BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

रविवार, जनवरी 20, 2019

द बिग मैपल लीफ:- सोने का सिक्का इसकी वैल्यू 30 करोड़ 38 लाख से भी ज्यादा है और वजन करीब 100 किलो है,जानें इसके बारे में

द बिग मैपल लीफ दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सोने का सिक्का है। हाल ही में यह चर्चा में तब आया जब इसे चुराने वाले चार लोगों पर हाल ही में सुनवाई की गई। द बिग मैपल लीफ नाम के इस सिक्के का इतिहास क्या है, आइए जानते हैं:



साल 2017 में चार लोगों ने 'द बिग मैपल लीफ' नाम के सोने के सिक्के को जर्मनी स्थित बोड म्यूजियम से चुरा लिया था। इस मामले में बीते दिनों सुनवाई की गई। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस सिक्के का इतिहास भी बड़ा रोचक है। आइए जानते हैं:

The Big Maple Leaf  नाम के इस गोल्ड के सिक्के की कहानी शुरू होती है साल 2007 से। यह उन 5 सिक्कों में से एक है, जिन्हें रॉयल कनेडीअन मिंट (सिक्के बनाने वाला कारखाना) ने बनाया था। इस सिक्के में क्वीन एलिजाबेथ II की फोटो बनी है और इसे दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सिक्का माना जाता है। इसकी वैल्यू 30 करोड़ 38 लाख से भी ज्यादा है और वजन करीब 100 किलो है।

53 सेंटीमीटर के इस सिक्के को एक अज्ञात कलेक्टर से लोन पर लेकर बोड म्यूजियम (Bode Museum) में रखा गया था। कनाडाई मिंट नाम की कंपनी ने एक ऐसी तकनीक बनाई थी, जिसके ज़रिए वह 99.999 फीसदी शुद्ध सिक्के बनाता था। 1982 में इसने 99.99 फीसदी शुद्ध सोने का सिक्का बनाया था।



फोटो साभार: www.mint.ca
कनाडा के आर्टिस्ट ने बनाई सिक्के पर फोटो
सिक्के पर क्वीन एलिजाबेथ II की यह फोटो कनाडा की आर्टिस्ट सुजाना ब्लंट ने बनाई थी, जबकि सिक्के की दूसरी तरफ उन्होंने एक बड़ी मैपल लीफ की फोटो बनाई। 2007 में द बिग मैपल लीफ नाम के इस गोल्ड के सिक्के को गिनेस बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड में दुनिया के सबसे बड़े सिक्के के तौर पर दर्ज किया गया। दुनियाभर के लोगों के बीच इस सिक्के को लेकर काफी कौतूहल रहा है और शायद इसीलिए 2017 में यह चोरों की निगाहों में भी आ गया।

सिक्के को चुराने के लिए रचा गया गजब प्लान
27 मार्च 2017 को इस सिक्के को जर्मनी स्थित बोड म्यूजियम से चुरा लिया गया। चूंकि सिक्का काफी भारी था इसलिए इसे चुराने के लिए सीढ़ी, एक ठेला और रस्सी का इस्तेमाल किया। इस मामले में जांच के दौरान पुलिस ने चारों अभियुक्तों को तो गिरफ्तार कर लिया, लेकिन सिक्के का कहीं पता नहीं चला। हालांकि जांच के दौरान पुलिस को गोल्ड डस्ट मिली, जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि चोरों ने सिक्के को पिघलाकर इस्तेमाल कर लिया होगा। इस मामले में चारों अभियुक्त ट्रायल पर हैं और सिक्के का कहीं कुछ पता नहीं है।

साभार TIL NETWORK


कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज