Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: सडक़ों के सीने से हटा अतिक्रमण का बोझ सडक़ों के सीने से हटा अतिक्रमण का बोझ, यातायात पुलिस की मेहनत रंग लाई, दुकानदारों को भविष्य में अतिक्रमण न करने के दिए आदेश
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली - लंबे समय से शहर की सडक़ों के सीने पर अतिक्रमण का बोझ बना हुआ था। शनिवार को सुबह बाजार खुलते ही नगर परिषद के सफाई निरिक्षक सहित ...

डबवाली -
लंबे समय से शहर की सडक़ों के सीने पर अतिक्रमण का बोझ बना हुआ था। शनिवार को सुबह बाजार खुलते ही नगर परिषद के सफाई निरिक्षक सहित यातायात पुलिस प्रभारी राजेश कुमार के नेतृत्व में लगभग आधा दर्जन पुलिस कर्मियों द्वारा  अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। कॉलोनी  रोड, रेलवे रोड, बस स्टैंड रोड के दुकानदारों द्वारा दुकानों से बाहर लगाए गए सामान को हटवाया गया तो वहीं अनेक स्थानों पर लगाए गए होर्डिंग और अन्य सामान को नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों ने टै्रक्टर-ट्राली में डालकर साथ ले गए।
यातायात पुलिस का यह अभियान यहीं नहीं थमा बस स्टेंड व चौटाला  रोड पर लगी फल-सब्जियों की रेहडिय़ों को हटवाया गया तो वहीं दुकानदारों द्वार सडक़ के किनारे तक लगा रखे फल-सब्जियों के अड्डों को भी हटवाकर अतिक्रमण का दंश झेल रहे इस मार्ग को चौड़ा करवाने का काम किया गया। इसके अतिरिक्त अवैध रूप से सडक़ किनारे दो पहिया व चार पहिया वाहनों के चालान काटे गए तो वहीं बस अड्डा परिसर से बाहर रूकने वाली बसों के भी चालान काटने का सिलसिला बदस्तूर जारी रहा। यातायात पुलिस द्वारा अतिक्रमण हटाने का अभियान पूरी तरह सफलता में तबदील होता दिखाई दिया और शहर के मुख्य मार्ग चौड़े व खुले-खुले नजर आने लगे।

मीना बाजार को भी करवाया जाए अतिक्रमण से मुक्त
शहर के मुख्य बाजारों में शामिल मीना बाजार के दुकानदारों ने अतिक्रमण की सभी सीमाएं पार कर रखी है। यह बाजार अत्याधिक संकरा होने के साथ-साथ दुकानदारों द्वारा होर्डिंग व सामान को दुकानों से बाहर लगा देने से यह बाजार और भी अधिक संकरा होकर रह गया है। बता दें कि इस बाजार में रेडीमेड कपड़ों के साथ-साथ महिला सौंदर्यप्रसाधन की दुकानें अधिक हैं और इस बाजार में आने वालों में महिलाओं की संख्या अधिक होती है। यहां खीदरदारी करने के लिए आने वाली महिलाओं और अन्य लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस बाजार को अतिक्रमण से मुक्त करवाने की सख्त आवश्यकता है।

प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें