BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शनिवार, जनवरी 05, 2019

किसानों के धरने पर पहुंचे डॉ. केवी सिंह दिया समर्थन

#dabwalinews
डबवाली।
उपमंडलाधीश कार्यालय के समक्ष लगातार 12 दिनों से किसानों द्वारा भाजपा सरकार के खिलाफ अपनी मांगों को लेकर दिए जा रहे धरने पर पहुंचकर मुख्यमंत्री हरियाणा के पूर्व ओएसडी डॉ. केवी सिंह ने अपने साथियों सहित पहुंचकर अपना समर्थन दिया। शनिवार को आम आदमी पार्टी के कुलवीर सिंह शांत व गुरप्रीत सिंह निवासी मंडी डबवाली, बलजिंद्र सिंह काला निवासी गांव सुखचैन, मंदर सिंह व गुरलाल सिंह निवासी गांव फुल्लो के किसान कर्मिक अनशन पर रहे। धरने का नेतृत्व कर रहे राष्ट्रीय किसान संगठन के प्रदेशाध्यक्ष जसवीर सिंह भाटी व अन्य किसान नेताओं द्वारा फूल मालाओं से इन सभी का अभिनंदन किया गया।
अपने संबोधन में डॉ. सिंह ने किसानों की सभी मांगो का समर्थन करते हुए कहा कि किसानों की सभी मांगें जायज हैं और सरकार को ये सभी मांगें जल्द से जल्द पूरी करनी चाहिएं। डॉ सिंह ने कहा कि भाजपा नेताओं ने भाजपा की सरकार बनने से पहले पहली कलम से स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने का वायदा किया था, लेकिन अब भाजपा सरकार का कार्यकाल पूरा होने को है फिर भी उन्होंने अपना वायदा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा की जिस तरह केंद्र सरकार उद्योग जगत के लिए जीडीपी के 5 प्रतिशत बजट का प्रावधान करती है, लेकिन किसानों के लिए जीडीपी के मात्र .3 प्रतिशत बजट का ही प्रावधान है। सरकार को चाहिए कि उद्योग जगत की तरह किसानों के लिए भी जीडीपी के 5 प्रतिशत बजट का प्रावधान किया जाए ताकि किसानों को भी जीडीपी ग्रोथ का फायदा मिल सके। डॉ. केवी सिंह ने कहा कि जिस तरह राजस्थान, मध्यप्रदेश औऱ छत्तीसगढ़ के किसानों का कांग्रेस सरकारों ने वहां के किसानों का कर्ज माफ किया है उसी तर्ज पर भाजपा सरकार हरियाणा के किसानों का भी कर्ज माफ करे ताकि कर्ज से दबे किसानों की स्थिति में सुधार हो। डॉ. सिंह ने आगे कहा कि किसानों के खाते से बीमा कि़स्त के पैसे ना काटकर सरकारी खजाने से किसानों का फसली बीमा करना चाहिए और क्लेम वितरण के नियमों में सुधार करना चाहिए ताकि प्राकृतिक आपदा से फसल का नुकसान होने पर प्रत्येक किसान को बीमे का फायदा मिल सके। इस अवसर पर धरनास्थल पर भारी संख्या में किसान उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज