Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: चौटाला में 22 दिनों में दूसरी वारदात, बिश्नोई परिवार में जेठ की मौत के बाद छोटी बहू ने खुद को मारी गोली Woman shot dead herself in chautala
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com गांव चौटाला में गुरुवार को गोली चलने से एक बार फिर दहशत का माहौल है। डबल मर्डर में 22 दिन पहले मौत का शिकार ...


#dabwalinews.com
गांव चौटाला में गुरुवार को गोली चलने से एक बार फिर दहशत का माहौल है। डबल मर्डर में 22 दिन पहले मौत का शिकार बने सतबीर पूनिया के परिवार में फिर से मातम पसर गया। सतबीर के छोटे भाई रविंद्र की पत्नी अलका ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली। अब वह कोमा में है। परिवार वालों का कहना है कि अलका ने पारिवारिक कारणों के चलते आत्महत्या की है।
उल्लेखनीय है कि बीती 24 जनवरी को भीलवाड़ा में राजस्थान की एसओजी, गुलाबपुरा चित्तौड़ पुलिस ने हथियार सप्लाई होने की मुखबिरी पर संयुक्त कार्यवाही की थ। पुलिस टीम ने एनएच 79 अजमेर रोड पर स्थित कंवलियास टोल नाके पर नाकाबंदी कर चित्तौड़ की ओर से रही बोलेरो जीप की तलाशी लेते हुए 4 किलो अफीम पकड़ी थी। गुलाबपुरा थाना निरीक्षक रविंद्र प्रताप सिंह के अनुसार गाड़ी में अलका के पिता राजाराम बिश्नोई धर्मपाल निवासी तंदूरवाली को गिरफ्तार किया था।
पूछताछ में उन्होंने चित्तौड़ से अफीम हनुमानगढ़ में लाने की बात कबूली थी। बाद में इसी मामले में अलका के भाई की अरुण को भी गिरफ्तार किया था। इससे जयपुर पुलिस ने जांच में बेटे सहित अन्य लोगों से भी पूछताछ की थी। अलका के अन्य परिजन मामले के चलते जयपुर में गए हुए थे। इसी सदमे में अलका ने घर में अंदर बने कमरे के संदूक से अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से सिर में कनपटी से पीछे गाेली मार ली। नजदीक से शूट होने से गोली उसके सिर से पार हो गई और दिमाग सहित सिर का अंदरूनी हिस्सा फटने से काफी खून बह गया। हालांकि मौके पर उसके पति रविंद्र तथा उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी हंसराज ने परिवार के साथ महिला को तुरंत उठाकर डबवाली अस्पताल में पहुंचाया।
डबवाली अस्पताल में गोली से गंभीर घायल मरीज के लिए कोई इलाज की सुविधा नहीं होने से उसे तुरंत रेफर कर दिया। अस्पताल से एंबुलेंस में तुरंत बठिंडा के मैक्स अस्पताल में पहुंचाया गया। जिससे उसे उपचाराधीन किया गया। अस्पताल पहुंचे लोगों ने बताया कि घटना के एक घंटे उपरांत तक घायल अलका को सुपरस्पैस्टलिटी अस्पताल में पहुंचाकर उपचाराधीन करा दिया गया। जहां उसका उपचार चल रहा है। परिजनों ने बताया कि अस्पताल के न्यूरोसर्जन ने आगामी 24 घंटे में स्थिति साफ होने की बात कही है।
बिश्नोई परिवार के लिए विकट स्थिति
डबल मर्डर में मृतक सतबीर का परिवार विकट परिस्थितियों से गुजर रहा है। दो भाईयाें में पहले बड़े का मर्डर हो गया अौर हमलावर गांव के ही निकलने से दुश्मनी की स्थिति है जबकि सतबीर के छोटे भाई रविंद्र को अपनी परिवार की सुरक्षा के साथ साथ सभी जिम्मेवारियों को संभालने के साथ मर्डर केस में दिवंगत भाई के हत्यारों को सजा दिलवानी है। ऐसे में उसकी पत्नी की स्थिति गंभीर होने से परिवार में मां सहित परिजनों की स्थिति विकट हो गई है। दोनों भाईयों के 4 बच्चों की पढ़ाई भी लगातार प्रभावित हो रही है वहीं खेती भी संभालना मुश्किल हाे गया है। घटना के बाद पुलिस पहुंचने के दौरान से रात तक बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने पीड़ित के घर पहुंचकर अफसोस जताया।
बेटे की मौत का सदमा क्या कम था, अब ये क्या हो गया
अलका की सास ने भास्कर से विशेष बातचीत में बताया कि सुबह बच्चे स्कूल चले गए और परिवार के लोग घर में थे। रविंद्र उसकी पत्नी भी दोनों घर थे और दोपहर में रविंद्र के लिए उसकी पत्नी अलका रसोई में ज्यूस बना रही थी। अचानक अंदर साळ ।बड़ा कमरा। में आवाज अाई तो परिवार के लाेग दौड़कर पहुंचे। देखा कि उसके सिर से खून रहा था। बाद में तुरंत अस्पताल ले गए भगवान से दुआ है कि उसको कुछ हो, पहले ही बेटे का दुख जर ।सहन। नहीं हो रहा। लगता नहीं था कि ऐसा हो जाएगा और अलका तो अपने काम में लगी हुई थी पता नहीं कब वह अंदर जाकर रिवॉल्वर निकाल लाई।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें