Young Flame Young Flame Author
Title: अनाज मंडी में किसानों की परेशानियों पर सरकार का ध्यान नहीं : चौटाला
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
इनेलो नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने अनाज मंडी में धान खरीद की स्थिति देखी  #dabwalinews.com अनाज मंडी स्थित इनेलो कार्यालय म...



इनेलो नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने अनाज मंडी में धान खरीद की स्थिति देखी 
#dabwalinews.com
अनाज मंडी स्थित इनेलो कार्यालय में रविवार को इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा इनेलो नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने कार्यकर्ताओं से चर्चा की। साथ ही अनाज मंडी में धान खरीद की स्थिति देखी। इनेलो युवा नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि धान खरीद में सरकार मिलीभगत कर रही है। फसल लेकर मंडियों में किसान परेशान बैठे है लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार को इससे कोई सरोकार नहीं है।
उन्होंने कहा कि इनेलो किसानों की समस्याओं को लेकर लगातार लड़ाई लड़ती रही इन मुद्दों को लेकर लोकसभा विधानसभा में भी इनेलो के सांसद विधायक किसानों के साथ हो रही नाइंसाफी का मुद्दा उठाएंगे। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि इनेलो के विधायक दल ने बीते दिवस ही राज्यपाल को मिलकर धान खरीद बाजरा खरीद में किसानों के साथ हो रही लूट के विरोध में ज्ञापन में सौंपा था जिसमें राज्यपाल ने आश्वासन देते हुए मामले की जांच करवाने स्वयं मंडियों का दौरा करने की बात कही थी। किसान राजा सिंह, मनदीप, कौर सिंह अन्य ने दिग्विजय सिंह को बताया कि प्रदेश सरकार हाइब्रिड धान की बोली नहीं लगा रही है और किसान पिछले 20 दिनों से हाइब्रिड धान ढेरी किए मंडी में बैठे है। किसानों ने बताया कि धान की बोली मंडी में सप्ताह में सिर्फ 2 बार ही हो रही है और धान का उठान बहुत धीरे हो रहा है। इसके अलावा धान में नमी बताकर धान की फसल के उचित दाम नहीं मिल रहे है।
जिस कारण कई किसानों को कम दाम पर व्यापारियों को फसल बेचने पर मजबूर होना पड़ रहा है। किसानों की समस्याएं सुनने के बाद दिग्विजय चौटाला ने कहा कि इनेलो पार्टी किसानों के साथ खड़ी है और वह स्वयं अधिकारियों से भी सख्ती से बात कर समस्या सुलझाने को कहेंगे। वर्तमान समय में जब से प्रदेश सरकार बनी है तब से ही किसान आयोग के अध्यक्ष का पद खाली पड़ा है। मौके पर पूर्व विधायक डाॅ. सीताराम, पूर्व चेयरमैन कुलदीप सिंह जम्मू, गिरधारी बिस्सू गोदिका, धैलाराम सुथार गोरीवाला, अजनीश कनेड़ी, आढ़ती टेकचंद, रणदीप सिंह अन्य मौजूद थे।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top