ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं की पुनर्रावृति न हो।

प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top