BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शुक्रवार, फ़रवरी 22, 2019

बेटी का भविष्य संवारने व सुरक्षित बनाने के लिए सुकन्या समृद्घि खाता योजना एक वरदान,


- जमा राशि पर लगने वाला ब्याज पूर्णत: टैक्स मुक्त है तथा इसमें आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत छूट
सिरसा, 22 फरवरी।
सुकन्या समृद्घि खाता योजना बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान का ही एक हिस्सा है और यह बेटियों का भविष्य संवारने व सुरक्षित बनाने के लिए सरकार की एक अच्छी पहल है। सुकन्या समृद्घि खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में निशुल्क ट्रांसफर किया जा सकता है। जमा राशि पर लगने वाला ब्याज पूर्णत टैक्स फ्री है तथा इसमें आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट भी प्राप्त है।
देश में हर बेटी के लिए पैसा बचाना यानि बचत जरूरी है। इस विचार पर भरोसा जगाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने करीब 4 वर्ष पहले इस योजना का शुभारंभ 22 जनवरी 2015 को हरियाणा के ऐतिहासिक नगर पानीपत से बेटी बचाओ-बेटी पढाओं अभियान की शुरूआत की थी। सुकन्या योजना के तहत माता, पिता या कानूनी अभिभावक अधिकतम 2 लड़कियों के लिए यह खाता खुलवा सकते हैं। बालिका के जन्म से दस साल की आयु तक बेटियों का ही सुकन्या समृद्घि एकाऊंट खोला जा सकता है। पात्र लाभार्थी भारत का निवासी होना चाहिए। एकाऊंट लड़की के नाम से ही खोला जा सकता है। जमाकर्ता (अभिभावक ) माता, पिता में से एक होगा, जो नाबालिग लड़की की ओर से पैसा जमा करेगा। खाता मात्र 250 रूपए से खोला जा सकता है लेकिन साल में कम से कम 1 हजार रूपए हर खाते में जमा होने चाहिए, अधिक से अधिक डेढ लाख रूपए वर्ष में जमा किए जा सकते है। एक वित्त वर्ष में कितनी बार पैसे जमा किए जाएं, इस पर कोई पाबंदी नहीं है। पैसे नकद, चैक या ड्राफट के जरिए जमा किए जा सकते है।
इस अल्प बचत योजना पर सरकार द्वारा दी जाने वाली ब्याज की दर सबसे अधिक है। इस योजना में चालू वित्तिय वर्ष के लिए ब्याज की दर 8.5 रखी गई है जो सरकार के निर्णय अनुसार बढ़ाई भी जा सकती है। ब्याज की गणना सालाना होगी। अभिभावक इस एकाऊंट में 14 साल तक ही पैसे जमा करवा सकते हैं। सुकन्या समृद्घि खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में निशुल्क ट्रांसफर किया जा सकता है। जमा राशि पर लगने वाला ब्याज पूर्णत: टैक्स फ्री है तथा इसमे  आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट भी प्राप्त है। बेटी की उच्चतर शिक्षा के लिए तथा विवाह के समय जमा राशि में से आधा हिस्सा निकलवाया जा सकता है। यह खाता इसके खोले जाने की तिथि से लेकर लडकी की आयु 21 वर्ष होने तक तथा उसके विवाह के बाद भी बंद किया जा सकेगा। 
महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. दर्शना सिंह के अनुसार इस योजना के अंतर्गत जिला सिरसा में अब तक जिला में स्थापित आंगनवाडिय़ों के माध्यम से 6254 बेटियों के खाते खोले जा चुके हैं। खाता खुलवाने के लिए बेटी के जन्म का प्रमाण पत्र, अभिभावक के पते का प्रमाण तथा फोटो पहचान पत्र (पैन कार्ड, वोटर आईडी या आधार कार्ड) की जरूरत पड़ती है। यह खाता पोस्ट ऑफिस या अधिकृत बैंकों में खुलवाया जा सकता है। बेटियों के सुरक्षित व सुखद भविष्य के लिए अधिक से अधिक सुकन्या समृद्घि खाते खुलवाएं। 
इसी प्रकार आपकी बेटी - हमारी बेटी योजना के तहत जिला में 8454 लाभपात्रों को कवर किया जा चुका है। इस योजना के तहत अनुसूचित जाति तथा गरीब परिवारों को पहली बेटी के जन्म पर 21 हजार रुपये तथा सभी परिवारों को दूसरी एवं तीसरी बेटी के जन्म पर 21 हजार रुपये की राशि जन्म के एक वर्ष के अंदर बच्ची के नाम भारतीय जीवन बीमा निगम में एक मुश्त जमा करवाई जाती है। बालिका को 18 वर्ष की आयु पूर्ण / अविवाहित होने पर लगभग एक लाख रुपये उसके उपयोग के लिए दी जाएगी। 
विभाग द्वारा महिला सशक्तिकरण को बढावा देने के लिए ब्लॉक स्तर के बाद जिला स्तर पर महिला खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर आने वाली विजेता महिला प्रतिभागियों को क्रमश: 4100 रुपये, 3100 रुपये व 2100 रुपये की पुरस्कार राशि दी जाती है। इसके बाद प्रदेश स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली विजेता महिला प्रतिभागियों को खेलों में क्रमश: 11 हजार रुपये, 8100 रुपये व 4100 रुपये की पुरस्कार राशि प्रदान की जाती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज