BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

गुरुवार, जनवरी 10, 2019

डीआईपीआरओ सुरेंद्र कुमार वर्मा ने की समाज सेवा के क्षेत्र में अनूठी पहल, गरीब परिवारों की बेटियों को अपने वेतन का 5 फीसदी हिस्सा किया प्रदान

#dabwalinews 
सिरसा-
लिंगानुपात में सुधार एवं गरीब बेटियों को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी सुरेंद्र कुमार वर्मा ने गांव धिंगतानियां में गरीब परिवारों की बेटियों को अपने वेतन का 5 फीसदी हिस्सा प्रदान किया है। उन्होंने समाज सेवा के क्षेत्र में अनूठी पहल कर सराहनीय कदम उठाया है। 
डीआईपीआरओ सुरेंद्र वर्मा ने गांव धिंगतानियां के सरपंच कुलबीर सिंह पटीर व अन्य ग्रामीणों की मौजूदगी में राजकीय माध्यमिक विद्यालय धिंगतानियां में सातवीं कक्षा में पढने वाली मुस्कान, पांचवी कक्षा की छात्रा मनीषा, तीसरी कक्षा की छात्रा कोमल तथा राजकीय उच्च विद्यालय बकरियांवाली में पढने वाली धिंगतानियां गांव की नौवीं कक्षा की छात्रा पूजा, राजकीय माध्यमिक विद्यालय धिंगतानियां में सातवीं कक्षा में पढने वाली पल्लवी व रेणू, पांचवी कक्षा की छात्रा भतेरी, पहली कक्षा की छात्रा कोमल को भी अपने वेतन का हिस्सा प्रदान किया है। इस प्रेरणादायक समाज सेवा के कार्य के लिए उड़ीसा के महामहिम राज्यपाल प्रो. गणेशीलाल द्वारा डीआईपीआरओ सुरेंद्र कुमार वर्मा को सम्मानित किया जा चुका है।

उन्होंने गरीब परिवारों में पैदा हुई इन बेटियों को अपनी पढाई जारी रखने के लिए उनके परिजनों एवं बेटियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि बेटियां अपनी मेहनत व लग्र के बलबूते पर शिक्षा, खेल व अन्य क्षेत्रों में अपने माता पिता, गांव का नाम रोशन कर रही हैं। इसलिए बेटियों को भी शिक्षा के समान अवसर दिये जाने चाहिए। उन्होंने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ व नारी सशक्तिकरण की आवश्यकता पर भी विशेष बल दिया।

उल्लेखनीय है कि गत दिनों डीआईपीआरओ सुरेंद्र कुमार वर्मा ने महामहिम राज्यपाल प्रो. गणेशीलाल की प्रेरणा से सिरसा जिला में गांव धिंगतानियां से इस नई पहल की घोषणा की थी। इसके तहत उन्होंने अपने वेतन का 5 प्रतिशत हिस्सा उन परिवारों को जिनमें सिर्फ बेटियां ही बेटियां है और जो गरीब व जरुरतमंद हैं, को देने का फैसला किया था।
उन्होंने नए साल से सिरसा जिले के गांव धिंगतानियां में ऐसी गरीब व जरुरतमंद बेटियों की उच्च शिक्षा की पढाई को जारी रखने के लिए क्रियांवित करने का निर्णय लिया था ताकि माता पिता पैसे के अभाव में अपनी बेटियों को अच्छी शिक्षा से वंचित न रखे। उन्होंने जिला हिसार के अपने पैतृक गांव कोथ खुर्द से इस सामाजिक पहल की शुरूआत की थी। इस प्रकार डीआईपीआरओ वर्मा बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान की दिशा में प्रदेशभर में एक अग्रणी पहल कर दूसरों के लिए प्रेरणदायी बन रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज