Young Flame Young Flame Author
Title: मिलावटी मिठाई बेची तो दुकान सील की जाएगी-- डाॅ. एम के भादू
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com त्योहारी सीजन पर आमजन की सेहत को लेकर स्वास्थ्य विभाग हरकत में गया है। बाजार में मिलावटी मिठाइयों मावा को रोक...


#dabwalinews.com
त्योहारी सीजन पर आमजन की सेहत को लेकर स्वास्थ्य विभाग हरकत में गया है। बाजार में मिलावटी मिठाइयों मावा को रोकने के लिए हलवाइयों दूध विक्रेताओं के साथ बैठक पर चेतावनी दी। एसएमओ के सामने सभी दुकानदारों ने क्वालिटी युक्त खाद्य सामग्री ही बेचने का सकंल्प लिया।
एसएमओ डाॅ. एमके भादू ने कहा कि त्योहारी सीजन के दौरान दुकानदार लोगों की सेहत को ध्यान मेें रखते हुए मिठाइयों में इस्तेमाल होने वाली सामग्री पर विशेष ध्यान रखे। क्योंकि मिलावटी मिठाइयों के खाने से व्यक्ति की जान को खतरा हो सकता है। इसके लिए उन्होंने कहा कि वह मिठाइयों में गुणवत्ता वाली वस्तुओं का इस्तेमाल करे। इसी दौरान हलवाई द्वारा मिठाइयां बनाते समय स्वच्छता का खास ध्यान रखे। क्योंकि ज्यादातर दुकान संचालकों द्वारा दुकानों के बाहर स्टाल लगाकर मिठाइयों को खुले में छोड़ दिया जाता है। जिस पर मिट्टी, मक्खी मच्छरों के बैठने से मिठाइयां दूषित हो जाती है। जिसके खाने से लोगों को बीमारियां लगती है। उन्होंने बताया कि दुकानों में पैकेजिंग की मिठाइयां बेची जाती है अगर वह किसी कंपनी की है और मिलावट पाई जाती है तो कंपनी पर कार्रवाई होगी अगर किसी पैकेट के खुला सप्लाई करने पर कोई शिकायत पाई जाती है तो उसके लिए दुकानदारों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। उन्होंने बताया कि अगर किसी दुकानदार को किसी व्यक्ति पर मिलावटी मिठाई बेचने की आंशका हो तो इसके लिए स्वास्थ्य विभाग को शिकायत करें ताकि कार्रवाई हो सके।
सस्ती मिलावटी मिठाइयों की सप्लाई रोकने के लिए नाका लगा जांच करेंगे 
दुकानदार सुरज, मदन लाल, मोहन लाल, पवन कुमार अन्य ने बताया कि वह मिठाइयां बनाने में गुणवत्ता भरे सामान का इस्तेमाल करते है। ताकि उपभोक्ताओं को किसी प्रकार की परेशानी ना हो। उन्होंने कहा कि दीपावली पर्व पर किरयाणा अन्य दुकान संचालकों द्वारा बिना लाइसेंस के स्टालें लगाकर मिठाइयां सप्लाई की जाती है वे पंजाब से मिलावटी कम दामों पर मिठाइयां लाकर बेचते है। जिसका लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इस दौरान मिलावटी मिठाइयों को रोकने के लिए सीमावर्ती क्षेत्रों पर सप्लाई होने वाली मिठाइयों की नाका लगाकर जांच की जाए। ताकि मिलावटखोरों पर रोक लगाई जा सके।
डब्बे का वजन छोड़कर ली जाए कीमत 
दुकानों पर उपभोक्ताओं को मिठाई देने के लिए नापतोल कानून के अनुसार उसे बिना डिब्बे के तोला जाना चाहिए। परंतु दुकानदारों द्वारा अपनी मनमर्जी दिखाते हुए मिठाइयों को डिब्बे के साथ तोला जाता है और उपभोक्ता को नुकसान की स्थिति का सामना करना पड़ता है। दुकानदारों ने बताया कि वह मिठाई बिना डिब्बे के ही तोलकर देते है परंतु डिब्बे की कीमत 5 से 8 रुपये होने के कारण उसे साथ ही तोल दिया जाता है। अगर कोई उपभोक्ता पूरी मिठाई चाहता है तो वह डिब्बे की अलग से रुपये देकर ले जा सकता है।
मिलावटी मिठाई सप्लाई करने वाले दुकानदार पर होगा जुर्माना 
एसएमओ डाॅ. एमके भादू ने बताया कि त्योहारी सीजन के दौरान बाजार में मिलावटी मिठाइयों की रोकथाम के लिए जिला विभाग टीम के साथ सैम्पल लिए जाएगें। यदि मिठाइयों में कोई मिलावट पाई जाती है तो जुर्माना सजा के प्रावधान के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
डबवाली में मिठाई दुकान संचालकों की बैठक लेते एसएमओ डाॅ. एमके भादू अन्य। 
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें