Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: दोस्त शैली के साथ डबवाली पहुंचे पूर्व हॉकी कप्तान सरदारा
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com भारतीय हाकी टीम के पूर्व कप्तान सरदारा सिंह खेल के साथ-साथ मित्रता निभाने में भी आगे हैं। शुक्रवार को वे चंडीगढ़ से जीव...


#dabwalinews.com
भारतीय हाकी टीम के पूर्व कप्तान सरदारा सिंह खेल के साथ-साथ मित्रता निभाने में भी आगे हैं। शुक्रवार को वे चंडीगढ़ से जीवननगर स्थित अपने घर में जाते समय अपने दोस्त सर्वजोत सिंह शैली को छोड़ने के लिए गांव अबूबशहर पहुंचे। डबवाली में रुककर दोनों ने शॉ¨पग की।1डबवाली में कोच सुखजीत सिंह सुखी के पास भी कुछ पल बिताए। इसके बाद शॉ¨पग करने के लिए सब्जी मंडी के नजदीक स्थित सतनाम सिंह नामधारी की दुकान पर चले गए। युवाओं ने सरदारा सिंह के साथ सेल्फी की। सरदारा सिंह ने नौजवानों को नशों से दूर रहने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि पूरी मेहनत व लग्न से आगे बढ़े। पहली बार सफलता न भी मिले तो घबराएं नहीं। बार-बार प्रयास करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी। इसके बाद वे अपने दोस्त के साथ गांव अबूबशहर की ओर रवाना हो गए। इस अवसर पर फतेह सिंह आजाद, इक ओंकार सिंह नामधारी, जवाहर सिंह हैप्पी, भोला गुप्ता, डा. राधेराम, हैप्पी आहूजा, लीला गुप्ता मौजूद थे।1कौन हैं शैली: शैली हॉकी का मंझा हुआ खिलाड़ी है। मूल रूप से गांव अबूबशहर का रहने वाला है। सरदारा सिंह के साथ गहरी दोस्ती है। दोनों ने काफी समय एक साथ चंडीगढ़ में बिताया है। शैली पौलेंड के एक क्लब के लिए हॉकी खेलता था। एक हादसे में पिता की मृत्यु के बाद वापिस गांव लौट आया।संवाद सहयोगी, डबवाली: भारतीय हाकी टीम के पूर्व कप्तान सरदारा सिंह खेल के साथ-साथ मित्रता निभाने में भी आगे हैं। शुक्रवार को वे चंडीगढ़ से जीवननगर स्थित अपने घर में जाते समय अपने दोस्त सर्वजोत सिंह शैली को छोड़ने के लिए गांव अबूबशहर पहुंचे। डबवाली में रुककर दोनों ने शॉ¨पग की।डबवाली में कोच सुखजीत सिंह सुखी के पास भी कुछ पल बिताए। इसके बाद शॉ¨पग करने के लिए सब्जी मंडी के नजदीक स्थित सतनाम सिंह नामधारी की दुकान पर चले गए। युवाओं ने सरदारा सिंह के साथ सेल्फी की। सरदारा सिंह ने नौजवानों को नशों से दूर रहने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि पूरी मेहनत व लग्न से आगे बढ़े। पहली बार सफलता न भी मिले तो घबराएं नहीं। बार-बार प्रयास करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी। इसके बाद वे अपने दोस्त के साथ गांव अबूबशहर की ओर रवाना हो गए। इस अवसर पर फतेह सिंह आजाद, इक ओंकार सिंह नामधारी, जवाहर सिंह हैप्पी, भोला गुप्ता, डा. राधेराम, हैप्पी आहूजा, लीला गुप्ता मौजूद थे।
कौन हैं शैली: शैली हॉकी का मंझा हुआ खिलाड़ी है। मूल रूप से गांव अबूबशहर का रहने वाला है। सरदारा सिंह के साथ गहरी दोस्ती है। दोनों ने काफी समय एक साथ चंडीगढ़ में बिताया है। शैली पौलेंड के एक क्लब के लिए हॉकी खेलता था। एक हादसे में पिता की मृत्यु के बाद वापिस गांव लौट आया।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top