BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

गुरुवार, अक्तूबर 12, 2017

CBI के बाबा से 30 सवाल, जवाब एक- मुझे कुछ नहीं पता

#dabwalinews.com
सीबीआई ने यहां की सुनरिया जेल में कैद डेरा सच्चा सौदा मुखी गुरमीत राम रहीम सिंह इसां से लोगों को नपुंंसक बनाने के केस में पूछताछ की। उससे 30 सवाल पूछे गए, लेकिन किसी भी सवाल का जवाब नहीं मिला। गुरमीत ने सीबीआई के हर सवाल पर कहा कि उसे कुछ नहीं पता। सूत्रों के अनुसार, गुरमीत सीबीआई टीम से ही उल्टे सवाल करने लगा। कहा कि उसे कानून की पूरी समझ है। पहले सीबीआई टीम ने उससे पूछताछ करने की इजाजत के कागजात दिखाएं। हालांकि, बाद में वह बात करने को राजी हो गया। 
क्या है नपुंसक बनाने का मामला...
बाबा पर अपने ही 400 समर्थकों और अनुयायियों को नपुंसक बनाने का केस भी चल रहा है। इनकी जांच सीबीआई कर रही है। 28 अगस्त को पंचकूला में दंगा भड़काने के आरोप में कई डेरा समर्थकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इनमें से चार समर्थक मेडिकल रिपोर्ट में नपुंसक पाए गए हैं।

सीबीआई ने क्या पूछा?
- सीबीआई ने पूछा- आखिर डेरामुखी का ऐसा क्या असर था कि समर्थक नपुंसक बनने को तैयार हो गए?
- सीबीआई के सूत्रों ने बताया- "सीबीआई ने मंगलवार को जेल जाकर डेरामुखी से पहला सवाल किया कि कितने लोगों को नपुंसक बनाया? डेरामुखी ने जवाब नहीं दिया। फिर पूछा कि जिन लोगों को नपुंसक बनाया, उन्हें ऐसा क्या करने के लिए कैसे मजबूर किया? किस तरह के प्रभाव में साधक नपुंसक बनने को राजी हुए? कितने लोग हैं, जिन्हें नपुंसक बनाया गया? डेरे के और किन लोगों ने साधकों को ऐसा करने के लिए मनाया? इसी तरह के सवालों पर डेरामुखी ने सीबीबाई टीम से सिर्फ इतना कहा कि उसे कुछ नहीं पता।
बाबा के सेवादार ने बताया था: मैं गुफा के पास होता था, इसलिए नपुंसक बनाया
- कुछ दिन पहले बाबा गुरमीत सिंह के बेहद करीबी अनुयायी ने कबूला था कि डेरा मुखी ने ही उसे नपुंसक बनाया। सिर्फ इसलिए क्योंकि वह सिरसा डेरे में गुफा के आसपास ही रहता था। गुफा में ही सारे अनैतिक और गलत काम होते थे।
बाबा गुरमीत राम रहीम को किस रेप केस में हुई सजा, क्या है पूरा मामला?
- 2002 में एक साध्वी ने गुमनाम चिट्ठी लिखी। इसमें बताया गया था कि कैसे डेरा सच्चा सौदा के अंदर लड़कियों का सेक्शुअल हैरेसमेंट होता था। यह चिट्ठी पंजाब और हरियाणा कोर्ट को भी भेजी गई थी। इसके बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ यौन शोषण का केस शुरू हुआ। सीबीआई ने जांच शुरू की। 15 साल बाद सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिया।
- माना जाता है कि ये चिट्ठी राम रहीम के 20 साल ड्राइवर रहे रणजीत सिंह की बहन ने लिखी थी। बाद में रणजीत का मर्डर हो गया था। इसका शक भी बाबा समर्थकों पर जताया गया। यह केस भी पंचकुला की सीबीआई कोर्ट में चल रहा है।
- दो साध्वियों के रेप केस में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को CBI की स्पेशल कोर्ट ने 10-10 साल की सजा सुनाई। यानी डेरा चीफ को कुल 20 साल जेल में गुजारने होंगे। सजा के खिलाफ डेरा सच्चा सौदा ने हाईकोर्ट में अपील की। यह रेप केस 15 साल चला था।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज