Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: शिकारी फैला रहे जाल, हो जाओ सावाधान लड़कियों से दोस्ती कर हजारों रूपये प्रति कमाने का यह कैसा धंधा
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com  बढ़ती जरूरतें और उस पर बढ़ती महंगाई के कारण आज के समय में बेरोजगारी का दंश झेल पाना बड़ा कठिन हो गया है। इसी उधेड़बन म...
#dabwalinews.com
 बढ़ती जरूरतें और उस पर बढ़ती महंगाई के कारण आज के समय में बेरोजगारी का दंश झेल पाना बड़ा कठिन हो गया है। इसी उधेड़बन में युवा वर्ग को रोजगार उपलब्ध करवाने के दावे का प्रचार-प्रसार कर अनेक लोगों ने इस तरह अपनी मायाजाल में फंसा लेते हैं कि फिर रोजगार मिलना तो दूर जो पास में होता है उसी को भी खो देते है। बेरोजार युवकों की भावनाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है।
डबवाली शहर के विभिन्न इलाकों और यहां तक कि बस अड्डा परिसर में इस तरह के पोस्टर चस्पा किए गए हैं जो संदेह सा प्रकट करते जान पड़ते है। इन पर जो तहरीर लिखी गई हैं वह हैरान और परेशान करने वाली। एक बेहद सुंदर लडक़ी की तस्वीर के साथ रियल फैं्रडशिप कल्ब नामक संस्थान का नाम अंकित है और उसके बाद लिखा है कि ‘अपने शहर में कीजिए हाई प्रोफाईल फीमेल, कॉलेज गर्ल,एनआरआई, एयर हॉस्टैस संग फै्रंडशिप और मिटिंग करके कमाएं 7 हजार से 28 हजार रूपये प्रति माह।’ इसके नीचे फोन करने का समय दिया गया है सुबह 9 से 5 बजे तक और उसके बाद दो मोबाइल नम्बर दिए गए हैं। अब इन पोस्टरों का क्या मतलब और क्या महत्व है इसका खुलासा करना बेहद जरूरी हो गया है।
यदि यह कहा जाए कि यह एक इस तरह का कल्ब है  जो बेराजगार युवकों को पैसा कमाने का लोभ देकर उन्हे ठगी का शिकार बनाने का काम करते हैं और इनका नैटवर्क न जाने कहां-कहां तक फैला है?। सबसे बड़ी विडम्बना तो यह है कि एक बार यदि इनके झांसे में कोई युवक फंस गया तो फिर बाहर निकलने का रास्ता तक दिखाई नहीं देता। ऐसे में युवा अपनी जमा पूंजी तो गंवा ही बैठता है तो वहीं बार-बार ब्लैकमेल  कर उन्हें प्रताडि़त भी किया जाता है और मान-सम्मान पर भी बन आती है।
फोन किया तो यह बताया, जरूर पढ़े
इस विषय को लेकर जब ‘डबवाली न्यूज़ .कॉम ’ के संवाददाता ने पोस्टर पर अंकित मोबाइल नम्बर से संपर्क किया तो दूसरी ओर से बताया गया कि कोई भी बेरोजगार कल्ब को फिस के रूप में 1050 रूपये जमा करवाकर पहले कल्ब का सदस्य बने और इसके बाद हाई-प्रोफाइल महिला से मीटिंग करवाई जाएगी और मीटिंग तो एक ओपचारिकता मात्र होगी सच यह होगा कि वो महिला आपकों एक रात का 7 हजार से 9 हजार रूपये देगी और आपकों उसके साथ फिजिलकल रिलेशन(शरीरिक संबंध) बनाने होंगे। इस तरह आप पैसा कमा सकते है। फोन पर बातचीत करने वाला व्यक्ति शहर का नाम पूछता है और फिर एक हजार 50 रूपये जमा करवाने के लिए स्थान व समय निर्धारित करता है। अगर  उनकी बात से कोई सहमत हो जाता है तो वे हर शहर में बैठे अपने सदस्य का ठिकाना बाताते हैं जहां आपकों यह फिस जाम करवानी होगी। यह कैसा धंधा है यह अब आप स्वयं ही समझ लें। एक बात और फोन पर बात करने वाला व्यक्ति कल्ब सदस्य बनने की फीस जमा करवाने के लिए इतना उत्साहित होता है कि वो तुरंत आपके आस-पास के क्षेत्र में ही मिलने की बात कहता है।
यूं शुरू हो जाता है ब्लैक मेल करने का सिलसिला
 इनके मायाजाल में केवल बेरोजगार ही नहीं बल्कि बाल-बच्चेदार और अच्छा बिजनेस अथवा जॉब करने वाला व्यक्ति भी इनका शिकार हो जाता है। सूत्र बताते हैं कि यह एक गिरोह होता है जिनमें लडक़े और लड़कियां दोनों शामिल होते हैं। फोन करने और दोस्ती कर मौज करने की इच्छा रखने वाले को यह अपना शिकार बनाते हैं। कल्ब का सदस्य बनाने के नाम पर मामूली राशि ली जाती है और उसके बाद सुंदर-सुंदर लड़कियों से फोन व सीधे तौर पर मीटिंग करवाने का काम किया जाता है। सूत्रों की माने तो एक बार की मीटिंग के बाद आगे की कार्रवाही आरंभ कर दी जाती है और सुंदर महिला दोस्ती के नाम पर सामने वाले को फिजिकल रिलेशन बनाने के लिए ऑफर करती है और यहां तक की पैसा देने की भी बात करती है। लेकिन जैसे ही महिला मित्र से अकेले में मिलता है तो महिला अपना रंग दिखाना आरंभ करती है और जबरदस्ती अथवा वीडियों का हवाला देकर ब्लैकमेल करने का सिलसिला आरंभ हो जाता है। जिसके पास जितना धन होगा उतनी ही डिमांड की जाएगी। फिर बदनामी के भय से उससे अच्छा ,खासा धन बटोर लिया जाता है।

प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें