BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

सोमवार, नवंबर 12, 2018

ना राहें सख्त होती हैं, ना मंजिल दूर होती हैं..

डबवाली (सुखपाल)।
ना राहें सख्त होती हैं, ना मंजिल दूर होती है। मगर अहसास-ए नाकामी, थका देता है।। ये शब्द स्वतंत्रता सेनानी एवं सेवानिवृत मुख्याध्यापक मनोहर लाल आजाद ने एचपीएस में बाल दिवस के उपलक्ष्य में बच्चों को आर्शीवाद देने पहुंचे थे। इस अवसर पर उनके साथ सेवानिवृत जोनल मैनेजर राजीव आजाद व सीनियर सीटिजन वैल्फेयर के सचिव शशीकांत शर्मा व सदस्य राम सहाय मौजूद थे। उन्होंने विद्यार्थियों व स्टाफ  को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान पीढी के लिए सबसे अधिक प्रेरणा स्त्रोत स्वर्गीय राष्ट्रपति एपी.जे अब्दुल कलाम आजाद से बढ़ कर कोई नहीं। उन्होंने अब्दुल कलाम आजाद के जीवन पर प्रकाश डाला और कहा कि न्यूनतम आवश्यकताओं के साथ ही जीवन के बड़े लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है।
शशिकांत शर्मा ने कहा कि जीवन के हर पल को मस्ती के साथ जीना चाहिए और अध्यापकों के संग अपनी हर बात को शेयर जरूर करना चाहिए। राजीव आजाद ने भी विद्यार्थियों को सम्बोधित किया तथा दीवाली व बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनांए दी। तदोपरांत विद्यालय शिक्षा निदेशिका सुजाता सचदेवा ने आए हुए मेहमानों का आभार व्यक्त किया। विद्यार्थियों ने अपने प्रिंसीपल आचार्य रमेश सचदेवा के मुख्याध्यापक से नाना प्रकार की ज्ञानवद्र्धक प्रश्नोत्तरी की।
फोटो डीडी-3

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज