Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: वाह री व्यवस्था, पंडाल के नीचे परीक्षा Shame Board Examination under Tent
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com सिरसा: हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा में ड्यूल डेस्क पर बैठने के दावे परीक्षा के पह...
#dabwalinews.com
सिरसा: हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा में ड्यूल डेस्क पर बैठने के दावे परीक्षा के पहले दिन ही फेल होते नजर आए। स्कूलों में विद्यार्थियों को रूम तो दूर कई परीक्षा केंद्रों में टेंट के नीचे बैठकर परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। वहीं ड्यूल डेस्क होने के बाद भी परीक्षा केंद्रों में विद्यार्थियों को नीचे बैठकर परीक्षा ली गई। बोर्ड ने कक्षा रूम में सिर्फ 24 परीक्षार्थी बिठाने के निर्देश दिये थे। मगर निजी स्कूलों में छोटे रूम होने से विद्यार्थियों के ड्यूल डेस्क पर बैठना तो दूर फर्श पर बैठने की व्यवस्था भी नहीं मिली। बोर्ड की 10वीं व 12वीं कक्षा के लिए 91 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा हुई। जिसमें करीब 25 हजार परीक्षार्थी ने परीक्षा दी।ड्यूल डेस्क होने के बाद भी नीचे बैठकर दी परीक्षा:
कीर्ति नगर के राजकीय स्कूल में ड्यूल डेस्क होने के बाद भी परीक्षार्थी को नीचे बैठाकर परीक्षा ली गई। केंद्र में दसवीं कक्षा के 320 परीक्षार्थी ने परीक्षा दी। स्कूल में परीक्षा से पहले ही ड्यूल डेस्क बाहर रखवा दिए गये। इसके बाद परीक्षार्थियों को नीचे बैठा दिया गया। जिससे बोर्ड के दावे यहां पर ड्यूल डेस्क पर परीक्षा लेने के फेल नजर आऐ। 1 वहीं दूसरे स्कूलों में भी इस तरह विद्यार्थी परीक्षा देते नजर आए। डबवाली फाटक स्थित यादव विद्या मंदिर में छोटे रूम होने के कारण ड्यूल डेस्क पर परीक्षार्थियों को नहीं बैठया गया। स्कूल में परीक्षार्थिओं को नीचे बैठकर ही परीक्षा ली गई।  जिससे विद्यार्थियों को काफी परेशानी ङोलनी पड़ी। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने दसवीं व बारहवीं कक्षा की परीक्षा के अंदर जिस निजी स्कूल में परीक्षा केंद्र बनाया गया। बोर्ड ने उसी स्कूल का स्टाफ तैनात किया हुआ था। दसवीं कक्षा के परीक्षार्थी उत्तरपुस्तिका में व्यक्तिगत जानकारी गलत भर रहे थे। जब परीक्षार्थी गलत भरने के बारे में तैनात स्टाफ से पूछे रहे थे। निजी स्कूलों के स्टाफ को इसके बारे में भी जानकारी नहीं थी।बेगू रोड स्थित एक निजी स्कूल में ऐसी व्यवस्था देखकर बखूबी अनुमान लगाया जा सकता है कि आज के दौर में भी परीक्षार्थियों को बेहतर सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती। तस्वीर में नजर आती स्थिति जहां परीक्षार्थियों के लिए जगह कम होने पर टेंट के नीचे बिना डेस्क के परीक्षा देनी पड़ी। शायद ऐसी व्यवस्था तो आज कल विवाह शादी में भी पसंद नहीं करते।आदित्य हाई स्कूल के परीक्षा केंद्र में बनाए गए टैंट के नीचे बैठकर परीक्षा देते छात्र।
 परीक्षा जिले भर में शांतिपूर्वक संपन्न हुई। निजी स्कूलों में छोटे रूम होने के कारण थोड़ी परेशानी हुई। 1डॉ. यज्ञदत वर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी सिरसा
394 छात्र पहुंचे पेपर देने 1बेगू रोड स्थित आदित्य हाई स्कूल में हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने दसवीं कक्षा के लिए परीक्षा केंद्र तो बना दिया। इस स्कूल में मात्र 8 रूम ही बने हुए हैं। जिसमें से पांच रूम बिलकुल छोटे हैं। जबकि इस परीक्षा केंद्र में 394 परीक्षार्थी परीक्षा के लिए पहुंचे। केंद्र में परीक्षार्थी की संख्या ज्यादा होने से आनन-फानन में टेंट लगाया गया। इसके बाद परीक्षार्थी को परीक्षा के लिए बैठया गया। जिसमें करीब 100 परीक्षार्थी झुंड के रूप में परीक्षा देते नजर आए।
परीक्षा केंद्रों में हामगार्ड किए तैनात
बोर्ड की परीक्षा को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने पुलिस अधीक्षक से केंद्रों पर सुरक्षा मांगी गई। मगर स्कूलों में बने कई परीक्षा केंद्रों पर होमगार्ड के जवान तैनात किए गये। जिन केंद्रों पर होमगार्ड के जवान तैनात थे। वहां पर गेट के अंदर व बाहर परीक्षार्थियों के साथ आने वाले अभिभावकों की भीड़ लगी हुई थी।
आइडी प्रूफ नहीं होने से कई छात्र परीक्षा से वंचित1हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की दसवीं व बारहवीं कक्षा की रिअपीयर व ओपन बोर्ड की परीक्षा देने वालों के लिए आई डी प्रूफ व फोटो जरूरी किया हुआ था। मगर कई परीक्षार्थी आईडी प्रूफ व फोटो लेकर नहीं पहुंचे। जिसको लेकर बिना आईडी प्रूफ के आने वाले परीक्षार्थीयों को परीक्षा में नहीं बैठने दिया।
बोर्ड परीक्षा में तीन नकलची पकड़े 
 हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की दसवीं व बारहवीं कक्षा की परीक्षा के दौरान मंगलवार को उड़नदस्तों ने परीक्षा केंद्रों का समय-समय पर औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान तीन परीक्षार्थियों को नकल करते हुए पकड़ा। बोर्ड ने पकड़े गये परीक्षार्थियों पर यूएमसी बना दी।
परीक्षा केंद्र दूर होने से छात्रों व अभिभावकों को हुई परेशानी बोर्ड ने परीक्षा केंद्रों को बनाने में दूरी का भी कोई ध्यान नहीं रखा। जिसके कारण परीक्षार्थी परीक्षा केंद्रों तक पहुंचने के लिए भटकते रहे है। खैरपुर के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूल में परीक्षा केंद्र बनाया गया। इस स्कूल से परीक्षा केंद्र की दूरी करीब दो किलोमीटर है। जिसके परीक्षा देने वाले विद्यार्थी भटकते रहे।
हरियाणा बोर्ड की 11 वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षा में ड्यूल डेस्क पर नहीं टेंट के नीचे बैठने को मजबूर हैं परीक्षार्थी










प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें