BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

गुरुवार, जनवरी 31, 2019

धर्म परिवर्तन ;- निष्पक्ष और दोषियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही किये जाने की मांग की

डबवाली, 31जनवरी
 डबवाली के एक पादरी स्कूल द्वारा अपने विद्यार्थियों के कथित धर्म परिवर्तन को लेकर उत्पन्न विवाद के खुलासे के उपरांत आज अग्रवाल धर्मशाला के प्रांगण में एक जुट हुई शहर की विभिन्न धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं की पूरे मामले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए इसकी निष्पक्ष और दोषियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही किये जाने की मांग की। बैठक में भारी संख्या में उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों का इस मामले रोष खुल्लकर सामने आया और ईसाई मिशनरियों द्वारा शहर में योजनाबंध तरीके से धर्म परिवर्तन की चलाई चलाई जा रही मुहिम पर भी चिंता प्रकट करते हुए प्रशासन से ऐसी संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाये जाने की भी मांग की गई। शहर में धर्मंांतरण मामलों में अंकुश लगाने के लिए के लिए हुई लंबी चर्चा के उपरांत सर्वसम्मति से सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी राज कुमार बांसल के नेतृत्व में धर्म रक्षा समिति बनाई गई। 
मंगलवार देर शाम अग्रवाल धर्मशाला में संपन्न हुई बैठक में बैठक में सेंट जोसेफ स्कूल द्वारा शिक्षा की आड़ में कथित तौर पर धर्म परिवर्तन की खोली गई दुकान का खुलासा होने के बाद सरकार से स्कूल की ऐसी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाए जाने के साथ-साथ स्कूल की फंडिंग और इनकी कार्यप्रणाली की निष्पक्ष जांच की मांग की गई। बैठक में अग्रवाल सभा, अरोडवंश सभा, आर्य समाज, भारत विकास परिषद, सेवा भारती, बजरंग दल, सालासर पैदल यात्रा संघ, व्यापार मंडल, डबवाली संघर्ष समिति, ब्रहमण सभा, जैन सभा, नगर कूड़ा संघर्ष समिति, युवा गौशाला समिति, अग्रवाल पीरखाना सहित अन्य धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने शिरकत की। बैठक में पदारी स्कूल द्वारा पीडि़त कुलबीर सिंह के बच्चों को धर्मपरिवर्तन के लिए कथित तौर पर प्रताडि़त करने और बाद में दबाव बना कर उससे समझौता करने के प्राकरंण पर चर्चा कर उसकी कड़े शब्दों में भत्र्सना की गई। बैठक में उपस्थित पीडि़त कुलबीर सिंह ने स्पष्ट किया कि उनके बच्चों द्वारा स्कूल के खिलाफ दर्ज करवाई गई एफ आई आर के बाद स्कूल के प्रबंधकों द्वारा उनके बच्चों पर दबाव बना कर समझौता लिखवाया गया और उनकी नाबालिग बेटी बरगला कर कोर्ट में ब्यान करवाये गये। उन्हें कहा कि वे हिंदु धर्म पर की कायम है और मरते दम तक हिंदू रहेंगे। अग्रवाल सभा के सदस्य नीरज जिंदल, जिला कष्ट निवारण समिति के सदस्य सतीश जग्गा ने कहा कि अंग्रेजों के जमाने से ही देश में ईसाई धर्म के प्रचार व प्रसार के लिए ईसाई मशीनरी सक्रिय हैं। देश में शिक्षा व्यवस्था को उन्होंने अपने इस मिशन का मुख्य माध्यम बना कर लोभ व लालच दे कर धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा है। इसके लिए वे मलिन बस्तियों और अशिक्षित लोगों इनके निशाने पर है। इन पर अंकुश लगाने के लिए हिंदु संगठनों को एकजुट हो उपेक्षित और मुफलिसी में जीवन व्यतीत कर रहे परिवारों को मुख्य धारा में शामिल करने की आवश्यकता है। कूड़ा संघर्ष समिति के संयोजक नरेश सेठी , विजयंत शर्मा और प्रेम कनवाडिया ने बताया बीते वर्ष हिंदू धर्म से ईसाई बन चुके लोगों के विरोध के कारण ही वे न्यू बस स्टैंड स्टैंड रोड पर स्थित पार्किंग स्थल पर रामलीला नहीं कर पाए थे उन्होंने बताया कि उनकी रोड पर करीब 100 परिवार जो है धर्म परिवर्तन कर ईसाई बन चुके हैं और उन्हें हिंदु धर्म के जुडे त्यौहारों की बजाये ईसाई धर्म से जुड़े त्यौहार मनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने खुलासा किया कि उपरोक्त विद्यालय में धर्म परिवर्तन करवा कर होस्टल में रखे गये बच्चों को हिंदू रीति-रिवाजों को मानने वह त्योहारों को मनाने के लिए बच्चों को मना किया जाता है। राखी त्यौहार पर राखी पहने स्कूल पहुंचे विद्यार्थियों के हाथों से राखियां को ही उनके हाथों से उतरवाने का घ्रीनित कार्य किया गया। ब्राह्मण सभा के सचिव पंडित मोहनलाल और हरियाणा व्यापार मंडल के प्रदेश उपाध्यक्ष गुदरीप कामरा ने हिंदुओं से अपील की है कि वह ईसाई मिशनरियों द्वारा संचालित विद्यालयों में अपने अपने बच्चों को ना दाखिल करवाएं क्योंकि इनका एक ही उद्देश्य है आपके बच्चों में ईसाइयत पैदा करना । भारत विकास परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष सतपाल जग्गा ने बताया कि उनकी संस्था द्वारा प्रत्येक वर्ष पूरे भारत वर्ष में भारत को जानो और गायन प्रतियोगिता करवाई जाती है लेकिन सेंट जोसेफ स्कूल ने उनके संपर्क करने के बावजूद अपने स्कूल के विद्यार्थियों को एक बार भी इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए नहीं भेजा। इससे भारतीय संस्कृति की प्रति उनकी नफरत की मंशा जग जाहिर होती है। उन्होंने बताया कि उनकी संस्था अपने स्तर पर इस विद्यालय के शिक्षिर्थियों से संपर्क कर भारतीय संस्कृति के प्रचार और प्रसार के लिए प्रयासरत है। युवा गौ रक्षा समिति के अध्यक्ष राजेश जैन और डबवाली संघर्ष समिति के सदस्य राजीव वढेरा ने धर्म परिवर्तन के मामले पर चिंता व्यक्त करते हुए इसका पूरा विरोध करने और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की । जनवास्थ्य विभाग के सेवानिवृत एस डी ओ अमृतपाल गर्ग ने बताया कि इसाई मशीनरियों द्वारा शहर में भारतीय संस्कृति को दूषित करने के लिए पाश्चातय संस्कृति की फूहड़ता और नग्रता परोसी जा रही और युवाओं को संस्कृति से भटका कर पथभ्रष्ट करने कुच्रक रचे जा रहे है वह अपने आप में चिंतनीय है।
आर्य समाज के प्रमुख संतोष कुमार कुमार दूआ ने स्पष्ट किया कि शहर में चल रही हिंदु विरोधी गतिविधियों का कानूनी और सामाजिक तौर पर पुरजोर विरोध किया जायेगा। ऐसी मशीनरियों को देश की समरसता को नष्ट करने की इजाजत कतई नहीं दी जायेगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि संविधान के अनुसार सभी को अपना धर्म मानने की स्वतंत्रता है लेकिन लोभ और लालच में धर्म परिवर्तन करवाये जाने की इजाजत भी नहीं है और ऐसी गतिविधियों को सहन भी नहीं किया जायेगा। इस मौके पर धर्म रक्षा समिति के संयोजक राज कुमार बांसल ने बताया कि समिति का विस्तार कर ऐसी गतिविधियों पर अंकुश लगाये जाने की पूरी कार्ययोजना तैयार की जायेगी। इस मौके पर गौ रक्षक राम लाल बागड़ी, नरेश कुमार गर्ग, सुदर्शन मित्तल, मनोज सिंगला, रवि सेठी, जसवंत सिंह मोंगा, ओंमकार मल गोयल, अशोक सेतिया, रजनीश मोंगा, पंकज मिढा, गुरदीत दुरेजा अधिवक्ता, उग्रसेन, राहुल गर्ग, सतीश गर्ग काला, डा. आर के वर्मा, डा राज कपूर, अधिवक्ता राजेद्र गुप्ता, शाम लाल जिंदल, कृष्ण लाल, इकबाल सिंह, सौरभ गर्ग, विजय कुमार गर्ग, अरूण जिंदल, वेद प्रकाश मित्तल, इकबाल सिंह, जय राम वधवा मुरारी लाल शर्मा सहित उपस्थित थे।
चित्र ३१ डीबीएल 1 व 2 अग्रवाल धर्मशाला में हिंदु संगठनों की बैठक में उपस्थित विभिन्न संस्थानों के प्रतिनिधि।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज