Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: एसवाईएल पर इनेलो का प्रदर्शन, 6 घंटे हाईवे पर रहा कब्जा पुलिस ने शहर के चारों ओर से डाइवर्ट किया ट्रैफिक
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
पंजाब के वाहन रोकने की बात कहकर हरियाणा, राजस्थान के वाहनों को भी जाने नहीं दिया शहर में सिल्वर जुबली चौक पर सुबह साढ़े 9 बजे स...


पंजाब के वाहन रोकने की बात कहकर हरियाणा, राजस्थान के वाहनों को भी जाने नहीं दिया

शहर में सिल्वर जुबली चौक पर सुबह साढ़े 9 बजे से बठिंडा रोड हाईवे तथा मलोट रोड हाईवे इनेलो कार्यकर्ताओं ने जाम कर दिया। इससे पहले प्रशासन ने पंजाब को जाने वाली बसें बंद कर दी जबकि शहर के चारों ओर लिंक रोड से ट्रेफिक डाइवर्ट कर दिया। जिससे धरनास्थल पर वाहन नहीं आए बावजूद इसके तपती दोपहर में काफी कार्यकर्ता हाईवे के बीच धरना लगाकर बैठे रहे।
शहर में सोमवार को सुबह से प्रशासन और पुलिस सतर्कता बरतते हुए सिल्वर जुबली चौक पर फोर्स की तैनाती कर दी गई बावजूद इसके सुबह करीब साढ़े 9 बजे इनेलो कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर पंजाब की ओर से आई कारों को रोक दिया। दोनों कार चालक पहले ताे हाईवे पर जाने देने की गुहार करते रहे लेकिन इनेलो कार्यकर्ताओं ने उन्हें फूल भेंट करने के साथ साथ हाथ जोड़कर डाइवर्ट रास्ते से आने की अपील की। जिससे वाहन चालक वापिस चले गए। वाहन रोके जाने का पता चलने पर पुलिस प्रशासन ने नाकेबंदी करते हुए सभी वाहनों को डाइवर्ट करते हुए चौक की बजाय दूसरे रास्तों से निकाल दिया। इस दौरान धरने पर सांसद चरणजीत सिंह रोडी युवा इनेलो नेता अर्जुन चौटाला के नेतृत्व में विधायक, डॉ. सीताराम, इनेलो हलकाध्यक्ष सर्वजीत मसीतां, कृष्णा फौगाट, रुकमा सिहाग, आशा वाल्मिकी, ममता मिढ़ा, सोमप्रकाश बिश्नोई, रणदीप मटदादू, जगसीर मांगेआना, मेजर सिंह भट्टी, टेकचंद, राकेश, अंकुश मोंगा, बलजीत सिंह, बुध सिंह मतड़, जोगेंद्र सिंह, मलकीत सूच, कुलदीप जम्मू, संतलाल जंडवाला अन्य मौजूद थे। शहर से पंजाब को आने जाने वाले यात्रियो को परेशानी का सामना करना पड़ा। गर्मी में बस स्टैंड से पंजाब सीमा तक कोई वाहन नहीं मिलने से लोग अपना सामान बच्चों को उठाकर पैदल धरना स्थल से गुजरते जबकि सीमा के पास से कुछ ऑटो चालकों ने आेवरलोड लोगों को भरकर पंजाब में डूमवाली तक पहुंचाया। जिसकी एवज में 20 से 30 रुपये चार्ज किए गए। इस दौरान वाहनों को वापस ले जाने से भी परेशानी का सामना करना पड़ा और वाहन चालकों यात्रियों ने कहा कि रोष प्रदर्शन अधिकारियों नेताआं के कार्यालयों घरों पर होना चाहिए ताकि आमजन की बजाय अधिकारियों को ही परेशानी हो। हालांकि स्थिति का जायजा लेन के लिए एसपी खुद मौके पर पहुंचे और निरीक्षण किया।
वाहन चालकों ने लिंक रोड का लिया सहारा
 
शहर में मलाेट रोड से आने वाले वाहन चालक आरओबी के नीचे शहर में प्रवेश कर गए इसी प्रकार चौटाला रोड से आन वाले वाहनों को पुलिस ने शेरगढ़ से गांव डबवाली डाइवर्ट कर दिया जबकि सिरसा से आने वाले वाहनों को वाया शेरगढ़ शहर में भेजा गया रास्ता रोको आंदोलन के दौरान सोमवार को इनेलो कार्यकर्ताओं से अधिक पुलिस ने ज्यादा वाहन रोके। आंदोलन का असर कम करने के लिए अपनाई गई पुलिस की यह रणनीति काफी कारगर रही। हालांकि दोपहर बाद करीब डेढ़ बजे स्थिति का जायजा लेने के लिए बठिंडा के डीसी विप्रभा लाकड़ा, एसडीएम साक्षी साहनी ने रेस्ट हाउस पहुंचकर एसडीएम संगीता तेत्रवाल से चर्चा की और बेहतर कोआर्डिनेशन को आगे भी कायम रखने का आह्वान किया।




प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें